Trayodashang Guggul

त्रयोदशांग गुग्गुलु के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Trayodashang Guggul

Trayodashang Guggul क्या है?

त्रयोदशांग गुग्गुलु वात रोग नाशक दवा है, जो असाध्य रोगों से राहतकारी हो सकती है। असाध्य रोग यानी गंभीर बीमारी, जिससे पीड़ित व्यक्ति शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य से भी विकृत हो जाता है।

हड्डियों से जुड़े समस्त विकार जिनकी बदौलत हम चलने फिरने में दिक्कत का सामना करते है, उन सभी स्थितियों में यह दवा बेहद असरदार और फायदेमंद हो सकती है।

ज्यादातर ऐसी कई एलोपैथिक दवाएं है जो साइटिका, ऑस्टियोआर्थराइटिस, स्पॉन्डिलाइटिस जैसी समस्याओं का इलाज कर सकती है लेकिन उन्हें खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची जरूरी होती है और उनसे दुष्प्रभाव की संभावना भी ज्यादा रहती है। लेकिन त्रयोदशांग गुग्गुलु को खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची आवश्यक नहीं होती है और इससे कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होता है। देखा जाएं तो यह आयुर्वेदिक दवा हमारे लिए ज्यादा सुरक्षित और बेहतर साबित हो सकती है।

इसे कई बड़ी हर्बल कंपनियां जैसे बैद्यनाथ, डाबर, धूतापापेश्वर, ऊंझा, झंडू आदि द्वारा निर्मित किया जाता है।

नामTrayodashang Guggul
निर्माता (Manufacturer)Patanjali Ayurved Limited
संरचना (Composition)अश्वगंधा + शतावरी + शुद्ध गुग्गुल + गोखरू + गिलोय + रास्ना + बबूल + सौंफ
दवा-प्रकार (Type of Drug)आयुर्वेदिक
कीमत (Price)२८ रूपये (४० टैबलेट्स)

पढ़िये: पतंजलि केश तेलBetnovate N Cream in Hindi

त्रयोदशांग गुग्गुलु कार्यशैली

अश्वगंधा त्रिदोष में संतुलन बनायें रखता है। यह वात की समस्या को शांत कर हड्डियों और मांसपेशियों से जुड़े लक्षणों को ठीक करने में मददगार हो सकता है। यह जोड़ो के दर्द व सूजन को कम कर गठिया का इलाज कर सकता है।

शतावरी में फाइबर मौजूद होते है इसलिए यह अतिरिक्त चर्बी को तोड़कर मोटापा कम कर सकती है। इसमें पाया जाने वाला कैल्शियम और फोलेट हड्डियों को मजबूत बना सकते है।

शुद्ध गुग्गुल जोड़ो के दर्द और सूजन को कम कर सकता है। यह पित्त के उत्पादन को उत्तेजित कर भूख लगाने में मददगार हो सकता है।

गोखरू कार्टिलेज को मुलायम और लचीला बनाकर ओस्टियोआर्थराइटिस का इलाज कर सकता है। इसमें सूजन-रोधी गुण होते है।

गिलोय के प्रयोग से रूमेटाइड आर्थराइटिस की समस्या को ठीक होते देखा गया है क्योंकि इसमें एंटी-ऑर्थराइटिक और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण पायें जाते है। गिलोय एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो फ्री-रेडिकल्स से लड़ने का कार्य करता है।

रास्ना घुटनों के दर्द, कमर दर्द और मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने में सहायक हो सकता है।

त्रयोदशांग गुग्गुलु के उपयोग व फायदे – Benefits & Uses in Hindi

निम्न अवस्था या विकार में Trayodashang Guggul को विशेषज्ञ द्वारा रोगी को सलाह किया जाता है। Trayodashang Guggul का उपयोग विशेषज्ञ से व्यक्तिगत सलाह बिना लिए ना करें।

  • स्पाइनल कॉर्ड इंजरी (रीढ़ की हड्डी में चोंट)
  • ऑस्टियोआर्थराइटिस
  • रूमेटाइड आर्थराइटिस
  • साइटिका
  • स्पॉन्डिलाइटिस
  • मांसपेशियों में ऐंठन
  • एनीमिया
  • लकवा
  • भूख न लगना
  • मोटापा
  • हर प्रकार का दर्द व सूजन

पढ़िये: हिमालया बत्तीसा पाउडर | Long Look Capsule in Hindi

त्रयोदशांग गुग्गुलु के दुष्प्रभाव – Trayodashang Guggul Side Effects in Hindi

Trayodashang Guggul को बिना किसी डर के इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इसमें मौजूद सभी घटक पूर्णतया प्राकृतिक है और दुष्प्रभाव रहित है। लेकिन किसी भी दवा का दुरूपयोग या अति सदैव नुकसान का कारण बनता है, इसलिए इस दवा को बताई गई मात्रा में ही इस्तेमाल करें और अपने स्वास्थ्य की सुरक्षा बनायें रखें।

त्रयोदशांग गुग्गुलु की खुराक – Trayodashang Guggul Dosage in Hindi

इस दवा की खुराक बीमारी के अनुसार अलग-अलग हो सकती है इसलिए डॉक्टर से अपनी जांच कराने के बाद इस दवा को शुरू करना लाभप्रद हो सकता है।

एक सामान्य उम्र का व्यक्ति त्रयोदशांग गुग्गुलु की खुराक दिन में एक-एक टैबलेट सुबह व शाम ले सकता है।

लक्षण की गंभीरता के आधार पर इस दवा की खुराक दिन में 4 टैबलेट ली जा सकती है।

इस दवा को गुनगुने पानी या दूध के साथ भोजन के बाद लेने की सलाह दी जाती है।

त्रयोदशांग गुग्गुलु की खुराक में सुविधानुसार बदलाव करने से बचें और इस दवा पर हद से ज्यादा निर्भर न रहें।

पढ़िये: रोगन बादाम तेल | Rhuma Oil in Hindi

सावधानियां – Trayodashang Guggul Precautions in Hindi

निम्न सावधानियों के बारे में Trayodashang Guggul के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

किसी अवस्था से प्रतिक्रिया

निम्न अवस्था व विकार में Trayodashang Guggul से दुष्प्रभाव की संभावना ज्यादा होती है। इसलिए जरूरत पर, विशेषज्ञ को अवस्था बताकर ही Trayodashang Guggul की खुराक लें।

पढ़िये: टक्ज़िमा ऑइंटमेंट | Nervijen Plus Capsule in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.