निर्माता

Shree Baidyanath Ayurved Bhawan Pvt Ltd

कीमत

Rs 720 (1 kg)

Baidyanath Kesari Kalp Chwanprash की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन आंवला + अश्वगंधा + बादाम + केसर + स्वर्ण भस्म + अभ्रक भस्म + सफेद मुसली + इलायची + शतावरी + पिस्ता
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Baidyanath Kesari Kalp Chwanprash in Hindi

केसरी कल्प च्यवनप्राश के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी

परिचय

बैद्यनाथ केसरी कल्प च्यवनप्राश क्या है?

केसरी कल्प च्यवनप्राश रोजमर्रा की स्वास्थ्य थकावट को दूर कर जवानी की ताकत को संजोय रखने में एक मददगार विकल्प है।

यह आयुर्वेदिक औषधि है, जो रोगों से मुक्त कर प्रतिरक्षा प्रणाली का सुधार करती है।

केसरी कल्प च्यवनप्राश में एंटीऑक्सीडेंट गुण प्रचुर मात्रा में होते है, जिससे यह दवा सफेद बाल, झुर्रियां, कमजोरी जैसे बुढ़ापे के लक्षणों को दूर करने में सहायक है।

यह उत्पाद एक हेल्थ टॉनिक के रूप में भी कार्य करता है, जो समय पर, पोषण की आपूर्ति का पूरा ध्यान रखता है।

केसरी कल्प च्यवनप्राश भूख में कमी, कमजोरी, थकान, तनाव, हड्डियों में कमजोरी, झुर्रियां, डार्क सर्कल, दुर्बल हृदय, बुखार, बार-बार बीमार पड़ना, दमा, सांस की परेशानी, खाँसी, सर्दी, जुखाम, नसों की कमजोरी जैसे अन्य कई लक्षणों में बेहद उपयोगी है।

यह डॉक्टरी पर्चे के बिना खरीदे जाने वाली लोकप्रिय आयुर्वेदिक दवाओं में से एक है, जिसका सेवन रोजाना कर सकते है।

निम्न वेरिएंट में केसरी कल्प च्यवनप्राश मार्केट में उपलब्ध है।

  • Baidyanath Kesari Shakti Kalp Chwanprash
  • Baidyanath Kesari Kalp Royal Chwanprash
  • Baidyanath Kesari Sahkti Kalp Gold And Saffron Chwanprash

पढ़िये: डॉ ऑर्थो ऑइल | Dabur Stimulex Oil in Hindi 

संयोजन

बैद्यनाथ केसरी कल्प च्यवनप्राश की संरचना – Baidyanath Kesari Kalp Chwanprash Composition in Hindi

निम्न घटक केसरी कल्प च्यवनप्राश में होते है।

आंवला + अश्वगंधा + बादाम + केसर + स्वर्ण भस्म + अभ्रक भस्म + सफेद मुसली + इलायची + शतावरी + पिस्ता

बैद्यनाथ केसरी कल्प च्यवनप्राश कैसे काम करता है?

केसरी कल्प च्यवनप्राश मेँ मौजूद घटकों की कार्यशैली भिन्न है।

  • आंवला एक एंटीऑक्सीडेंट यौगिक है, जो अंगों के असामान्य कार्य, तनाव, उच्च कोलेस्ट्रॉल, भूख में कमी आदि लक्षणों को ठीक करने में कारगर है। यह मुक्त कणों के ऑक्सीकरण प्रभाव को निष्क्रिय करता है। आंवला बालों के अच्छे विकास, लिपिड उत्पादन पर नियंत्रण, पाचन रस का उचित स्राव, हृदय मांसपेशियों की मजबूती आदि सभी कार्यों के लिए फायदेमंद है।
  • अश्वगंधा मानसिक स्थिरता को सुनिश्चित करने का कार्य करता है। यह पुरुषों की यौन इच्छा और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
  • बादाम स्मरण शक्ति को बढ़ाने में सहायक है। बादाम के इस्‍तेमाल से शरीर में मुक्त कणों की सक्रियता कम होती है और तनाव से छुटकारा मिलता है। बादाम उत्तेजित नसों को शांत करने और अनावश्यक वसा को कम करने का कार्य करती है।
  • केसर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह शारीरिक गर्मी बढ़ाकर सर्दी, जुखाम, कमजोरी जैसे अन्य कई मामूली लक्षणों को दूर भगाता है। आयुर्वेद में केसर का इस्तेमाल कैंसर की समस्याओं में भी किया जाता है। यह कैंसर को फैलने या बढ़ने से रोकता है।
  • स्वर्ण भस्म क्रोनिक थकान सिंड्रोम के इलाज का कार्य करता है। यह हृदय में रक्त संचरण प्रक्रिया को सामान्य बनाये रखने में मदद करता है। स्वर्ण भस्म का इस्तेमाल प्रबल यौन शक्ति को प्राप्त करने हेतु भी किया जाता है। यह खराब लीवर और लीवर के असामान्य कार्यों को ठीक करने में भी सहायक हो सकता है।
  • सफेद मूसली पुरुषों के टेस्टोस्टेरोन स्तर में सुधार करती है। यह शरीर को शक्तिशाली बनाकर बुढ़ापे को दूर करने वाला घटक है।
  • शतावरी संक्रमणों के लक्षणों को ठीक करने का कार्य करता है, जो सूक्ष्मजीवों के विकास से पैदा होते है। शतावरी प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर करने में सहायक है।
  • पिस्ता पोषण आपूर्ति का कार्य करता है, जिससे पोषक तत्वों की कमी से जन्मे रोगों का इलाज संभव होता है।

पढ़िये: इंडुलेखा हेयर ऑइल | VG-3 Tablet in Hindi

फायदे

बैद्यनाथ केसरी कल्प च्यवनप्राश के उपयोग व फायदे – Baidyanath Kesari Kalp Chwanprash Uses & Benefits in Hindi

केसरी कल्प च्यवनप्राश को निम्न अवस्था व विकार में सलाह किया जाता है।

  • सर्दी
  • खाँसी
  • जुखाम
  • बार-बार बीमार होना
  • शारीरिक कमजोरी
  • तनाव
  • हड्डियों से जुड़े रोग
  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली
  • झुर्रियां
  • अतिरिक्त चर्बी
  • आँखों के नीचे काले धब्बे
  • असामान्य रक्त प्रवाह
  • यौन दुर्बलता
  • दमा
  • सांस की तकलीफ
  • कमजोर नेत्र दृष्टि
  • भूख में कमी
  • नसों की कमजोरी

दुष्प्रभाव

बैद्यनाथ केसरी कल्प च्यवनप्राश के दुष्प्रभाव – Baidyanath Kesari Kalp Chwanprash Side Effects in Hindi

केसरी कल्प च्यवनप्राश से होने वाले नुकसानों की अभी तक कोई खास पुष्टि नहीं हो पाई है।

इस उत्पाद के विषय में, ये ही माना जाता है कि इससे कोई दुष्प्रभाव या शारीरिक नुकसान नहीं होता है।

ये उत्पाद हर स्थितियों के लिए पूर्णतया सुरक्षित है।

पढ़िये: एम-2 टोन सिरप | Sanyasi Sehat Tablet in Hindi

खुराक

बैद्यनाथ केसरी कल्प च्यवनप्राश की खुराक – Baidyanath Kesari Kalp Chwanprash Dosage in Hindi

आमतौर पर, केसरी कल्प च्यवनप्राश की ज्यादातर मामलों में सुझाव की जाने वाली खुराक कुछ इस प्रकार है-

उत्पाद खुराक

Baidyanath Kesri Kalp Chwanprash
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 2 छोटी चम्मच
  • कब लें: सुबह और शाम
  • खाने के पहले या बाद: कभी भी
  • लेने का माध्यम: दूध के साथ

केसरी कल्प च्यवनप्राश की खुराक का सेवन सोने के पहले करने से पेट की समस्याओं में लाभ मिलता है।

सावधानी

भोजन

हर प्रकार के खाद्य सामग्री के साथ केसरी कल्प च्यवनप्राश सुरक्षित है।

लत लगना

नहीं, केसरी कल्प च्यवनप्राश की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और केसरी कल्प च्यवनप्राश की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

हाँ, गर्भवती महिलाओं के लिए यह दवा सुरक्षित है।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए केसरी कल्प च्यवनप्राश बिल्कुल सुरक्षित है।

ड्राइविंग

केसरी कल्प च्यवनप्राश के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

अन्य बीमारी

अन्य कोई बड़ी बीमारी होने पर केसरी कल्प च्यवनप्राश का उपयोग डॉक्टर की सलाह अनुसार करें।

पढ़िये: आदिवासी नीलांबरी हेयर ऑइल | Mahatriphala Ghrita in Hindi

कीमत

बैद्यनाथ केसरी कल्प च्यवनप्राश को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

सवाल-जवाब

क्या केसरी कल्प च्यवनप्राश वात और पित्त के इलाज में सहायक है?

हाँ, यह आयुर्वेदिक दवा वात और पित्त की समस्या के इलाज में सहायक हो सकती है।

क्या केसरी कल्प च्यवनप्राश को लंबे समय के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है?

जैसा कि इस आयुर्वेदिक दवा के बारें में माना जाता है कि इस दवा के सेवन से इसकी आदत नहीं लगती है। इसलिए बिना संकोच इस दवा को लंबे समय के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

क्या केसरी कल्प च्यवनप्राश की खुराक एकदम से बंद करना सुरक्षित है?

हाँ, यकीनन इसे बिना किसी दुष्प्रभावों के कभी-भी बंद किया जा सकता है।

क्या केसरी कल्प च्यवनप्राश से पेट पर कोई बुरा असर पड़ता है?

उत्तर: नहीं, इस दवा से पेट पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता है। केसरी कल्प च्यवनप्राश द्वारा पाचन समस्याओं का इलाज कर पेट पर सकारात्मक प्रभाव देखा जा सकता है।

क्या केसरी कल्प च्यवनप्राश यौन रोगों के इलाज में सहायक है?

केसरी कल्प च्यवनप्राश में मौजूद अश्वगंधा और सफेद मूसली जैसे घटक यौन दुर्बलता के संकेतों को दूर करने में सहायक हो सकते है।

क्या केसरी कल्प च्यवनप्राश कैल्शियम की आपूर्ति करने में सहायक है?

केसरी कल्प च्यवनप्राश में मौजूद घटकों में विटामिन सी और कैल्शियम होता है। यह उत्पाद विटामिन के साथ-साथ कैल्शियम की आपूर्ति करने में भी सहायक हो सकता है और हड्डियों की कमजोरी को भी दूर करती है।

क्या केसरी कल्प च्यवनप्राश मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करने वाली दवा है?

नहीं, यह उत्पाद मासिक धर्म चक्र को प्रभावित नहीं करता है।

क्या केसरी कल्प च्यवनप्राश भारत में लीगल है?

हाँ, यह उत्पाद भारत में पूर्णतया लीगल है।

पढ़िये: हिमालया स्पेमन टैबलेट | Patanjali Ashvashila Capsule in Hindi 

Leave a Comment

Your email address will not be published.