निर्माता

Patanjali Divya Pharmacy

कीमत

Rs 250 (120 Tablet)

Divya Medha Vati की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन ब्राह्मी + अश्वगंधा + शंखपुष्पी + वाचा + उस्तुखुददूस + ज्योतिष्मती + जटामांसी + गोजिह्व + सौंफ + जहर मोहरा + प्रवल पिष्टी + मुक्त पिष्टी
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
DIVYA-MEDHA-VATI-IN-HINDI

दिव्य मेधा वटी के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Patanjali Divya Medha Vati in Hindi

परिचय

दिव्य मेधा वटी क्या है? – What is Divya Medha Vati in Hindi

दिव्य मेधा वटी आयुर्वेदिक दवा है, जो जड़ी बूटियों के मिश्रण से बनाया गयी है, मानसिक समस्याओं और तनाव के उपचार के लिए। Patanjali Ayurved इसकी निर्माता कंपनी है।

दिव्य मेधा वटी में मौजूद हर्बल तत्व तनाव और अवसाद से राहत देने वाले कुछ खास हार्मोनों को शरीर में पैदा करने में मदद करते हैं।

यह एक OTC उत्पाद है, जिसे खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची नहीं चाहिए।

पंतजली दिव्य मेधा वटी, टैबलेट के रूप मे उपलब्ध होती है।

पढ़िये: दिव्य मेदोहर वटी | Brestina Capsule in Hindi

संयोजन

दिव्य मेधा वटी की संरचना – Divya Medha Vati Composition in Hindi

दिव्य मेधा वटी की एक टैब्लेट में निम्नलिखित प्रमुख घटक बताई मात्रा मे होते है, जो इसे प्रभावशाली बनाते है।

कुछ घटक एक्स्ट्रेक्ट व कुछ पाउडर रूप मे उपलब्ध होते है।

ब्राह्मी + अश्वगंधा + शंखपुष्पी + वाचा + उस्तुखुददूस + ज्योतिष्मती + जटामांसी + गोजिह्व + सौंफ + जहर मोहरा + प्रवाल पिष्टी + मुक्तापिष्टी 

दिव्य मेधा वटी काम कैसे करती है?

दिव्य मेधा वटी में अश्वगंधा, शंखपुष्पी ,ब्राह्मी और जटामांसी मुख्य सामग्री होते है।

ये सभी अपने मस्तिष्क संबंधित विकारो को दूर करने के लिए जाने जाते है।

इन सब सामग्रियों के कारण दिव्य मेधा वटी में निम्नलिखित गुण होते है, जो इसको इतना असरदार बनाते है।

  • Memory Booster: याददाश्त को बढ़ाता है।
  • Antioxidant: शरीर मे ओक्सिडेशन को रोकता है।
  • Adaptogenic: तनाव के कारको को कम करता है।
  • Sedative: आराम देता है और बेहतर नींद मे मदद मिलती है।
  • Anti-depressant: डिप्रेसन से बचाव मिलता है।
  • Anxiolytic: चिंता से मुक्ति मिलती है।
  • Neuroprotective: नर्वस सिस्टम को मदद मिलती है।
  • Carminative: गैस जैसी समस्या से निदान मिलता है।
  • Stomachic: भूख मे बढ़ोतरी होती है।
  • Anti-stress: स्ट्रैस कम करती है।
  • Anti-inflammatory: सूजन कम होती है।

पढ़िये: श्रीगोपाल तेल | Kamsudha Yog in Hindi 

फायदे

दिव्य मेधा वटी के उपयोग व फायदे – Divya Medha Vati Uses & Benefits in Hindi

सामान्य तौर पर, दिव्य मेधा वटी का उपयोग स्मृति और ध्यान अवधि बढ़ाने के लिए किया जाता है।

यह मानसिक स्वास्थ्य मे सुधार करने के लिए उपयोग व फायदेमंद है।

दिव्य मेधा वटी के प्रमुख फायदे निम्नलिखित है।

स्मरण शक्ति बढ़ाता है

दिव्य मेधा वटी एक प्रभावी ब्रेन टॉनिक है। दिव्य मेधा वटी याद शक्ति को बढ़ाने  के साथ-साथ मस्तिष्क के बौद्धिक और संज्ञानात्मक कार्यों को बेहतर बनाने में मदद करता है।

घबराहट दूर करता है (Anxiety)

दिव्य मेधा वटी को चिंता विकारों के प्रबंधन में लाभकारी पाया गया है। दिव्य मेधा वटी मस्तिष्क को ठंडा करता है और विश्राम की स्थिति पैदा करता है।

जिससे घबराहट, अत्यधिक पसीना, हृदय गति में वृद्धि, उथल-पुथल और आत्मविश्वास की कमी जैसे चिंता विकारों के लक्षण कम होते है।

तनाव में मददगार (Depression)

दिव्य मेधा वटी का उपयोग तनाव के उपचार में किया जा सकता है।

दिव्य मेधा वटी, मस्तिष्क और तंत्रिकाओं पर एक शांत और आराम प्रभाव पैदा करती है। दिव्य मेधा वटी अवसाद के लक्षणों को नियंत्रित करती है, जैसे कि दैनिक गतिविधियों में रुचि की कमी, लगातार सिरदर्द, कमजोरी, आत्महत्या के विचार और नींद न आना।

अनिद्रा की बीमारी (Insomia)

दिव्य मेधा वटी को अनिद्रा के इलाज के लिए एक प्रभावी उपाय माना जाता है। दिव्य मेधा वटी एक शामक क्रिया पैदा करता है और नींद को प्रेरित करता है।

मिर्गी में सहायक

दिव्य मेधा वटी का उपयोग तंत्रिका तंत्र के रोगों जैसे मिर्गी, और तंत्रिकाशूल के उपचार में भी किया जाता है।

यह तंत्रिका तंत्र के कार्यों को विनियमित करके Convulsion (एक तरह की मिर्गी) के हमलों की आवृत्ति को कम करता है। दिव्य मेधा वटी द्वारा निर्मित एंटीऑक्सिडेंट क्रिया तंत्रिका तंत्र को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाती है। इस प्रकार इसके सामान्य कार्यों को संरक्षित करती है।

डाउन सिंड्रोम

डाउन सिंड्रोम कुछ शारीरिक और मानसिक लक्षणों के एक समूह को कहते है, जो जन्मजात समस्या के कारण होता है।

डाउन सिंड्रोम वाले बच्चों में एक फ्लैट चेहरे या एक छोटी गर्दन जैसी कुछ विशेषताएं होती हैं । वे बौद्धिक विकलांगता से भी पीड़ित हो सकते हैं।

हालांकि, डाउन सिंड्रोम के लिए कोई इलाज नहीं है, लेकिन दिव्य मेधा वटी बौद्धिक कार्यों को बढ़ाकर इन रोगियों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद कर सकती है।

दुष्प्रभाव

दिव्य मेधा वटी के दुष्प्रभाव – Divya Medha Vati Side Effects in Hindi

दिव्य मेधा वटी के वैसे तो कोई दुष्प्रभाव नही है।

लेकिन शरीर की अलग प्रतिक्रिया या गलत खुराक के चलते, इससे कुछ दुष्प्रभाव हो सकते है। दिव्य मेधा वटी से हो सकने वाले दुष्प्रभाव निम्नलिखित है।

  • शुरुआत में आपको निम्न श्रेणी का सिरदर्द हो सकता है, लेकिन गंभीर अवस्था में नहीं।
  • दुर्लभ मामलों में आपको कुछ हल्की पेट में जलन हो सकती है। 
  • पेट में कुछ दर्द पैदा हो सकता है।
  • दिव्य मेधा वटी के किसी घटक से एलर्जी हो सकती है।

पढ़िये: बस्ट फुल क्रीम | Kala Ghoda Cream in Hindi

खुराक

दिव्य मेधा वटी की खुराक – Divya Medha Vati Dosage in Hindi

दिव्य मेधा वटी की खुराक पूरी तरह से व्यक्ति की उम्र, लिंग, अवस्था व जरूरत पर आधारित है।

इसलिए खुराक विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही शुरू करे।

उत्पाद खुराक
use in hindi
Divya Medha Vati
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 1 टैबलेट
  • कब लें: सुबह और शाम
  • खाने से पहले या बाद: खाने के बाद
  • लेने का माध्यम: गुनगुने पानी के साथ
  • उपचार अवधि: 3 हफ्ते

पांच साल से कम उम्र के बच्चों को इस दवा की एक गोली आधी-आधी दिन में दो बार दी जा सकती है।

5 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों के लिए अनुशंसित खुराक दिन में दो बार एक गोली है।

सावधानी

भोजन

भिन्न खाद्य सामग्री के साथ दिव्य मेधा वटी की प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ दिव्य मेधा वटी की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, दिव्य मेधा वटी की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और दिव्य मेधा वटी की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए दिव्य मेधा वटी का सेवन शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसे इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

ड्राइविंग

दिव्य मेधा वटी के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

पढ़िये: ईलाइटग्लो क्रीम Brexelant Cream in Hindi

कीमत

दिव्य मेधा वटी को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

सवाल-जवाब

अपनी अवस्था में सुधार लाने के लिए दिव्य मेधा वटी का उपयोग कितने समय तक करना चाहिए?

ऐसा देखने में आया है कि आम तौर से दो हफ्ते में सुधार दिखना शुरू हो जाता है। किंतु हर व्यक्ति की स्थिति में अंतर होता है, इसलिए दिव्य मेधा वटी को लेने से पहले डॉक्टर या विशेषज्ञ से इस बारे में पूछना ज़रूरी है।

क्या दिव्य मेधा वटी को लेना एकदम से रोका जा सकता है या इसे धीरे धीरे रोकना चाहिए?

ऐसी कई दवाइयाँ हैं, जिन्हे एकदम से रोक दे, तो दिक्कत पैदा हो सकती है। दिव्य मेधा वटी को रोकने से पहले अपनी स्थिति अपने डॉक्टर को बतायें और फिर निर्णय लें।

पढ़िये: इटोन आई ड्रॉप | Speed Height Capsule in Hindi 

8 thoughts on “दिव्य मेधा वटी के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Patanjali Divya Medha Vati in Hindi”

    1. Mera sir drd hota rahta H peeche side m, letne par bhi peeche hi pain hoti H…. Qa is tablet ka ise m kar sakti hu ? Or kitni tablet leni chahie mujhe meri age 23 year H…

  1. Mujhe ulsretiv colitis h me homoyeopathi tretment le raha hu mujhe ghabrahat hoti h neend nahi aati dar sa lagta h kya me megha vati le sakta hu

  2. मेरी मा की याददास्त ब्रेन की नस सिकुडने से
    हुई है उम्र 80 वर्ष है दिव्य मेघा वटी के लिऐ सलाह दीजिऐ सेवन विधी भी वतलाईऐ

Leave a Comment

Your email address will not be published.