निर्माता

Himalaya Drug Company

कीमत

Rs 185 (60 Tablet)

Himalaya Diabecon DS Tablet की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन मेशाश्रृंगी + गुग्गुल + मुलेठी + शतावरी + पुनर्नवा + गुडुची + घृतकुमारी + दारुहल्दी + जामुन + पिटासरा + शिलाजीत + विजयसार + गुड़मार
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Himalaya Diabecon DS Tablet

Himalaya Diabecon DS Tablet के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी

परिचय

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट क्या है? – What is Himalaya Diabecon DS Tablet in Hindi

डायबकॉन डीएस टैबलेट को मधुमेह के मामलों में इस्तेमाल किया जाता है।

इसे मधुमेह के शुरुआती चरणों में लेने से मधुमेह को नियंत्रित कर इसे खत्म किया जा सकता है।

यह लिपिड और चयापचय में सुधार करने वाली एक आयुर्वेदिक टैबलेट है।

इसमें पाया जाने वाला इंसुलिनोट्रोपिक गुण, इंसुलिन उत्पादन करने वाली बीटा कोशिकाओं को उत्तेजित करने का कार्य करता है।

यह टैबलेट शुगर, उच्च इंसुलिन प्रतिरोध, टाइप-1 और टाइप-2 डायबिटीज, कमजोर याददाश्त, मोटापा आदि के इलाज में मददगार हो सकती है।

इसे Himalaya Drug Company द्वारा बनाया जाता है। इसकी एक बोतल की कीमत 175 रुपये है, जिसमें 60 टैबलेट होती है।

पढ़िये: हिमालया लिव 52 डीएस टैबलेट | IME 9 Tablet in Hindi

संयोजन

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट की संरचना – Himalaya Diabecon DS Tablet Composition in Hindi

निम्न घटक हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट में होते है।

मेशाश्रृंगी + गुग्गुल + मुलेठी + शतावरी + पुनर्नवा + गुडुची + घृतकुमारी + दारुहल्दी + जामुन + पिटासरा + शिलाजीत + विजयसार + गुड़मार

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट कैसे काम करती है?

  • यह टैबलेट रक्त में ग्लूकोज को बढ़ी मात्रा को कम कर उसे नियंत्रित करने का कार्य करती है। इस वजह से यह डायबिटीज में उपयोगी साबित होती है।
  • यह टैबलेट कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय के जोखिमों को कम करने में सहायक है। अत्यधिक कोलेस्ट्रोल से मोटापे की समस्या हो सकती है, जिसे इस टैबलेट द्वारा काबू में किया जा सकता है।
  • इस टैबलेट के प्रयोग से इंसुलिन निकलने में आ रही कठिनाई को दूर किया जा सकता है। मधुमेह के लक्षणों को कम करने के लिए इंसुलिन के प्रतिरोध को कम कर इंसुलिन के स्राव को बढ़ाया जाना आवश्यक होता है।
  • इसमें हाइपोग्लाइसिमिक और प्रतिरक्षा को मजबूत करने वाले गुण भी शामिल होते है।

पढ़िये: कायम टैबलेट | Zandu Striveda Powder in Hindi

फायदे

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट के उपयोग व फायदे – Himalaya Diabecon DS Tablet Uses & Benefits in Hindi

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट को निम्न अवस्था या विकार में सलाह किया जाता है-

  • टाइप-1 और टाइप-2 डायबिटीज
  • शुगर
  • उच्च इंसुलिन प्रतिरोध
  • मोटापा
  • बार-बार भूलने की बीमारी
  • वजन बढ़ना
  • मोटापा

दुष्प्रभाव

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट के दुष्प्रभाव – Himalaya Diabecon DS Tablet Side Effects in Hindi

इसकी अति या दुरुपयोग से कुछ सामान्य दुष्प्रभाव हो सकते है-

  • दस्त
  • दुर्बलता
  • ज्यादा पसीना निकलना

पढ़िये: एमिल बीजीआर-34 टैबलेट | Peedanil Gold Tablet in Hindi 

खुराक

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट की खुराक – Himalaya Diabecon DS Tablet Dosage in Hindi

आमतौर पर, डायबकॉन डीएस टैबलेट की ज्यादातर मामलों में सुझाव की जाने वाली खुराक कुछ इस प्रकार है-

उत्पाद खुराक
use in hindi
Himalaya Diabecon DS Tablet
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 1 या 2 टैबलेट
  • कब लें: सुबह और शाम
  • खाने से पहले या बाद: खाने से पहले
  • लेने का माध्यम: गुनगुने पानी के साथ
  • उपचार अवधि: डॉक्टर की सलाह अनुसार

इसे लेने से पहले पैक की एक्सपायरी चैक कर लें तथा इसकी अति या दुरुपयोग से बचें।

इस टैबलेट को बिना तोड़ें, चबाएं या कुचले गुनगुने पानी के साथ निगल लेना चाहिए।

एक खुराक छूट जाये, तो निर्धारित डायबकॉन डीएस टैबलेट का उपयोग जल्द करें। अगली खुराक डायबकॉन डीएस टैबलेट की निकट हो, तो छूटी खुराक ना लें।

ओवरडोज़ से डायबकॉन डीएस टैबलेट से दुष्प्रभाव ज्यादा हो सकते है। भारी साइड इफेक्ट डायबकॉन डीएस टैबलेट से हो, तो डॉक्टर से मदद लें।

सावधानी

निम्न सावधानियों के बारे में हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

भोजन

डायबकॉन डीएस टैबलेट की भोजन के साथ प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ डायबकॉन डीएस टैबलेट की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, डायबकॉन डीएस टैबलेट की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और डायबकॉन डीएस टैबलेट की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए डायबकॉन डीएस टैबलेट का सेवन शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाएं इसको लेने से पहले डॉक्टर से इस टैबलेट के प्रभावों के बारें में जरूर पूछें।

ड्राइविंग

डायबकॉन डीएस टैबलेट के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

पढ़िये: इसबगोल पाउडर | Ajmodadi Churna in Hindi

कीमत

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

सवाल-जवाब

क्या हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट को खरीदने के लिए डॉक्टरी पर्चे की आवश्यकता होती है?

नहीं, इस टैबलेट के पैक को खरीदने के लिए डॉक्टरी पर्चे की आवश्यकता नहीं होती है।

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट से उपचार की अवधि कितनी हो सकती है?

इस टैबलेट से उपचार की लंबी चल सकती है क्योंकि यह मधुमेह जैसी दीर्घकालिक बीमारी के लिए चुनी जाती है। इस विषय में डॉक्टर के दिशा-निर्देशों का पालन अवश्य करें।

क्या हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करती है?

नहीं, यह टैबलेट प्राकृतिक चक्र को प्रभावित नहीं करती है। मासिक धर्म चक्र पर इस टैबलेट का बुरा असर नहीं होता है।

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट की दो लगातार खुराकों के बीच कितना समय अंतराल रखें?

इस टैबलेट की दो लगातार खुराकों के बीच कम से कम 5 से 6 घंटों का समय अंतराल देना चाहिए, ताकि टैबलेट का ओवरडोज़ की वजह से कोई दुष्प्रभाव न हो।

क्या हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट भारत में लीगल है?

हाँ, यह टैबलेट भारत में पूर्णतया लीगल है।

पढ़िये: हिमालया मेंटेट टैबलेट | Shankh Bhasma in Hindi 

1 thought on “Himalaya Diabecon DS Tablet के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी”

  1. सुशील कुमार

    क्या किसी ऐलोपैथिक शुगर टेबलेट के साथ साथ इसको लिया जा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *