Kutajarishta की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन कुटज की छाल + द्राक्षा + धातकी + महुआ+ गंभारी + गुड + जल (काढ़ा बनाने के लिए)
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Kutajarishta in Hindi

कुटजारिष्ट के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Kutajarishta in Hindi

परिचय

कुटजारिष्ट क्या है? – What is Kutajarishta in Hindi

कुटजारिष्ट मानव पेट के लिए बहुत-ही उत्तम आयुर्वेदिक दवा है।

इसमें एक से एक हर्बल उत्पादों की उपस्थिति इस सिरप को एक बेहतरीन आयुर्वेदिक होने का प्रमाण देती है। यह सिरप पेट की समस्त बीमारियों का इलाज बखूबी करती है।

इसका उपयोग पेट की उदासीनता, बवासीर, पेचिश, वात, कफ, दस्त, खांसी, पुराना बुखार, मल में खून, पेट दर्द, डायरिया, आंतों में कचरा, लिवर में गंदगी, भूख न लगना आदि सम्पूर्ण लक्षणों की रोकथाम में किया जाता है।

कुटजारिष्ट एक मौखिक दवा है, जिसमें पहले से कुछ मात्रा एल्कोहोल की शामिल होती है, जो इसके प्रभाव में तेजी लाने का कार्य करता है।

यह सिरप पाचन तंत्र को एक सुदृढ़ मार्ग प्रदान कर रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी सुधार करने में सहायक है।

पढ़िये: लाक्षादि गुग्गुल | Patanjali Divya Kesh Taila

संयोजन

कुटजारिष्ट की संरचना – Kutajarishta Composition in Hindi

कुटजारिष्ट में उपस्थित अवयवों को एक निश्चित अनुपात में मिलाकर इस दवा का सुरक्षित रूप तैयार किया जाता है।

कुटजारिष्ट दवा को बनाने में लगी पूरी हर्बल सामग्रियों की सूची निम्नलिखित है।

कुटज की छाल + द्राक्षा + धातकी + महुआ+ गंभारी + गुड + जल (काढ़ा बनाने के लिए) 

कुटजारिष्ट कैसे काम करता है?

  • यह सिरप आंतों की गतिशीलता को कम करके दस्त की रोकथाम करती है। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स और एंटी-माइक्रोबियल गुणों की अधिकता होने के कारण यह दस्त के लिए जिम्मेदार रोगाणुओं से लड़ने में भी सहायता करती है।
  • कुटजारिष्ट सिरप गले और फेफड़ों से कफ साफ कर खांसी को कम करने में मददगार है। साथ ही, फेफड़ों से जुड़े विकारों का इलाज भी बड़ी सहजता से करती है।
  • IBS (इरिटेबल बाउल सिंड्रोम) एक आंत से जुड़ी बड़ी बीमारी है। इसकी वजह से पैदा हुई पेट में सूजन, मरोड़ तथा दर्द को यह सिरप जड़ से खत्म कर सकती है।

पढ़िये: हिमालया बत्तीसा पाउडर Makardhwaj Vati in Hindi

फायदे

कुटजारिष्ट के उपयोग व फायदे – Kutajarishta Uses & Benefits in Hindi

कुटजारिष्ट का सेवन डॉक्टर से व्यक्तिगत सलाह से करना सुरक्षित है।

कुटजारिष्ट को निम्न अवस्था व विकार में डॉक्टर द्वारा रोगी को सलाह किया जाता है-

  • पेट को ठंडक पहुचाएं
  • क्रोनिक ब्रोंकाइटिस कम करने में फायदेमंद
  • गैस्ट्रिक अटैक से बचाव
  • दस्त को कम करने में सहायक
  • पानी की कमी को दूर करना
  • गले और फेफड़ों से कफ कम करें
  • पुरानी खांसी का अच्छे से इलाज
  • आंतों की गंदगी दूर करना
  • बवसीर में लाभकारी
  • वात संबंधी समस्याओं का निपटारा
  • पाचन तंत्र को सुदृढ़ बनाना
  • प्रबल हृदय प्रदान करने में सहायक
  • भूख में बढ़ोतरी
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना
  • पेट में संक्रमणों की वृद्धि को कम करें

दुष्प्रभाव

कुटजारिष्ट के दुष्प्रभाव – Kutajarishta Side Effects in Hindi

कुटजारिष्ट एक हर्बल दवा है, जिसके दुष्प्रभाव आमतौर पर बहुत ही कम और सामान्य है।

यदि इसे जरूरी निर्देशों के आधार पर उपभोग किया जायें, तो इसके विपरीत प्रभावों की संभावना न के बराबर होती है।

यदि इसकी गलत खुराक या ज्यादा खुराक का सेवन लगातार किया जा रहा है, तो जी मचलाना, उल्टी, कब्ज होना जैसे दुष्प्रभाव महसूस हो सकते है।

पढ़िये: अभयारिष्ट Brihatyadi Kashayam in Hindi 

खुराक

कुटजारिष्ट की खुराक – Kutajarishta Dosage in Hindi

कुटजारिष्ट सिरप की खुराक आयुर्वेदिक डॉक्टर या विशेषज्ञ के आधार पर चुनी जानी चाहिए और इससे जुड़ी हर जानकारी का आकलन किया जाना चाहिए।

उत्पाद खुराक

Kutajarishta
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 10-20 ml
  • कब लें: सुबह और शाम
  • खाने के पहले या बाद: बाद
  • लेने का माध्यम: गुनगुने पानी के साथ
  • उपचार अवधि: डॉक्टर की सलाह अनुसार

बच्चों (5 वर्ष से अधिक आयु के) में यह दवा अनुशंसित की जा सकती है, लेकिन इसकी खुराक दिन में दो बार 5ml तक ही देवें।

खुराक में सुविधानुसार बदलाव करने से बचें।

ओवरडोज़ से सामना होने पर तुरंत नजदीकी सहायता तलाश की जानी चाहिए।

एक खुराक छूट जाये, तो निर्धारित कुटजारिष्ट का सेवन जल्द करें। अगली खुराक कुटजारिष्ट की निकट हो, तो छूटी खुराक ना लें।

सावधानी

भोजन

भिन्न खाद्य सामग्री के साथ कुटजारिष्ट सिरप की प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ कुटजारिष्ट सिरप की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, कुटजारिष्ट सिरप की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब के साथ कुटजारिष्ट सिरप के सेवन से परहेज़ रखें।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए कुटजारिष्ट सिरप का सेवन शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर, कुटजारिष्ट सिरप के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है।

ड्राइविंग

कुटजारिष्ट सिरप के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

लिवर

लिवर पर कुटजारिष्ट सिरप के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है, इसलिए लिवर दुर्बलता के मामलें में डॉक्टर से सलाह लें।

किडनी

किडनी पर कुटजारिष्ट सिरप के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है।

अन्य बीमारी

अन्य कोई बड़ी बीमारी होने पर कुटजारिष्ट सिरप का उपयोग डॉक्टर की सलाह अनुसार करें।

पढ़िये: संशमनी वटी | Sphatika Bhasma in Hindi

कीमत

पढ़िये: खादिरारिष्ट | Drakshasava Syrup in Hindi

5 thoughts on “कुटजारिष्ट के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Kutajarishta in Hindi”

  1. मैं आव पेचिस से परेशान हूं,कुटाजरिष्ट को मैं एक महीने से ले रहा हु,थोड़ा आराम है,ये पूरी तरह ठीक हो ने में केतना समय लगता है

  2. मुझे IBS का परेशानी है। और कब्ज भी रहता है तो मैं क्या कुटजारिष्ट ले सकता हूं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *