Kanakasava Syrup की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन धतूरा + मुलेठी + सौंठ + पिपली (Long Pepper) + नागकेसर + धातकी के पुष्प + भारंगी + तालिसपत्र + शहद + शर्करा (चीनी) + मुनक्का
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Kanakasava Syrup

कनकासव सिरप के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Kanakasava Syrup in Hindi

परिचय

कनकासव सिरप क्या है? – What is Kanakasava Syrup in Hindi

कनकासव सिरप एक हर्बल, मौखिक तौर पर सेवन करने वाला तरल पेय उत्पाद है, जिसका उपयोग श्वास नलिका से जुड़े विकारों जैसे दम्मा, खाँसी, बुखार इत्यादि स्तिथियों में होता है।

श्वास संबंधी विकारों के अलावा ब्रोंकाइटिस, फेफड़े का संक्रमण , रक्तस्राव जैसे समस्याओं में भी कनकासव सिरप से राहत मिलने की बात दर्ज की गई है।

बाज़ार में काफ़ी कंपनियों के द्वारा कनकासव सिरप उत्पाद बनाया और बेचा जाता है।

सबकी गुणवक्ता औसतः बराबर रहती है, आप अपने बजट और जानकार के परामर्श अनुसार किसी भी ब्रांड का कनकासव सिरप चुन सकते हैं।

यह एक OTC उत्पाद है, जिसे खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची नहीं चाहिए।

कुछ निम्नलिखित कंपनियां जो कनकासव सिरप निर्मित करती है।

  • Dabur
  • Baidyanath
  • Sandu
  • Dhootapapeshwar
  • Arya Vaidya Sala

पढ़िये: हिमालया हिम्प्लासिया टैबलेट | Sudol Gel in Hindi 

संयोजन

कनकासव सिरप की संरचना – Kanakasava Syrup Composition in Hindi

निम्न घटक कनकासव सिरप में होते है।

धतूरा + मुलेठी + सौंठ + पिपली (Long Pepper) + नागकेसर + धातकी के पुष्प + भारंगी + तालिसपत्र + शहद + शर्करा (चीनी) + मुनक्का

कनकासव सिरप कैसे काम करती है?

  • कनकासव सिरप शक्तिशाली Bronchodilator (श्वासनलिका “Bronchi” को फैलाने या चौड़ा करनेवाला पदार्थ) और एंटी-इन्फ़्लेमेटरी (सूजन को कम करनेवाले पदार्थ ) उत्पाद है। इसके इन गुणों के कारण, यह फेफड़ों में वायु प्रवाह बढ़ाकर और ब्रोन्कियल मार्गों को फैलाकर अस्थमा के दौरे में राहत प्रदान करता है।
  • इसमें उपर्युक्त गुणों के कारण, ये Bronchitis, Rhinitis, Phthisis, और फेफड़े के चोट जैसे स्तिथियों में भी कारगर है।
  • कनकासव सिरप में 5-10% पानी और एल्कोहोल होता हैं, जो पानी और शराब में घुलनशील तत्वों को पूरे शरीर में पहुँचाते हैं।
  • कनकासव सिरप के घटकों के कारण, इसमें दर्दनाशक, बुखार कम करने वाला और शरीर के तापमान घटाने वाला गुण होता है। जिसके कारण कनकासव सिरप भिन्न बुखार में असरदार साबित होता है।
  • इस सिरप में एंटी माइक्रोबियल और एंटीसेप्टिक गुण भी होते है। जिसके कारण कनकासव सिरप संक्रमण, एलर्जी में भी मददगार है।

पढ़िये: चंदनासव के फायदे | Arvindasava in Hindi

फायदे

कनकासव सिरप के उपयोग व फायदे – Kanakasava Syrup Uses & Benefits in Hindi

कनकासव सिरप को निम्न अवस्था व विकार में सलाह किया जाता है।

  • दमा
  • बुखार
  • फेफड़े के संक्रमण
  • एलर्जी
  • सामान्य संक्रमण
  • Bronchitis
  • Phthisis
  • Rhinitis
  • Biliary Colic
  • Renal Colic

दुष्प्रभाव

कनकासव सिरप के दुष्प्रभाव – Kanakasava Syrup Side Effects in Hindi

इसकी अति या दुरुपयोग से कुछ सामान्य दुष्प्रभाव हो सकते है-

  • उल्टी आना
  • सरदर्द
  • जी मचलाना

पढ़िये: टंकण भस्म के फायदे | Himalaya Septilin Tablet in Hindi 

खुराक

कनकासव सिरप की खुराक – Kanakasava Syrup Dosage in Hindi

कनकासव सिरप का सेवन हमेशा डॉक्टर या विशेषज्ञ से निजी सलाह लेने के बाद ही करना चाहिए।

आमतौर पर, कनकासव सिरप की ज्यादातर मामलों में सुझाव की जाने वाली खुराक कुछ इस प्रकार है-

उत्पाद खुराक
use in hindi
Kanakasava Syrup
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 2 छोटी चम्मच
  • कब लें: सुबह और शाम
  • खाने से पहले या बाद: कभी भी
  • उपचार अवधि: 3 महीने

कुछ गंभीर स्थिथि में खुराक अधिकतम 4 बार तक ली जा सकती है।

एक खुराक छूट जाये, तो निर्धारित कनकासव सिरप का सेवन जल्द करें। अगली खुराक कनकासव सिरप की निकट हो, तो छूटी खुराक ना लें।

सावधानी

निम्न सावधानियों के बारे में कनकासव सिरप के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

भोजन

कनकासव सिरप की भोजन के साथ प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ Meda की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

अन्य विटामिन सप्लीमेंट के साथ कनकासव सिरप का सेवन ना करें।

लत लगना

नहीं, कनकासव सिरप की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और कनकासव सिरप की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए कनकासव सिरप का सेवन शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

इस विषय में कनकासव सिरप का उपयोग अपने डॉक्टर की सलाह से करें।

ड्राइविंग

कनकासव सिरप के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

अन्य बीमारी

Glaucoma, तीव्र हृदय गति, एलर्जी और अतिसंवेदनशीलता के मामलों में कनकासव सिरप का उपयोग डॉक्टर की सलाह अनुसार करें।

पढ़िये: इरोटिकन कैप्सूल | Mustang Capsule in Hindi

कीमत

कनकासव सिरप को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

सवाल-जवाब

कनकासव सिरप किस वर्ग के दवाइयों का उत्पाद है?

कनकासव सिरप आयुर्वेदिक उत्पाद है और इसे भिन्न कंपनी के द्वारा बनाया और बेचा जाता है।

क्या बच्चे कनकासव सिरप का उपयोग कर सकते हैं?

5 साल से ज्यादा उम्र के बच्चे इसका उपयोग चिकित्सक के परामर्श में कर सकते है। 5 साल से कम उम्र के बच्चो को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

क्या Tachycardia जैसी स्तिथि में कनकासव सिरप का प्रयोग किया जा सकता है?

नहीं, इस अवस्था में चिकित्सक की निगरानी में रहकर ही कुछ फैसला करना चाहिए।

क्या मधुमेह वाले मरीज़ कनकासव सिरप का उपयोग कर सकते है?

मधुमेह जैसी स्थिति में चिकित्सक के सलाह या सुझाव से ही कनकासव सिरप का उपयोग करना चाहिए।

क्या कनकासव सिरप नींद उत्प्रेरक होता है?

हाँ, कनकासव सिरप प्रयोग के बाद आपको नींद आ सकती है।

क्या कनकासव सिरप पित्त दोष वाले व्यक्तियों के लिए उचित रहेगा?

नहीं, कनकासव सिरप कफ दोष वाले व्यक्तियों पर ज्यादा कारगर है। पित्त दोष वाले लोगों पर इसके नकारात्मक प्रभाव जैसे जी मचलाना, सरदर्द इत्यादि देखने को मिल सकते हैं।

क्या कनकासव सिरप भारत में लीगल है?

हाँ, कनकासव सिरप भारत में पूर्णतया लीगल है।

पढ़िये: बायोस्लिम टैबलेट | Himalaya Abana Tablet in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.