निर्माता

Indian Herbs Company

कीमत

Rs 350 (400 gm)

Himalaya Batisa Powder की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन कटुभद्रा + महाऔषध + रक्तपुष्पक + अमृतफल + श्रीफल + धातुकाशी + कटुवीरा + ब्रह्मवृक्ष + कटुरोहिणी + श्वेतपुष्पा + खारमंजरी इत्यादि।
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Himalaya Batisa Powder

हिमालया बत्तीसा पाउडर के फायदे, नुकसान, खुराक | Himalaya Batisa Powder in Hindi

परिचय

हिमालया बत्तीसा पाउडर क्या है? – What is Himalaya Batisa Powder in Hindi

Himalaya Batisa Powder एक आयुर्वेदिक पशु औषधि है, जो खासकर मवेशियों में उदर रोग नाशक के रूप में कार्य करता है। यह एक पाचक एवं टॉनिक पाउडर है।

आज दुनियाभर में इस एनिमल हेल्थ केयर प्रॉडक्ट की मांग है, जिसे इंडियन हब्र्स कंपनी द्वारा निर्मित किया जाता है।

इस प्रॉडक्ट को बिना वेटनरी डॉक्टर की सलाह के भी इस्तेमाल या खरीदा जा सकता है क्योंकि इसे पशुओं में रोजाना देने से कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।

जब किसान भाई किसी नए पशु को खरीदते है या एक स्थान से दूसरे स्थान पर निवास के लिए जाते है, तो कई बार उनके पशु चारा खाना बंद कर देते है। ऐसे में, मीठा सोड़ा, गुड़ या हरे चारे के साथ बत्तीसा पाउडर देने से पशु का स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है और दूध उत्पादन में वृद्धि होती है।

इसे बनाने वाली कंपनी का दावा है कि यह प्राकृतिक जड़ी-बूटियों से निर्मित एक आयुर्वेदिक प्रॉडक्ट है, जिसे पशुओं की किसी बीमारी में या रेगुलर भी इस्तेमाल किया जाता है।

पढ़िये: मकरध्वज वटी | Abhayarishta in Hindi 

संयोजन

हिमालया बत्तीसा पाउडर की संरचना – Himalaya Batisa Powder Composition in Hindi

इसमें निम्न घटक होते है-

कटुभद्रा + महाऔषध + रक्तपुष्पक + अमृतफल + श्रीफल + धातुकाशी + कटुवीरा + ब्रह्मवृक्ष + कटुरोहिणी + श्वेतपुष्पा + खारमंजरी इत्यादि।

फायदे

हिमालया बत्तीसा पाउडर के उपयोग व फायदे – Himalaya Batisa Powder Benefits & Uses in Hindi

निम्न अवस्था या विकार में Himalaya Batisa Powder को सलाह किया जाता है।

  • दूध उत्पादन में कमी
  • खराब हाजमा
  • दस्त
  • मौसम बदलाव या अन्य किसी कारण से चारा न खाना
  • बॉडी टेम्परेचर कम या ज्यादा होना
  • जुगाली न करना
  • गोबर करने में दिक्कत
  • पानी कम पीना

पढ़िये: बृहत्यादी कश्यम | Sanshamani Vati in Hindi

दुष्प्रभाव

हिमालया बत्तीसा पाउडर के दुष्प्रभाव – Himalaya Batisa Powder Side Effects in Hindi

हिमालया बत्तीसा पाउडर को पशुओं में इस्तेमाल करना बेहद सुरक्षित है। यदि किसी वक्त इसकी ज्यादा मात्रा को इस्तेमाल किया जाता है, तो भी इससे कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।

बीमार पशुओं में एंटीबायोटिक या एनाल्जेसिक इंजेक्शन देने से दवा की मात्रा दूध में घुल सकती है लेकिन इस पाउडर को देने से यह दूध में नहीं घुलता है।

खुराक

हिमालया बत्तीसा पाउडर की खुराक – Himalaya Batisa Powder Dosage in Hindi

पशुओं के आकार व वजन के आधार पर बत्तीसा पाउडर की खुराक अलग हो सकती है। ज्यादा बड़े पशुओं में इसकी ज्यादा खुराक काम में लेनी पड़ती है।

उत्पाद खुराक
use in hindi
Himalaya Batisa Powder
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 50 gm
  • कब लें: सुबह या शाम

गाय, भैंस, घोड़े, गधे आदि बड़े पशुओं में बीमारी के समय इस पाउडर की एक समय में 50 ग्राम खुराक हरे चारे, गुड़ या पशु आहार के साथ दें सकते है।

बकरी, भेड़ जैसे छोटे दुधारू पशुओं में इस पाउडर की एक समय में 20 ग्राम खुराक दें सकते है।

ऊंट या अन्य कोई ज्यादा बड़ा जानवर है तो आप इस पाउडर की एक समय में 100 ग्राम खुराक दे सकते है।

वजन के अनुसार बत्तीसा पाउडर को 100 किलों पर 15 ग्राम इस्तेमाल किया जा सकता है।

यदि कोई पशुपालक इस पाउडर को अपने पशुओं में रोजाना देना चाहता है तो 1 क्विंटल पशु आहार में 50 ग्राम बत्तीसा पाउडर मिला सकते है।

पढ़िये: स्फटिक भस्म | Khadirarishta in Hindi

कीमत

हिमालया बत्तीसा पाउडर को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

पढ़िये: द्राक्षासव सिरप | Ashokarishta in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.