निर्माता

Patanjali Divya Pharmacy

कीमत

Rs 45 (10 ml)

Patanjali Divya Dhara की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन पुदीना + कपूर + अजवाइन + लौंग का तेल + नीलगिरी का तेल
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
patanajali divya dhara in hindi

पतंजलि दिव्य धारा के फायदे, नुकसान, प्रयोग विधि, सावधानी | Patanjali Divya Dhara in Hindi

परिचय

पतंजलि दिव्य धारा क्या है? – What is Patanjali Divya Dhara in Hindi

पतंजलि दिव्य धारा एक आयुर्वेदिक औषधि है। इस उत्पाद को विशेष हर्बल यौगिकों के संयोजन से निर्मित किया गया है।

पतंजलि दिव्य धारा दवा को बाबा रामदेव की पतंजलि कंपनी द्वारा तैयार किया जाता है। इस हर्बल दवा का उपयोग विभिन्न स्वास्थ्य जटिलताओं के सकुशल उपचार हेतु किया जाता है।

यह दवा विशेषकर दर्दनाशक के रूप में प्रचलित है, जैसे सिरदर्द, दांत दर्द, कान दर्द आदि।

इसके अलावा, पतंजलि दिव्य धारा का इस्तेमाल अपच, जुकाम, खाँसी, अस्थमा, पाचन रोग, मांसपेशियों के दर्द एवं ऐंठन, कान रोग, नाक से खून, सूजन, कोलोरैक्टल कैंसर, विषाणुजनित संक्रमण, दमा, कफ, छाती में जकड़न, त्वचा रोग आदि सभी लक्षणों के उपचार हेतु किया जा सकता है, जिसे आयुर्वेदिक डॉक्टर सलाह करते है।

अतिसंवेदनशीलता और नवजात शिशु के मामलों में पतंजलि दिव्य धारा का उपयोग विशेषज्ञ की निगरानी में करना चाहिए।

पढ़िये: जापानी F कैप्सूल | Khamira Marwareed khas in Hindi

संयोजन

पतंजलि दिव्य धारा की संरचना – Patanjali Divya Dhara Composition in Hindi

पुदीना + कपूर + अजवाइन + लौंग का तेल + नीलगिरी का तेल

दिव्य धारा कैसे कार्य करती है?

पुदीना, पेट की समस्याओं जैसे भारीपन, अपच, गैस, एसिडिटी आदि सभी के इलाज में मदद करता है।

कपूर या देसी कपूर में हीलिंग गुण होते है, जो त्वचा संबंधी विकारों के लिए उपयोगी है, जैसे मुंहासे, फोड़े-फुंसियां आदि। इसके अलावा कपूर सिरदर्द, खाँसी, कमजोर आँखों की दृष्टि, बवासीर, सूजन आदि सभी लक्षणों के लिए फायदेमंद है।

अजवाइन सीने की जलन, पाचन विकार, एसिडिटी, उल्टी-दस्त, मासिक धर्म की रुकावट, सर्दी-जुकाम आदि सभी लक्षणों के उपचार में सहयोगी है।

लौंग का तेल त्वचा को संक्रमण मुक्त करने का कार्य करता है। इसे दांतों के दर्द, कैंसर, कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली, मतली, कम यौन क्षमता, तनाव,कान दर्द, थकान आदि सभी लक्षणों के लिए चुना जाता है।

नीलगिरी तेल ताजगी और सुकून का अहसास कराता है। यह सर्दी, खांसी, नाक बहने, गले की खराश, अस्थमा, कफ, ब्रोंकाइटिस और साइनसाइटिस के इलाज में मदद करता है।

पढ़िये: हलवा फौलादी एफ | Baidyanath Kesari Kalp Chwanprash in Hindi 

फायदे

पतंजलि दिव्य धारा के फायदे व उपयोग – Patanjali Divya Dhara in Uses & Benefits Hindi

इससे होने वाले फायदे निम्नलिखित है।

  • सिर दर्द से आराम दिलाने में सहायक
  • अस्थमा में उपयोगी
  • दांतों के दर्द का इलाज
  • कान संबंधी समस्त रोगों का निवारण
  • पाचन तंत्र की कमजोरी दूर करना
  • नाक से खून बहने को रोकना
  • कफ तथा अतिरिक्त बलगम पर नियंत्रण
  • छाती की जकड़न मिटाना
  • मांसपेशियों के दर्द में फायदेमंद
  • पेट संबंधी विकार जैसे अपच, गैस, कब्ज आदि का इलाज
  • जुकाम, खाँसी में राहतदायक
  • शारीरिक सूजन को कम करने में सहायक
  • कोलोरैक्टल कैंसर में लाभदायक
  • विषाणुजनित संक्रमणों की रोकथाम
  • दमा में लाभकारी
  • त्वचा रोगों के लिए उपयोगी दवा आदि।

दुष्प्रभाव

पतंजलि दिव्य धारा के दुष्प्रभाव – Patanjali Divya Dhara Side Effects in Hindi

इस दवा से अभी तक कोई दुष्प्रभाव के मामलें सामने नहीं आये है।

कुछ विशेष स्थितियों में इस दवा की खुराक के बाद जलन महसूस हो सकती है, लेकिन ये अल्पकालिक होती है। इस विषय में ज्यादा जानकारी के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सक का परामर्श लें।

पढ़िये: हिमालयाा टेंटेक्स फोर्ट टैबलेट | Dr Ortho Oil in Hindi 

प्रयोग विधि

पतंजलि दिव्य धारा की प्रयोग विधि – Patanjali Divya Dhara How to Use in Hindi

इस आयुर्वेदिक उत्पाद को इस्तेमाल करने की तरीका निम्नलिखित है-

उत्पाद प्रयोग विधि

Patanjali Divya Dhara
  • कितना लें: 2 बूंदे
  • कब लें: सुबह और शाम
  • लेने का माध्यम: त्वचा
  • उपचार अवधि: डॉक्टर की सलाह अनुसार

सावधानी

भोजन

हर प्रकार के खाद्य सामग्री के साथ दिव्य धारा सुरक्षित है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ दिव्य धारा की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, दिव्य धारा की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और दिव्य धारा की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए दिव्य धारा का सेवन शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए दिव्य धारा सुरक्षित है।

ड्राइविंग

दिव्य धारा के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

अन्य बीमारी

अन्य कोई बड़ी बीमारी होने पर दिव्य धारा का उपयोग डॉक्टर की सलाह अनुसार करें।

पढ़िये: गोखरू के फायदे | Dabur Stimulex Oil in Hindi

कीमत

सवाल-जवाब

क्या पतंजलि दिव्य धारा रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार कर सकती है?

हाँ, यह दवा रोगों से लड़कर स्वास्थ्य को ठीक करने में सहायक है।

क्या पतंजलि दिव्य धारा यौन ऊर्जावर्धक है?

यौन ऊर्जा की कमी होने के संबंध में ये दवा इतनी मददगार नहीं है। विशेष रूप से ऊर्जावर्धक हेतु इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

क्या पतंजलि दिव्य धारा को ठंडे पानी के साथ लिया जा सकता है?

दीव्यि धारा को आंतरिक बीमारियों में ज्यादातर गर्म पानी के साथ लेने की सलाह दी जाती है। ठंडे पानी के साथ कभी-कभी सर्दी, जुकाम जैसी स्थितियां पैदा हो सकती है।

क्या पतंजलि दिव्य धारा को भूखे पेट लिया जा सकता है?

हाँ, दिव्य धारा को खाने के बाद या पहले कभी-भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

क्या पतंजलि दिव्य धारा त्वचा को निखारने में सहायक है?

नहीं, दिव्य धारा सिर्फ दर्द के कारणों के इलाज में सहायक है।

पढ़िये: हिमालया स्पेमन टैबलेट | Patanjali Ashvashila Capsule in Hindi 

1 thought on “पतंजलि दिव्य धारा के फायदे, नुकसान, प्रयोग विधि, सावधानी | Patanjali Divya Dhara in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published.