Mahabhringraj Oil की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन भृंगराज + मंजिष्ठा + लोध्रा + चंदना + बला + रजनी + गैरिका + दारू हरिद्रा + प्रियंगु + यष्टिमधु + प्रपौंडरिका + गोपी
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Mahabhringraj Oil

महाभृंगराज तेल के फायदे, नुकसान, प्रयोग विधि, सावधानी

परिचय

महाभृंगराज तेल क्या है? – What is Mahabhringraj Oil in Hindi

महाभृंगराज तेल को आयुर्वेद चिकित्सा में केशराज कहा जाता है, मतलब “बालों का राजा“।

यह सूर्यमुखी परिवार से संबंधित होता है, जो बालों से जुड़ी समग्र परेशानियों के लिए एक आयुर्वेदिक उपचार है।

इस तेल के बेहतरीन फायदों का पूरा लाभ उठाने के लिए इसे रात को बालों पर लगाकर इससे मालिश करने की आवश्यकता है।

इस तेल की नियमित मालिश करने से खोपड़ी की त्वचा में रक्त का बहाव तेज हो जाता है, जिससे बालों के रोमकूप सक्रिय हो जाते है और बालों को पोषण मिलता है।

आज के प्रदूषण और खराब रहन-सहन का प्रभाव सबसे ज्यादा बालों को भुगतना पड़ता है।

ऐसे में, बालों की लंबी उम्र और सौंदर्य निखार के लिए महाभृंगराज तेल को दैनिक आवश्यकता की सामग्रियों का हिस्सा बनाया जा सकता है।

इस तेल की शक्ति से बालों का झड़ना, असमय बालों का सफेद होना, रूसी, फुंसियां, त्वचा संक्रमण, डेंड्रफ, सिरदर्द, तनाव, गंजापन, पपड़ीदार त्वचा, पतले बाल, दो-मुँहे बाल, बालों में पोषण की कमी, अनिद्रा, आँखों के दर्द आदि सभी मुद्दों का इलाज किया जा सकता है। 

Baidyanath Mahabhringraj Tel का बड़ा निर्माता है।

पढ़िये: पतंजलि दिव्य मधुकल्प वटी | BT-36 Capsule in Hindi 

संयोजन

महाभृंगराज तेल की संरचना – Mahabhringraj Oil Composition in Hindi

निम्न घटक महाभृंगराज तेल में होते है।

भृंगराज + मंजिष्ठा + लोध्रा + चंदना + बला + रजनी + गैरिका + दारूहरिद्रा + प्रियंगु + यष्टिमधु + प्रपौंडरिका + गोपी

महाभृंगराज तेल कैसे काम करता है?

  • महाभृंगराज तेल स्कैल्प में रक्त की उपस्थिति को बढ़ाकर बालों के विकास का कार्य कर सकता है। यह तेल केराटिन की गतिशीलता को बढ़ाने में मदद कर सकता है, जो बालों, नाखूनों और त्वचा के निर्माण में सहायक होता है। महाभृंगराज तेल में शामिल अवयवों की कार्यशैली का विवरण उनके प्राकृतिक गुणों के बलबूते पर किया जा सकता है।
  • भृंगराज एक तेल का सबसे मुख्य घटक है। भृंगराज वात, पित्त और कफ दोनों दोषों को शांत कर बाल गिरने की समस्या को रोक सकता है। भृंगराज में एंटीइंफ्लेमेट्री गुण होते है, जिसके कारण यह स्कैल्प में खाज, डैंड्रफ और जलन को कम कर सकता है।
  • यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो बालों के अच्छे विकास को प्रोत्साहित कर बालों को चमक, रंगत, सुंदर, मोटा, लंबा, मुलायम, काला और घना बना सकता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर श्वेत रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद कर सकती है, जिससे चर्म संक्रमणों से बचा जा सकता है। इसमें मौजूद मेथनॉल गंजेपन को दूर करने में मददगार हो सकता है।
  • मंजिष्ठा को हेयर डाई की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इसमें बालों को काला करने का गुण होता है। इसमें मौजूद पुरपुरिन और मुंजिस्टिन कलरिंग एजेंट के रूप में कार्य करते है। मंजिष्ठा त्वचा पर जमने वाली गंदगी को साफ कर मुँहासों और फुंसियों का उपचार कर सकता है।
  • बला शरीर से विषाक्त पदार्थों को हटाकर ऑक्सीडेटिव क्षति की संभावना को कम कर सकता है। यह दुखती हुई आँखों को दर्द से आराम दे सकता है।
  • दारूहरिद्रा फंगल इंफेक्शन के खिलाफ सख्त प्रभावी हो सकता है। इसमें पोषण तत्वों और खनिज पदार्थों की उच्च मात्रा होने के कारण यह बालों के लिए पोषण पूरक के रूप में मददगार हो सकता है।

पढ़िये: साफी सिरप | Addyzoa Capsule in Hindi

फायदे

महाभृंगराज तेल के उपयोग व फायदे – Mahabhringraj Oil Uses & Benefits in Hindi

महाभृंगराज तेल को निम्न अवस्था व विकार में सलाह किया जाता है-

  • बालों का टूटना
  • बालों का झड़ना
  • बालों का सफेद होना
  • बालों का रूखापन
  • डैंड्रफ
  • सिर दर्द
  • फंगल इंफेक्शन
  • फुंसियां
  • मुँहासे
  • तनाव
  • गंजापन
  • पतले बाल
  • दो-मुँहे बाल
  • अनिद्रा
  • आँखों का दर्द
  • बालों में पोषण की कमी
  • शुष्क स्कैल्प

दुष्प्रभाव

महाभृंगराज तेल के दुष्प्रभाव – Mahabhringraj Oil Side Effects in Hindi

इसकी अति या दुरुपयोग से कुछ सामान्य दुष्प्रभाव हो सकते है-

  • छींके आना
  • नाक में जलन
  • गले में जलन
  • चेहरे पर बर्निंग सेंसेशन

पढ़िये: कनकासव सिरप Himalaya Himplasia Tablet in Hindi 

प्रयोग विधि

महाभृंगराज तेल की प्रयोग विधि – How to Use Mahabhringraj Oil in Hindi

उत्पाद प्रयोग विधि
use in hindi
Mahabhringraj Oil
  • लेने का तरीक़ा: बालों की जड़ों में
  • कितना लें: आवश्यकतानुसार
  • कब लें: सुबह या शाम
  • उपचार अवधि: विशेषज्ञ की सलाह अनुसार

महाभृंगराज तेल को केवल बाहरी इस्तेमाल हेतु प्रयोग में लिया जाना चाहिए।

महाभृंगराज तेल को रात में सोने से पहले बालों पर लगाकर हल्के हाथों से 5 से 10 मिनट तक मालिश करें।

इस तेल को उंगलियों से लगाएं, जिससे यह बालों की जड़ो तक जाता है।

महाभृंगराज तेल से मालिश करने से पहले अपने हाथों को जरूर धो लें।

इस तेल से मालिश के बाद प्रभावित क्षेत्र को रात भर खुला छोड़ दें और सुबह पानी या किसी हर्बल शेम्पू से बालों को धो लें।

महाभृंगराज तेल को हफ्ते में 3 से 4 बार इस्तेमाल करने पर यकीनन एक अच्छा परिणाम मिल सकता है।

लक्षणों की गंभीरता में इसे हफ्ते के सातों दिन इस्तेमाल किया जा सकता है।

सावधानी

भोजन

भिन्न खाद्य सामग्री के साथ महाभृंगराज तेल की प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ महाभृंगराज तेल की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, महाभृंगराज तेल का इस्तेमाल करना आदत नहीं बनता है।

गर्भावस्था

इस विषय में पूरी जानकारी का अभाव होने के कारण अपने चिकित्सक की सलाह पर कार्य करें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर, महाभृंगराज तेल के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है।

ड्राइविंग

महाभृंगराज तेल के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

पढ़िये: सुडौल जेल Chandanasava in Hindi

कीमत

महाभृंगराज तेल को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

सवाल-जवाब

क्या महाभृंगराज तेल एक रासायनिक उत्पाद है?

नहीं, यह तेल रासायनिक नहीं है। इस तेल को बनाने में सिर्फ हर्बल घटकों की जरूरत होती है।

क्या महाभृंगराज तेल से पूरे शरीर की मालिश की जा सकती है?

यह तेल त्वचा में समा कर त्वचा पर एक रक्षा कवच तैयार कर सकता है, जिससे धूल-मिट्टी या अन्य कोई विषैले तत्व कूपरोमों से होते हुए शरीर में प्रवेश न कर सकें। इसलिए इस तेल से पूरे शरीर पर मालिश करना फायदेमंद हो सकता है।

क्या महाभृंगराज तेल मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकता है?

नहीं, इस तेल से मासिक धर्म चक्र पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

महाभृंगराज तेल को कितने समय तक इस्तेमाल करने की आवश्यकता हो सकती है?

इस तेल के उपचार अवधि की कोई तय समय सीमा नहीं है। महाभृंगराज तेल का एक पैक खत्म होने के बाद अगला पैक चिकित्सक की सलाह से शुरू किया जाना उचित साबित होता है।

क्या महाभृंगराज तेल खुले घावों पर इस्तेमाल किया जा सकता है?

इस तेल को खुले घावों पर इस्तेमाल करने से बर्निंग सेंसेशन हो सकता है। इस विषय में किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक का परामर्श अवश्य लें।

क्या महाभृंगराज तेल भारत में लीगल है?

हाँ, यह हर्बल तेल भारत में पूर्णतया लीगल है। इसे आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीदा जा सकता है।

पढ़िये: अरविन्दासव के फायदे | Tankan Bhasma in Hindi 

Leave a Comment

Your email address will not be published.