Balarishta Syrup की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन बाला + अश्वगंधा + धातकी + क्षीर काकोली + एरंडा + रसना + इलायची + प्रसारिनी+ लौंग + उशीरा + गोखरू + गुड़ + जल
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Balarishtam in Hindi

बलारिष्ट सिरप के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Balarishta Syrup in Hindi

परिचय

बलारिष्ट सिरप क्या है? – Balarishta Syrup in Hindi

बलारिष्ट एक चिकित्सीय आयुर्वेदिक मेडिसिन है, जिसे प्रभावी गुणों के परिपूर्ण होने के कारण अरिष्ट श्रेणी में स्थान दिया गया है।

बलारिष्ट का मुख्य उपयोग वात असंतुलन की वजह से पैदा हुए विकारों से मुक्ति दिलाने हेतु किया जाता है।

संधि-शोध, मांसपेशियों की ऐंठन, दर्द, सूजन, शारीरिक कमजोरी, थकावट, अस्थमा, पक्षाघात हमला, ब्रोंकाइटिस, सिरदर्द, कान दर्द, चेहरे का दर्द आदि सभी लक्षणों के उपचार हेतु इस सिरप का उपयोग किया जा सकता है।

यह सिरप तंत्रिकाओं पर कार्य कर प्रभावित वात अंगों को पोषण प्रदान करती है और शारीरिक ऊर्जा में बढ़ोतरी करती है।

साथ ही, इस सिरप में उपस्थित घटकों के आधार पर इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी, एनाल्जेसिक और एंटीऑक्सीडेंट जैसे गुण भी शामिल होते है।

पढ़िये: बलारिष्ट सिरप | Swarna Bhasma in Hindi 

संयोजन

निम्न घटक बलारिष्ट सिरप में होते है।

बाला + अश्वगंधा + धातकी + क्षीर काकोली + एरंडा + रसना + इलायची + प्रसारिनी+ लौंग + उशीरा + गोखरू + गुड़ + जल

बलारिष्ट कैसे काम करता है?

अंगों के दर्द के लिए जिम्मेदार कमजोर तंत्रिका तंत्र को यह सिरप पोषण प्रदान कर सुदृढ़ बनाती है।

इसके अलावा यह पक्षाघात की विसंगति को ठीक कर स्वास्थ्य को तेजी से ठीक होने में मदद करती है।

मांसपेशियों की ऐंठन, दर्द और सूजन के प्रति यह सिरप मांसपेशियों की उत्तेजना को शिथिलता प्रदान करती है।

यह सिरप वात और सांस की समस्याओं से पीड़ित मरीजों के फेफड़ो में हवा की मात्रा बढ़ाकर वायुमार्ग को चौड़ा करती है और श्वशन दर में सुधार करती है।

इस सिरप में उपस्थित अश्वगंधा और गोखरू अस्थिबंध संरचना को मजबूती प्रदान करते है।

पढ़िये: बैद्यनाथ त्रिफला जूस | Baidyanath Vita Ex Gold Plus Capsule in Hindi 

फायदे

बलारिष्ट के उपयोग व फायदे – Balarishta Uses & Benefits in Hindi

बलारिष्ट के निम्न फायदे व उपयोग है, लेकिन किसी भी अवस्था में इसके उपयोग से पहले डॉक्टर की सलाह लेना उचित है।

  • वात से जुड़ी हर समस्याओं से निपटने में फायदेमंद
  • भूख में बढ़ोतरी
  • मानसिक दुर्बलता में मदद
  • हृदय की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाए
  • तंत्रिका तंत्र के मजबूती की गारंटी
  • दर्द और सूजन से छुटकारा
  • किड़नी को क्रियाशील बनाये रखने में मददगार
  • उत्सर्जन के सुनियोजन में सहायक
  • तनाव मुक्त करने में उपयोगी
  • आवश्यक पोषण की भरपाई
  • स्मरण क्षमता का बढ़ना
  • लकवाग्रस्त अंगों को जीवन शक्ति प्रदान करना
  • हड्डियों के बंधन को मजबूत करने में फायदेमंद
  • अस्थमा से मुक्ति
  • शारीरिक कमजोरी का अंत
  • मांसपेशियों की ऐंठन दूर करना

दुष्प्रभाव

बलारिष्ट के दुष्प्रभाव – Balarishta Side Effects in Hindi

बलारिष्ट सभी प्राकृतिक अवयवों से बनी एक सिरप है। सावधानी और उचित देखरेख में इसका इस्तेमाल करने पर अभी तक कोई ज्यादा नुकसान या दुष्प्रभाव की स्थितियां उजागर नहीं हुई है।

इसका सेवन सूचीबद्ध लक्षणों के प्रति आराम पाने के लिए करना एकदम सुरक्षित है।

पढ़िये: हिमालया लिव 52 सिरप Zandu Vigorex Gold Capsule in Hindi

खुराक

बलारिष्ट की खुराक – Balarishta Dosage in Hindi

बलारिष्ट की ज़्यादातर मामलों में सुझाव की जाने वाली खुराक कुछ इस प्रकार है-

प्रोडक्ट नाम खुराक

बलारिष्ट
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 12 से 24 ml
  • कब लें: सुबह और शाम
  • खाने के पहले या बाद: पहले
  • लेने का माध्यम: गुनगुने पानी के साथ
  • उपचार अवधि: लगभग 3 महीने

बच्चों में इसकी खुराक दी जा सकती है, लेकिन खुराक की मात्रा को कम किया जाना भी उतना ही आवश्यक होता है। इस विषय में बाल रोग विशेषज्ञ का परामर्श जरूर लें।

सिरप का सेवन करने से पहले बोतल को अच्छे से शेक (हिलाना) करना चाहिए और ऊपर अंकित निर्देशों का पूर्ण पालन करना चाहिए।

छूटी खुराक को अगली खुराक का समय होने से पहले से लिया जा सकता है, लेकिन इसकी दो खुराक एक साथ लेने से बचें।

ओवरडोज होने पर इसका सेवन बंदकर दें।

सावधानी

भोजन

हाँ, हर प्रकार के भोजन के साथ बलारिष्ट सुरक्षित है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ बलारिष्ट की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, बलारिष्ट की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब के साथ बलारिष्ट के सेवन से परहेज़ रखें।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए बलारिष्ट का सेवन शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर, बलारिष्ट के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है।

ड्राइविंग

हाँ, इस सिरप को लेने से बाद गाड़ी चलाना सुरक्षित है। यह सिरप ड्राइविंग क्षमता को भी बिल्कुल प्रभावित नहीं करती है।

लिवर

लिवर पर बलारिष्ट के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है, इसलिए लिवर दुर्बलता के मामलें में डॉक्टर से सलाह लें।

किडनी

किडनी पर बलारिष्ट के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है।

अन्य बीमारी

अन्य कोई बड़ी बीमारी होने पर बलारिष्ट का उपयोग डॉक्टर की सलाह अनुसार करें।

पढ़िये: मशरूम एडी पाउडर | Punarnavasava in Hindi 

सवाल-जवाब

बलारिष्ट को स्टोर करने के लिए किन कारकों को ध्यान में रखा जाना आवश्यक है?

इस सिरप को ठंडी और सुखी जगह पर स्टोर किया जाना चाहिए, जहाँ सूर्य की रोशनी और गर्मी न हो। इसे पालतू जानवरों और बच्चों की पहुँच भी दूर रखा जाना चाहिए।

बलारिष्ट की खुराक शुरू करने के बाद कितने समय में इसका असर दिखना शुरू होता है?

उत्तर: इस सिरप का कॉर्स और खुराक डॉक्टर द्वारा तय किये जाने के बाद इसका असर दिखने में कम से कम दो सप्ताह तो लगते ही है। कुछ मरीजों में इसका असर दिखने में थोड़ा समय लगता है।

क्या बलारिष्ट मधुमेह के रोगियों के लिए सुरक्षित है?

इसमें गुड़ की मात्रा होने के कारण इसका सेवन डॉक्टर की सलाह से करें।

पढ़िये: अमृतारिष्ट | Praval Bhasma in Hindi 

Leave a Comment

Your email address will not be published.