निर्माता

Himalaya Drug Company

कीमत

Rs 260 (60 Capsule)

Himalaya Ayurslim की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन वृक्षआमला + हरीतकी + मेंथी + गुड़मार
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Himalaya Ayurslim

Himalaya AyurSlim Capsule के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी

परिचय

हिमालया आयूरस्लिम क्या है? – What is Himalaya Ayurslim in Hindi

Himalaya Ayurslim शरीर के अतिरिक्त वजन या मोटापे को कम करने वाला एक आयुर्वेदिक उत्पाद है।

कुछ सक्रिय हर्बल घटकों से बना यह प्रभावी संयोजन, शरीर की अशुद्धियों को दूर कर सम्पूर्ण शुद्धिकरण में मदद कर सकता है।

यह कैप्सूल लिवर में फैटी एसिड को बढ़ने से रोकने, भूख की इच्छा को मारने, लिपिड प्रोफाइल को कम करने, कोलेस्ट्रोल व ट्राइग्लिसराइड के स्तर को नियंत्रित करने, रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने, अनावश्यक चर्बी को जलाने जैसे कई अन्य कामों को निभाने में मददगार साबित हो सकती है।

यह कैप्सूल हमारे वजन को आसानी से कम कर सकती है, हालाँकि इसके साथ जिम या वर्क आउट करने वाले लोगों में ज़्यादा संतोषजनक परिणाम देखने को मिलता है।

इस कैप्सूल से पुरुष तथा महिला दोनों वर्गों के लोग फ़ायदा उठा सकते है, यह शरीर के आलस्य को दूर कर कार्यक्षमता में काफ़ी सुधारकर सकती है।

पढ़िये: गुड हेल्थ कैप्सूल | Ashwagandharishta in Hindi

संयोजन

हिमालया आयूरस्लिम की संरचना – Himalaya Ayurslim Composition in Hindi

निम्न घटक Himalaya Ayurslim में मौजूद होते है।

वृक्षआमला + हरीतकी + मेंथी + गुड़मार 

हिमालया आयूरस्लिम कैसे काम करता है?

वृक्ष आमला का साइंटिफिक नेम “गार्सीनिया कंबोगिया” है, जो नेचुरली वजन कम करने में इफेक्टिव है। इसमें हाइड्रोक्सीसाइट्रिक एसिड पाया जाता है, जो लिपोजेनेसिस को रोकता है।

लिपोजेनेसिस एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें शरीर में मौजूद अतरिक्त कार्बोहाइड्रेट सीधा फैटी एसिड में बदलता है और शरीर में फैट जमा होने लगता है, जो हमारे वजन बढ़ने का एक कारण हो सकता है। एक बात और, यह घटक भूख की इच्छा को कम कर कुछ समय के लिए वेट लॉस कर सकता है।

हरीतकी यानी हरड़ में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पायें जाते है, जो हमारी बॉडी को प्यूरीफायर करने के लिए टॉक्सिन्स को शरीर से बाहर करता है। यह घटक वेट लॉस प्रोसेस के दौरान, पाचन शक्ति को ज्यो का त्यों बनाये रखता है।

मेंथी में सॉल्युबल फाइबर होता है। यह खराब कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय के स्वास्थ्य को बेहतर करती है। इसमें हेपेटोप्रोटेक्टिव और एंटी डियबिटिक गुण होते है, जिस कारण मेथी हमारे लिवर को प्रोटेक्ट करने और मधुमेह की रोकथाम करने में मदद कर सकती है।

गुड़मार, खून में शुगर की मात्रा को कम करने में मदद करता है और चीनी की तलब दूर करता है। इस प्रकार से, यह घटक डायबिटीज के साथ मोटापे को भी कम करता है।

यह आयुर्वेदिक सूत्रीकरण वजन घटाने के लिए हमारी भूख को मारने का कार्य करता है, जिससे भोजन की मांग कम हो जायें और चर्बी का नाश होता रहें। यह अतिरिक्त चर्बी को गलाकर हमें शारीरिक रूप से स्लिम बनाने में मददगार साबित हो सकता है।

मोटापे की वजह से शरीर में पैदा आलस्य को दूर कर यह उत्पाद जीवंत शक्ति में सुधार करता है। यह ब्लड सर्कुलेशन को अच्छा कर रोग प्रतिरोधक क्षमता में काफी बढ़ोतरी कर सकता है।

यह उत्पाद शरीर के मेटाबॉलिज्म रेट को बढ़ाने में सहायक होता है, जिससे मोटापे को बढ़ाने वाले हॉर्मोन्स को संतुलित किया जा सकता है। यह कैलोरी को कम करके भी कारगर साबित हो सकता है।

यह चयापचय क्रिया को बढ़ाने और विषाक्त पदार्थों को शरीर से निकाल कर लीवर के कार्य में सुधार करने में फायदेमंद है, जिससे फैट को घटाया जा सकता है।

पढ़िये: मुक्ताशुक्ति भस्म | Divya Mukta Vati in Hindi

फायदे

हिमालया आयूरस्लिम के उपयोग व फायदे – Himalaya Ayurslim Uses & Benefits in Hindi

यह कैप्सूल निम्न स्थितियों में फायदेमंद हो सकती है-

  • मोटापा
  • ज्यादा कोलेस्ट्रॉल
  • उच्च लिपिड प्रोफाइल
  • हृदय संबंधी रोग
  • ट्राइग्लिसराइड के स्तर में परिवर्तन
  • फैटी एसिड का बढ़ना
  • कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता

दुष्प्रभाव

हिमालया आयूरस्लिम के दुष्प्रभाव – Himalaya Ayurslim Side Effects in Hindi

इसके साइड इफेक्ट्स Himalaya Ayurslim से शरीर की अलग प्रतिक्रिया व गलत खुराक से होते है-

  • कमजोरी महसूस होना
  • परिवर्तन को अनुकूल करने में दिक्कतें
  • पेट खराब

पढ़िये: गिलोय घनवटी | Neeri KFT Syrup in Hindi

खुराक

हिमालया आयूरस्लिम की खुराक – Himalaya Ayurslim Dosage in Hindi

Himalaya Ayurslim की खुराक 18 वर्ष से ऊपर कोई भी वयस्क कर सकता है।

इस उत्पाद से उपचार की अवधि लंबी चलती है, इसलिए इसे चिकित्सीय दिशा-निर्देशों के तहत नियमित रूप से पालन करें।

आमतौर पर, Himalaya Ayurslim की ज्यादातर मामलों में सुझाव की जाने वाली खुराक कुछ इस प्रकार है-

उत्पाद खुराक
use in hindi
Himalaya Ayurslim
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 2 कैप्सूल
  • कब लें: सुबह और शाम
  • खाने से पहले या बाद: खाने के बाद
  • लेने का माध्यम: पानी के साथ
  • उपचार अवधि: डॉक्टर की सलाह अनुसार

इसकी खुराक को कम या ज्यादा करने के लिए सुविधानुसार फैसला न लें। इस कैप्सूल की अति या दुरूपयोग से भी बचें।

सावधानी

निम्न सावधानियों के बारे में Himalaya Ayurslim के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

भोजन

भिन्न खाद्य सामग्री के साथ Himalaya Ayurslim की प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ Himalaya Ayurslim की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, Himalaya Ayurslim की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और Himalaya Ayurslim की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए Himalaya Ayurslim का सेवन शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर, Himalaya Ayurslim के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है।

ड्राइविंग

Himalaya Ayurslim के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

अन्य बीमारी

पीलिया, गुर्दे की विफलता, एलर्जी या अतिसंवेदनशीलता के मामलों में Himalaya Ayurslim का उपयोग डॉक्टर की सलाह अनुसार करें।

पढ़िये: रसायन वटी Patanjali Divya Medha Vati in Hindi 

कीमत

Himalaya Ayurslim को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

सवाल-जवाब

Himalaya Ayurslim से कितने समय में असर दिखना शुरू हो जाता है?

आमतौर पर, इस कैप्सूल की नियमित खुराक लेने पर 1 से 2 महिनों के भीतर एक अच्छा परिणाम देखने को मिल सकता है।

Himalaya Ayurslim की उपचार अवधि कितनी हो सकती है?

इस वा की उपचार अवधि 6 महीनों की हो सकती है, हालांकि यह समय थोड़ा लम्बा है लेकिन काफी असरदार है।

Himalaya Ayurslim की दो लगातार खुराकों के बीच कितना समय अंतराल होना आवश्यक है?

इस कैप्सूल के ओवरडोज़ से बचने के लिए इसकी दो लगातार खुराकों के बीच कम से कम 4 से 6 घंटों का समय अंतराल आवश्यक होता है।

क्या Himalaya Ayurslim मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकती है?

इस विषय में ज्यादा जानकारी मौजूद न होने के कारण महिलाएं अपने चिकित्सक की सलाह से इसे इस्तेमाल कर सकती है।

क्या Himalaya Ayurslim के सेवन से इसकी आदत लग सकती है?

नहीं, इस आयुर्वेदिक कैप्सूल के लंबे समय तक सेवन से इसकी आदत नहीं लगती है। यह नशेदार यौगिकों से मुक्त है और मस्तिष्क पर हावी नहीं होती है।

क्या Himalaya Ayurslim मधुमेह के मामलों में सुरक्षित है?

इस बारें में पुख्ता जानकारी न होने के कारण मधुमेह के मरीज इस कैप्सूल को अपने चिकित्सक की परामर्श से लें।

क्या Himalaya Ayurslim शरीर में पोषक तत्वों की कमी कर सकती है?

यह कैप्सूल वजन घटाने का काम अवश्य करती है, लेकिन शरीर में कमजोरी तथा पोषक तत्वों की कमी का कारण नहीं बनती है।

क्या Himalaya Ayurslim भारत में लीगल है?

हाँ, यह आयुर्वेदिक उत्पाद भारत में पूर्णतया लीगल है। इसे खरीदने के लिए डॉक्टरी पर्ची की आवश्यकता नहीं होती है।

पढ़िये: दिव्य मेदोहर वटी | Brestina Capsule in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.