close button
Mahabhringraj Oil

महाभृंगराज तेल के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी, उपयोग विधि | Mahabhringraj Oil in Hindi

नाम (Name)Mahabhringraj Oil
संरचना (Composition)भृंगराज + मंजिष्ठा + लोध्रा + चंदना + बला + रजनी + गैरिका + दारू हरिद्रा + प्रियंगु + यष्टिमधु + प्रपौंडरिका + गोपी
दवा-प्रकार (Type of Drug)आयुर्वेदिक उत्पाद
उपयोग (Uses)बालों का टूटना, झड़ना, सफेद होना, रूखापन, डैंड्रफ, सिर दर्द, इंफेक्शन आदि
दुष्प्रभाव (Side Effects)छींके आना, नाक में जलन, गले में जलन आदि
ख़ुराक (Dosage)जरूरत अनुसार
किसी अवस्था पर प्रभावअज्ञात
खाद्य पदार्थ से प्रतिक्रियाअज्ञात

महाभृंगराज तेल क्या है? – What is Mahabhringraj Oil in Hindi

महाभृंगराज तेल को आयुर्वेद चिकित्सा में केशराज कहा जाता है, मतलब “बालों का राजा“।

Advertisements

यह सूर्यमुखी परिवार से संबंधित होता है, जो बालों से जुड़ी समग्र परेशानियों के लिए एक आयुर्वेदिक उपचार है।

इस तेल के बेहतरीन फायदों का पूरा लाभ उठाने के लिए इसे रात को बालों पर लगाकर इससे मालिश करने की आवश्यकता है।

इस तेल की नियमित मालिश करने से खोपड़ी की त्वचा में रक्त का बहाव तेज हो जाता है, जिससे बालों के रोमकूप सक्रिय हो जाते है और बालों को पोषण मिलता है।

आज के प्रदूषण और खराब रहन-सहन का प्रभाव सबसे ज्यादा बालों को भुगतना पड़ता है। ऐसे में, बालों की लंबी उम्र और सौंदर्य निखार के लिए महाभृंगराज तेल को दैनिक आवश्यकता की सामग्रियों का हिस्सा बनाया जा सकता है।

इस तेल की शक्ति से बालों का झड़ना, असमय बालों का सफेद होना, रूसी, फुंसियां, त्वचा संक्रमण, डेंड्रफ, सिरदर्द, तनाव, गंजापन, पपड़ीदार त्वचा, पतले बाल, दो-मुँहे बाल, बालों में पोषण की कमी, अनिद्रा, आँखों के दर्द आदि सभी मुद्दों का इलाज किया जा सकता है। 

Baidyanath Mahabhringraj Tel का बड़ा निर्माता है।

महाभृंगराज तेल की संरचना – Mahabhringraj Oil Composition in Hindi

निम्न घटक Mahabhringraj Oil में होते है।

भृंगराज + मंजिष्ठा + लोध्रा + चंदना + बला + रजनी + गैरिका + दारू हरिद्रा + प्रियंगु + यष्टिमधु + प्रपौंडरिका + गोपी

पढ़िये: पतंजलि दिव्य मधुकल्प वटी | Safi Syrup in Hindi

Mahabhringraj Oil कैसे काम करती है?

  • महाभृंगराज तेल स्कैल्प में रक्त की उपस्थिति को बढ़ाकर बालों के विकास का कार्य कर सकता है। यह तेल केराटिन की गतिशीलता को बढ़ाने में मदद कर सकता है, जो बालों, नाखूनों और त्वचा के निर्माण में सहायक होता है। महाभृंगराज तेल में शामिल अवयवों की कार्यशैली का विवरण उनके प्राकृतिक गुणों के बलबूते पर किया जा सकता है।
  • भृंगराज एक तेल का सबसे मुख्य घटक है। भृंगराज वात, पित्त और कफ दोनों दोषों को शांत कर बाल गिरने की समस्या को रोक सकता है। भृंगराज में एंटीइंफ्लेमेट्री गुण होते है, जिसके कारण यह स्कैल्प में खाज, डैंड्रफ और जलन को कम कर सकता है।
  • यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो बालों के अच्छे विकास को प्रोत्साहित कर बालों को चमक, रंगत, सुंदर, मोटा, लंबा, मुलायम, काला और घना बना सकता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर श्वेत रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद कर सकती है, जिससे चर्म संक्रमणों से बचा जा सकता है। इसमें मौजूद मेथनॉल गंजेपन को दूर करने में मददगार हो सकता है।
  • मंजिष्ठा को हेयर डाई की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इसमें बालों को काला करने का गुण होता है। इसमें मौजूद पुरपुरिन और मुंजिस्टिन कलरिंग एजेंट के रूप में कार्य करते है। मंजिष्ठा त्वचा पर जमने वाली गंदगी को साफ कर मुँहासों और फुंसियों का उपचार कर सकता है।
  • बला शरीर से विषाक्त पदार्थों को हटाकर ऑक्सीडेटिव क्षति की संभावना को कम कर सकता है। यह दुखती हुई आँखों को दर्द से आराम दे सकता है।
  • दारू हरिद्रा फंगल इंफेक्शन के खिलाफ सख्त प्रभावी हो सकता है। इसमें पोषण तत्वों और खनिज पदार्थों की उच्च मात्रा होने के कारण यह बालों के लिए पोषण पूरक के रूप में मददगार हो सकता है।

महाभृंगराज तेल के उपयोग व फायदे – Mahabhringraj Oil Uses & Benefits in Hindi

Mahabhringraj Oil को निम्न अवस्था व विकार में सलाह किया जाता है।

  • बालों का टूटना
  • बालों का झड़ना
  • बालों का सफेद होना
  • बालों का रूखापन
  • डैंड्रफ
  • सिर दर्द
  • फंगल इंफेक्शन
  • फुंसियां
  • मुँहासे
  • तनाव
  • गंजापन
  • पतले बाल
  • दो-मुँहे बाल
  • अनिद्रा
  • आँखों का दर्द
  • बालों में पोषण की कमी
  • शुष्क स्कैल्प

महाभृंगराज तेल के दुष्प्रभाव – Mahabhringraj Oil Side Effects in Hindi

निम्न साइड इफेक्ट्स Mahabhringraj Oil के कारण हो सकते है। आमतौर पर साइड इफेक्ट्स Mahabhringraj Oil से शरीर की अलग प्रतिक्रिया व गलत खुराक से होते है और सबको एक जैसे साइड इफेक्ट्स नहीं होते है। अत्यंत Mahabhringraj Oil से दुष्प्रभाव में डॉक्टर की सहायता लें।

  • छींके आना
  • नाक में जलन
  • गले में जलन
  • चेहरे पर बर्निंग सेंसेशन

पढ़िये: क्लाइमेक्स स्प्रे | Addyzoa Capsule in Hindi

महाभृंगराज तेल की खुराक – Mahabhringraj Oil Dosage in Hindi

  • Mahabhringraj Oil को केवल बाहरी इस्तेमाल हेतु प्रयोग में लिया जाना चाहिए। इस तेल की थोड़ी सी मात्रा एक वक्त के इस्तेमाल हेतु काफी होती है।
  • Mahabhringraj Oil को रात में सोने से पहले बालों पर लगाकर हल्के हाथों से 5 से 10 मिनट तक मालिश करें। इस तेल को उंगलियों से लगाएं, जिससे यह बालों की जड़ो तक जाता है।
  • Mahabhringraj Oil से मालिश करने से पहले अपने हाथों को जरूर धो लें। इस तेल से मालिश के बाद प्रभावित क्षेत्र को रात भर खुला छोड़ दें और सुबह पानी या किसी हर्बल शेम्पू से बालों को धो लें।
  • Mahabhringraj Oil को हफ्ते में 3 से 4 बार इस्तेमाल करने पर यकीनन एक अच्छा परिणाम मिल सकता है। लक्षणों की गंभीरता में इसे हफ्ते के सातों दिन इस्तेमाल किया जा सकता है।

पढ़िये: कनकासव के फायदे | Ovabless Tablet in Hindi

Mahabhringraj Oil FAQ in Hindi

1) क्या Mahabhringraj Oil एक रासायनिक उत्पाद है?

उत्तर: नहीं, यह तेल रासायनिक नहीं है। इस तेल में किसी कृत्रिम रसायन का उपयोग नहीं होता है। इस तेल को बनाने में सिर्फ हर्बल घटकों की जरूरत होती है।

2) क्या Mahabhringraj Oil से पूरे शरीर की मालिश की जा सकती है?

उत्तर: यह तेल कई फंगल इंफेक्शन, जो त्वचा के लिए मुसीबत का कारण बनते है, को ठीक करने में मददगार हो सकता है। यह त्वचा में समा कर त्वचा पर एक रक्षा कवच तैयार कर सकता है, जिससे धूल-मिट्टी या अन्य कोई विषैले तत्व कूपरोमों से होते हुए शरीर में प्रवेश न कर सकें। इसलिए इस तेल से पूरे शरीर पर मालिश करना फायदेमंद हो सकता है। इस विषय में आप किसी अच्छे सलाहकार की सलाह अवश्य ले सकते है।

3) क्या Mahabhringraj Oil गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: इस विषय में पूरी जानकारी का अभाव होने के कारण अपने चिकित्सक की सलाह पर कार्य करें।

4) क्या Mahabhringraj Oil मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकता है?

उत्तर: नहीं, इस तेल से मासिक धर्म चक्र पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। इस तेल के सही उपयोग और बेहतर परिणाम के लिए फार्मासिस्ट या मेडिकल स्टॉफ की मदद ले सकते है।

5) Mahabhringraj Oil को दिन में कितनी बार इस्तेमाल किया जा सकता है?

उत्तर: इस्तेमाल के शुरुआती दिनों में, इस तेल को दिन में दो बार इस्तेमाल किया जा सकता है। कुछ समय बाद, इस तेल का उपयोग बालों पर दो दिन में एक बार किया जाना भी उचित रहता है।

6) Mahabhringraj Oil को कितने समय तक इस्तेमाल करने की आवश्यकता हो सकती है?

उत्तर: इस तेल के विविध लाभ और आत्मसंतुष्टि प्राप्त होने तक इसे इस्तेमाल किया जा सकता है। इस तेल के उपचार अवधि की कोई तय समय सीमा नहीं है। Mahabhringraj Oil का एक पैक खत्म होने के बाद अगला पैक चिकित्सक की सलाह से शुरू किया जाना उचित साबित होता है।

7) क्या Mahabhringraj Oil खुले घावों पर इस्तेमाल किया जा सकता है?

उत्तर: इस तेल को खुले घावों पर इस्तेमाल करने से बर्निंग सेंसेशन हो सकता है। इस विषय में किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक का परामर्श अवश्य लें।

8) क्या Mahabhringraj Oil एल्कोहोल का सेवन करने वाले लोगों के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: यह तेल मात्र बाहरी सतह पर कार्य करता है। इस तेल के साथ एल्कोहोल की परस्पर प्रतिक्रिया की ठोस जानकारी नहीं है। इसलिए ऐसे में एक अच्छे सलाहकार की सलाह अवश्य ले सकते है।

9) क्या Mahabhringraj Oil से इसकी आदत लग सकती है?

उत्तर: नहीं, इस तेल के उपयोग से इसकी आदत नहीं लगती है। इस तेल के शरीर से मेल खाने पर इसे जीवनभर उपयोग में लिया जा सकता है।

10) क्या Mahabhringraj Oil को लागू करने के बाद भारी कार्य किया जा सकता है?

उत्तर: हाँ, इस तेल को लागू करने के बाद भारी कार्य किया जा सकता है। यह तेल ड्राइविंग क्षमता और मानसिक एकाग्रता को प्रभावित नहीं करता है।

11) क्या Mahabhringraj Oil भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, यह हर्बल तेल भारत में पूर्णतया लीगल है। इसे आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीदा जा सकता है।

पढ़िये: Bt-36 कैप्सूल | Himplasia Tablet in Hindi

References

Bhringaraj (Eclipta prostrata L.) for mental improving ability https://www.researchgate.net/publication/280556904_Bhringaraj_Eclipta_prostrata_L_for_mental_improving_ability Accessed On 05/06/2021

Manjistha(Rubia Cordifolia)- A helping herb in cure of acne https://www.researchgate.net/publication/302902410_ManjisthaRubia_Cordifolia-_A_helping_herb_in_cure_of_acne Accessed On 05/06/2021

Management of Diabetes mellitus and its complications by Lodhra: A review Review Article https://www.researchgate.net/publication/296547038_Management_of_Diabetes_mellitus_and_its_complications_by_Lodhra_A_review_Review_Article Accessed On 05/06/2021

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *