Safi Syrup की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन गिलोय + ब्राह्मी + चंदन + घी + तुलसी + नीम + कासनी + बबूल + सनाय + गोराकमुंडी + अगारू + शोरा देसी + चोपचीनी + चिरायता
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Safi Syrup

साफी सिरप के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Safi Syrup in Hindi

परिचय

साफी सिरप क्या है? – What is Safi Syrup in Hindi

साफी सिरप को यूनानी सूत्र की संज्ञा दी जाती है, जिसे आयुर्वेदिक घटकों के उचित अनुपात से निर्मित किया जाता है।

यह सिरप स्वाद में कड़वी जरूर होती है, लेकिन इसके जादुई लाभों के कारण यह लोगों में काफी प्रचलित भी है।

साफी सिरप का कार्य शरीर से विषैले पदार्थों को साफ कर चर्म रोगों का इलाज करना है।

यह सिरप रक्त की अशुद्धियों को मिटाकर शारीरिक सौंदर्य और पाचन शक्ति को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकती है।

साफी सिरप में कत्रिम रसायनों की अनुपस्थिति होती है, जिसके कारण इसे दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाया जा सकता है।

साफी सिरप में नशे की प्रवृत्ति नहीं होती है, इसलिए इसकी खरीदारी करने के लिए किसी डॉक्टरी पर्चे की आवश्यकता नहीं होती है।

साफी सिरप से झुर्रियां, एलर्जी, मुँहासे, काले दाग-धब्बे, फोड़े-फुंसियां, खुजली, मोटापा, कब्ज, भूख न लगना, पित्त, इंफेक्शन की सूजन आदि सभी शिकायतों का उपचार संभव हो सकता है।

पढ़िये: एडीज़ोय कैप्सूल | Kanakasava Syrup in Hindi

संयोजन

साफी सिरप की संरचना – Composition in Hindi

निम्न घटक साफी सिरप में होते है।

गिलोय + ब्राह्मी + चंदन + घी + तुलसी + नीम + कासनी + बबूल + सनाय + गोराकमुंडी + अगारू + शोरा देसी + चोपचीनी + चिरायता

साफी सिरप कैसे काम करती है?

  • गिलोय इम्यून सिस्टम को बूस्ट कर कई खतरनाक बीमारियों से स्वास्थ्य की रक्षा करने में मददगार हो सकता है। गिलोय का उपयोग एनीमिया और गैस्ट्रिक समस्याओं के लिए प्रभावी हो सकता है।
  • ब्राह्मी आंतरिक उत्तेजना को कम कर सूजन के लक्षणों से राहत प्रदान कर सकता है। ब्राह्मी के एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा से जुड़ी सभी परेशानियों को ठीक करने का कार्य करते है।
  • तुलसी चेहरे के दाग-धब्बों को साफ कर चेहरे के ग्लो को बढ़ा सकती है। यह दाद और खुजली से हुए घावों को भर रक्त शोधन का कार्य करती है, जिससे पुरानी खुजली का इलाज संभव हो सकता है।
  • नीम शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों का नाश के लिए एक बेमिसाल एजेंट है। यह एलर्जी के मामलों में शीघ्र लाभकारी है। यह हानिकारक बैक्टीरिया की विकास दर को बाधित कर शरीर में ऊर्जा का संचय बनाएं रखती है।
  • सनाय कब्ज और पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने में कारगर हो सकता है। यह पोटेशियम का स्तर कम कर चर्बी को गलाने का कार्य करता है, जिससे मोटापा कम हो सकें।
  • चोपचीनी के उपयोग से भूख की कमी को दूर किया जा सकता है। यह भोजन के पाचन को प्रेरित कर पाचन तंत्र को मजबूत कर सकता है। यह खून और वीर्य से जुड़े अस्पष्ट मामलों के उपचार में मददगार हो सकता है।
  • चिरायता चयापचय क्रिया में सुधार कर पाचन को सुदृढ़ करने में लाभदायक हो सकती है। इसे शारीरिक कमजोरी को दूर करने हेतु इस दवा में शामिल किया जाता है।

पढ़िये: हिमालया हिम्प्लासिया टैबलेट | Sudol Gel in Hindi 

फायदे

साफी सिरप के उपयोग व फायदे – Safi Syrup Uses & Benefits in Hindi

साफी सिरप को निम्न अवस्था व विकार सलाह किया जाता है-

  • रक्त में अशुद्धियां
  • कब्ज
  • कमजोर पाचन शक्ति
  • मोटापा
  • भूख न लगना
  • एलर्जी
  • खुजली
  • झुर्रियां
  • कील-मुँहासे
  • फोड़े-फुंसियां
  • गैस और एसिडिटी
  • अनिद्रा
  • पित्त की समस्या
  • सूजन
  • डार्क सर्कल

दुष्प्रभाव

साफी सिरप के दुष्प्रभाव – Safi Syrup Side Effects in Hindi

इसकी अति या दुरुपयोग से कुछ सामान्य दुष्प्रभाव हो सकते है-

  • उल्टी
  • मतली
  • दस्त
  • त्वचा पर जलन

पढ़िये: चंदनासव के फायदे | Arvindasava in Hindi

खुराक

साफी सिरप की खुराक – Safi Syrup Dosage in Hindi

आमतौर पर, साफी सिरप की ज्यादातर मामलों में सुझाव की जाने वाली खुराक कुछ इस प्रकार है-

उत्पाद खुराक
use in hindi
Safi Syrup
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 2 छोटी चम्मच
  • कब लें: दिन में एक बार
  • खाने से पहले या बाद: कभी भी
  • लेने का माध्यम: गुनगुने पानी के साथ
  • उपचार अवधि: 3 महीने

साफी सिरप के कड़वे स्वाद से बच्चों को उल्टी जैसा हो सकता है, इसलिए खुराक लेने के तुरंत बाद बच्चों को चुटकी भर मीठा खिला सकते है।

14 वर्ष से अधिक आयु के बच्चों में, इस सिरप की प्रतिदिन 5 मिलीलीटर खुराक का उपयोग किया जा सकता है।

साफी सिरप की खुराक का निर्देशित अवधि तक पूरा इस्तेमाल करें। इस दवा की खुराक में बदलाव करने के लिए चिकित्सक की सहायता अवश्य लें।

साफी सिरप को खरीदते समय इस पैक को एक्सपायरी होने में कम से कम एक वर्ष का समय बचा हो, इस बात का ध्यान अवश्य रखें। एक्सपायरी या मिलावटी सिरप के इस्तेमाल से बचें।

एक खुराक छूट जाये, तो निर्धारित साफी सिरप का सेवन जल्द करें। अगली खुराक साफी सिरप की निकट हो, तो छूटी खुराक ना लें।

सावधानी

निम्न सावधानियों के बारे में साफी सिरप के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

भोजन

साफी सिरप की भोजन के साथ प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ साफी सिरप की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, साफी सिरप की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और साफी सिरप की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

गर्भवती महिलाओं पर इस सिरप के व्यवहार की जानकारी का अभाव होने से अपने चिकित्सक की राय को पहली प्राथमिकता दें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अपने चिकित्सक की सलाह के अनुरूप इस सिरप का इस्तेमाल ज्यादा उचित साबित होता है।

ड्राइविंग

साफी सिरप के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

पढ़िये: टंकण भस्म के फायदे | Himalaya Septilin Tablet in Hindi 

कीमत

साफी सिरप को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

सवाल-जवाब

क्या साफी सिरप पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने में सहायक है?

इस सिरप को विशेषकर पोषक तत्वों की कमी को दूर करने हेतु इस्तेमाल करने से पहले चिकित्सक का परामर्श अवश्य लिया जाना चाहिए।

क्या साफी सिरप मुँह के स्वाद को बिगाड़ सकती है?

इससे ज्यादा देर के लिए मुँह के स्वाद में कोई बदलाव नहीं रहता है, यदि किसी कारणवश मुँह में खारापन बना रहता है तो इस विषय में अपने चिकित्सक से मिलने की आवश्यकता है।

क्या साफी सिरप मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकती है?

इस दवा में मौजूद घटक मासिक धर्म चक्र की सभी गतिविधियों के लिए सुरक्षित माने जा सकते है।

क्या साफी सिरप भारत में लीगल है?

हाँ, यह हर्बल सिरप भारत में पूर्णतया लीगल है।

पढ़िये: इरोटिकन कैप्सूल | Mustang Capsule in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.