निर्माता

Dr Ortho Ayurvedic

कीमत

Rs 208 (100 ml)

Dr Ortho Oil की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन अलसी तेल + कपूर तेल + पुदीना तेल + ज्योतिष्मती तेल + तिल तेल + गंधपुरा तेल + चीड़ तेल + निगुंडी तेल
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Dr ortho oil

डॉ ऑर्थो ऑयल के फायदे, नुकसान, प्रयोग विधि, सावधानी | Dr Ortho Oil in Hindi

परिचय

डॉ ऑर्थो ऑयल क्या है?-What is Dr Ortho Oil in Hindi

डॉ ऑर्थो ऑयल दर्दभरी स्थितियों के लिए एक बेहद उपयोगी आयुर्वेदिक विकल्प है।

डॉ ऑर्थो ऑयल एक विश्वनीय ब्रांड है, जो अंगों के गंभीर दर्द से राहत दिलाने वाला तेल है। यह तेल शीघ्र प्रभावी है, जो त्वचा में आसानी से समा जाता है।

बढ़ती उम्र के साथ हर दूसरे व्यक्ति में जोड़ों की परेशानी उभरकर सामने आती है, जिससे उम्र के साथ-साथ दैनिक कठिनाइयां ओर बढ़ जाती है, इसलिए यह तेल अधिकतर उम्रदराज लोगों द्वारा इस्तेमाल होता है।

डॉ ऑर्थो ऑयल का उपयोग मांसपेशियों, पैर, गर्दन, कंधे, पीठ, घुटने, कोहनी, एड़ी और अन्य कई जोड़ो के दर्द से छुटकारा पाने हेतु किया जाता है।

यह तेल मोच या किसी अन्य कारण से हुए दर्द से छुटकारा दिलाने में भी कारगर हो सकती है। यह एक OTC उत्पाद है, जिसे खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची जरूरी नहीं है।

पढ़िये: गोखरू के फायदे | Dabur Stimulex Oil in Hindi

संयोजन

डॉ ऑर्थो ऑयल की संरचना-Dr Ortho Oil Composition in Hindi

निम्न घटक डॉ ऑर्थो ऑयल में होते है।

अलसी तेल + कपूर तेल + पुदीना तेल + ज्योतिष्मती तेल + तिल तेल + गंधपुरा तेल + चीड़ तेल + निगुंडी तेल

डॉ ऑर्थो ऑयल कैसे काम करता है?

  • डॉ ऑर्थो ऑयल दर्द से प्रभावित अंगों में रक्त परिसंचरण को उत्तेजित करने का कार्य करती है, जिससे दर्द और सूजन कम हो जाती है।
  • अलसी के तेल में ओमेगा 3-फैटी एसिड होता है, जो मांसपेशियों की सूजन के लिए जिम्मेदार एंजाइमों को दबाने का कार्य करता है।
  • कपूर का तेल अंदुरुनी दर्द को ठीक करने के साथ-साथ बाहरी त्वचा की रखरखाव में भी सहायक होता है।
  • पुदीना तेल में एंटी-स्पास्मोडिक (Antispasmodic) और दर्दनिवारक गुण होते है, जो मांसपेशियों की ऐंठन और दर्द को दूर करने का कार्य करते है।
  • तिल का तेल हल्के दर्द से लेकर गंभीर दर्द तक निजात दिलाने का कार्य करता है।
  • ज्योतिष्मती तेल में कुछ फाइटोकेमिकल्स मौजूद होते है, जो मांसपेशियों, जोड़ों और कंधे से जुड़े दर्द के संकेतों को कम करते है

पढ़िये: हिमालया स्पेमन टैबलेट | Patanjali Ashvashila Capsule in Hindi 

फायदे

डॉ ऑर्थो ऑयल के उपयोग व फायदे-Dr Ortho Oil Uses & Benefits in Hindi

डॉ ऑर्थो ऑयल को निम्न अवस्था व विकार में सलाह किया जाता है। डॉ ऑर्थो ऑयल का उपयोग डॉक्टर से व्यक्तिगत सलाह लेकर करना उचित है।

  • मांसपेशियों के दर्द
  • जॉइन में दर्द
  • मस्तिष्क के दर्द
  • गर्दन दर्द
  • कमर दर्द
  • एडी दर्द
  • कोहनी दर्द
  • गठिया
  • कंधे के दर्द
  • हथेली के दर्द

दुष्प्रभाव

डॉ ऑर्थो ऑयल के दुष्प्रभाव-Dr Ortho Oil Side Effects in Hindi

डॉ ऑर्थो ऑयल एक आयुर्वेदिक औषधि है, जो हर तरह के दुष्प्रभावों से मुक्त है।

यह तेल आसानी से बाहरी सतह में लीन हो जाता है और प्रभावित क्षेत्र पर फैल जाता है।

उम्र और दर्द की गंभीरता के आधार पर इस तेल की सटीक मात्रा की जानकारी के लिए डॉक्टर से परामर्श करें।

पढ़िये: हिमालया कॉन्फिडो टैबलेट Patanjali Drishti Eye Drop in Hindi 

प्रयोग विधि

डॉ ऑर्थो ऑयल की प्रयोग विधि-Dr Ortho Oil Dosage in Hindi

उत्पाद प्रयोग विधि
use in hindi
Dr Ortho Oil
  • लेने का तरीक़ा: अंगों पर आवेदन
  • कितना लें:5 से 10 ml
  • कब लें:कभी भी
  • खाने से पहले या बाद:कभी भी
  • उपचार अवधि:डॉक्टर की सलाह अनुसार

डॉ ऑर्थो ऑयल का बाहरी इस्तेमाल किया जाता है। इस तेल को दर्द वाली जगह पर लगाया जाता है।

डॉ ऑर्थो ऑयल की सही मात्रा के बारें में सूचना हेतु चिकित्सक या विशेषज्ञ का सहारा लें।

डॉ ऑर्थो ऑयल की 5 से 10ml मात्रा हथेली पर लेकर प्रभावित क्षेत्र पर हल्के हाथों से मालिश करें। इसे दिन में दो बार दोहराने से कम समय में ज्यादा फायदा मिलता है।

छोटे बच्चों में इस तेल का इस्तेमाल बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह अनुसार ही करें।

ज्यादातर मामलों में, डॉ ऑर्थो ऑयल को चिकित्सक द्वारा बताये गए तरीकों के अनुसार ही इस्तेमाल करें। एक्सपायरी तेल के इस्तेमाल से हमेशा बचें।

सावधानी

भोजन

हर प्रकार के खाद्य सामग्री के साथ डॉ ऑर्थो ऑयल सुरक्षित है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ डॉ ऑर्थो ऑयल की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, डॉ ऑर्थो ऑयल की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और डॉ ऑर्थो ऑयल की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए डॉ ऑर्थो ऑयल का इस्तेमाल शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर, डॉ ऑर्थो ऑयल के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है।

ड्राइविंग

डॉ ऑर्थो ऑयल के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

अन्य बीमारी

अन्य कोई बड़ी बीमारी होने पर डॉ ऑर्थो ऑयल का उपयोग डॉक्टर की सलाह अनुसार करें।

पढ़िये: पतंजलि दिव्य अणु तेल | Triphala Churna in Hindi

कीमत

डॉ ऑर्थो ऑयल को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

सवाल-जवाब

क्या डॉ ऑर्थो ऑयल लकवाग्रस्त मरीज को ठीक करने में सहायक है?

नहीं, यह तेल लकवाग्रस्त लोगों को ठीक करने में सक्षम नहीं है, क्योंकि यह तेल बेजान अंगों की हलचल कराने में सहायक नहीं है। यह सिर्फ नए और पुराने दर्द से छुटकारा दिलाकर शारीरिक गतिशीलता को बनायें रखने में मददगार है।

क्या डॉ ऑर्थो ऑयल खुले घावों के दर्द को मिटाने में सहायक है?

इस तेल का उपयोग खुले घावों पर न करें। ऐसा करने पर घावों में जलन हो सकती है।

क्या डॉ ऑर्थो ऑयल के इस्तेमाल को एकदम से बंद किया जा सकता है?

कोई मरीज इस आयुर्वेदिक तेल को बंद करना चाहता है, तो वह बेशक इस तेल का इस्तेमाल बंद कर सकता है। इससे कोई शारीरिक दुष्प्रभाव या हानि नहीं होती है।

क्या डॉ ऑर्थो ऑयल का असर कितने समय में दिखना शुरू होता है?

इस तेल का उपयोग शुरू करने के बाद कुछ सप्ताहों में इसका असर दिखना शुरू हो जाता है।

क्या डॉ ऑर्थो ऑयल भारत में लीगल है?

हाँ, यह आयुर्वेदिक तेल भारत में पूर्णतया लीगल है और आसानी से उपलब्ध है।

पढ़िये: केसरी कल्प च्यवनप्राश | Halwa Fauladi F in Hindi

1 thought on “डॉ ऑर्थो ऑयल के फायदे, नुकसान, प्रयोग विधि, सावधानी | Dr Ortho Oil in Hindi”

  1. क्या ये टेल एकवेल्सिंग स्पॉन्डिलाइटिस बीमारी में असरदार है अगर है केसे इस्तेमाल करे ये भी बताना

Leave a Comment

Your email address will not be published.