Trayodashang Guggul की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन अश्वगंधा + शतावरी + शुद्ध गुग्गुल + गोखरू + गिलोय + रास्ना + बबूल + सौंफ
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Trayodashang Guggul

त्रयोदशांग गुग्गुल के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Trayodashang Guggul in Hindi

परिचय

त्रयोदशांग गुग्गुल क्या है? – What is Trayodashang Guggul in Hindi

त्रयोदशांग गुग्गुल वात रोग नाशक टैबलेट है, जो असाध्य रोगों से राहतकारी हो सकती है।

असाध्य रोग यानी गंभीर बीमारी, जिससे पीड़ित व्यक्ति शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य से भी विकृत हो जाता है।

हड्डियों से जुड़े समस्त विकार जिनकी बदौलत हम चलने फिरने में दिक्कत का सामना करते है, उन सभी स्थितियों में यह टैबलेट बेहद असरदार और फायदेमंद हो सकती है।

ज्यादातर ऐसी कई एलोपैथिक दवाएं है जो साइटिका, ऑस्टियोआर्थराइटिस, स्पॉन्डिलाइटिस जैसी समस्याओं का इलाज कर सकती है।

लेकिन त्रयोदशांग गुग्गुल को खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची आवश्यक नहीं होती है और इससे कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होता है।

देखा जाएं तो यह आयुर्वेदिक टैबलेट हमारे लिए ज्यादा सुरक्षित और बेहतर साबित हो सकती है।

इसे कई बड़ी हर्बल कंपनियां जैसे बैद्यनाथ, डाबर, धूतापापेश्वर, ऊंझा, झंडू आदि द्वारा निर्मित किया जाता है।

पढ़िये: अकीक पिष्टी | Kumaryasava in Hindi 

संयोजन

त्रयोदशांग गुग्गुल की संरचना – Trayodashang Guggul Composition in Hindi

इसमें निम्न घटक शामिल है-

अश्वगंधा + शतावरी + शुद्ध गुग्गुल + गोखरू + गिलोय + रास्ना + बबूल + सौंफ

त्रयोदशांग गुग्गुल कैसे कार्य करती है?

अश्वगंधा त्रिदोष में संतुलन बनायें रखता है। यह वात की समस्या को शांत कर हड्डियों और मांसपेशियों से जुड़े लक्षणों को ठीक करने में मददगार हो सकता है। यह जोड़ो के दर्द व सूजन को कम कर गठिया का इलाज कर सकता है।

शतावरी में फाइबर मौजूद होते है इसलिए यह अतिरिक्त चर्बी को तोड़कर मोटापा कम कर सकती है। इसमें पाया जाने वाला कैल्शियम और फोलेट हड्डियों को मजबूत बना सकते है।

शुद्ध गुग्गुल जोड़ो के दर्द और सूजन को कम कर सकता है। यह पित्त के उत्पादन को उत्तेजित कर भूख लगाने में मददगार हो सकता है।

गोखरू कार्टिलेज को मुलायम और लचीला बनाकर ओस्टियोआर्थराइटिस का इलाज कर सकता है। इसमें सूजन-रोधी गुण होते है।

गिलोय के प्रयोग से रूमेटाइड आर्थराइटिस की समस्या को ठीक होते देखा गया है क्योंकि इसमें एंटी-ऑर्थराइटिक और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण पायें जाते है। गिलोय एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो फ्री-रेडिकल्स से लड़ने का कार्य करता है।

रास्ना घुटनों के दर्द, कमर दर्द और मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने में सहायक हो सकता है।

पढ़िये: आरोग्यवर्धिनी वटी | Kutajarishta in Hindi 

फायदे

त्रयोदशांग गुग्गुल के उपयोग व फायदे – Trayodashang Guggul Benefits & Uses in Hindi

निम्न अवस्था या विकार में Trayodashang Guggul को विशेषज्ञ द्वारा रोगी को सलाह किया जाता है-

  • स्पाइनल कॉर्ड इंजरी (रीढ़ की हड्डी में चोंट)
  • ऑस्टियोआर्थराइटिस
  • रूमेटाइड आर्थराइटिस
  • साइटिका
  • स्पॉन्डिलाइटिस
  • मांसपेशियों में ऐंठन
  • एनीमिया
  • लकवा
  • भूख न लगना
  • मोटापा
  • हर प्रकार का दर्द व सूजन

दुष्प्रभाव

त्रयोदशांग गुग्गुल के दुष्प्रभाव – Trayodashang Guggul Side Effects in Hindi

Trayodashang Guggul को बिना किसी डर के इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इसमें मौजूद सभी घटक पूर्णतया प्राकृतिक है और दुष्प्रभाव रहित है।

लेकिन किसी भी टैबलेट का दुरूपयोग या अति सदैव नुकसान का कारण बनता है, इसलिए इस टैबलेट को बताई गई मात्रा में ही इस्तेमाल करें और अपने स्वास्थ्य की सुरक्षा बनायें रखें।

पढ़िये: लाक्षादि गुग्गुल | Patanjali Divya Kesh Taila

खुराक

त्रयोदशांग गुग्गुल की खुराक – Trayodashang Guggul Dosage in Hindi

इस टैबलेट की खुराक बीमारी के अनुसार अलग-अलग हो सकती है इसलिए डॉक्टर से अपनी जांच कराने के बाद इस टैबलेट को शुरू करना लाभप्रद हो सकता है।

उत्पाद खुराक
use in hindi
Trayodashang Guggul
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 1 टैबलेट
  • कब लें: सुबह-दोपहर-शाम
  • खाने से पहले या बाद: खाने के बाद
  • लेने का माध्यम: गुनगुने पानी के साथ
  • उपचार अवधि: 3 महीने

त्रयोदशांग गुग्गुल की खुराक में सुविधानुसार बदलाव करने से बचें और इस टैबलेट पर हद से ज्यादा निर्भर न रहें।

सावधानी

निम्न सावधानियों के बारे में Trayodashang Guggul के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

भोजन

भिन्न खाद्य सामग्री के साथ Trayodashang Guggul की प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ Trayodashang Guggul की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, Trayodashang Guggul की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और Trayodashang Guggul की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए Trayodashang Guggul का सेवन शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाएं Trayodashang Guggul का सेवन डॉक्टर की सलाह से करें।

ड्राइविंग

Trayodashang Guggul के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

पढ़िये: हिमालया बत्तीसा पाउडर Makardhwaj Vati in Hindi

कीमत

Trayodashang Guggul को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-\

पढ़िये: अभयारिष्ट Brihatyadi Kashayam in Hindi 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *