Rhuma Oil

Rhuma Oil के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | रूमा ऑइल

Rhuma Oil क्या है?

Rhuma Oil प्राकृतिक घटकों के संयोजन से बना एक पैन रिलीफ प्रॉडक्ट है।

बढ़ती उम्र या खेल की चोंट से होने वाले घुटनों के दर्द में यह तेल काफी लाभदायक साबित हो सकता है।

इस हर्बल उत्पाद को खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची जरूरी नहीं है क्योंकि यह OTC वर्ग से तालुकात रखता है और इसे खरीदना बेहद आसान है।

दैनिक कामकाज में रुकावट बनने वाले रूमेटाइड आर्थराइटिस के मामलों में इस तेल की मालिश असरदार साबित होती है।

इसके अलावा, इस तेल का प्रयोग कमर दर्द, पीठ दर्द, मांसपेशियों के दर्द जैसी शिकायतों में भी किया जा सकता है। यह प्रॉडक्ट Dr. Ortho Oil का एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

नामRhuma Oil
निर्माता (Manufacturer)SHREE BAIDYANATH AYURVED BHAWAN PVT. LTD
संरचना (Composition)अश्वगंधा + शतावरी + गंधपुरा + कपूर + प्रसारिणी + धतूरापंचांग + कुचला + एरंडमूल + तारपीन
दवा-प्रकार (Type of Drug)आयुर्वेदिक
डॉक्टरी पर्ची (Prescription)आवश्यक नहीं
कीमत (Price)170 रूपये (100ml)

पढ़िये: टक्ज़िमा ऑइंटमेंट | Nervijen Plus Capsule in Hindi

Rhuma Oil कार्यशैली

  • अश्वगंधा एक शक्तिशाली जड़ी-बूटी है, जो चोंट की सूजन व दर्द को दूर करने में मददगार है। यह शारीरिक थकावट को दूर कर शरीर में नई ऊर्जा का संचार करता है।
  • शतावरी विटामिन K का एक बेहतरीन स्त्रोत है, जो हड्डियों की कमजोरी को दूर कर सकता है। यह शरीर में कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाकर गठिया व ऑस्टियोपोरोसिस के मामलों में काफी फायदेमंद हो सकती है।
  • गंधपुरा एक अतिशीघ्र दर्द राहतकारी दर्द एजेंट है। यह मोच, ऐंठन, तंत्रिका संबंधी दर्द, सूजन, संधिशोध आदि कई लक्षणों में राहत देने के लिए प्रचलित है।
  • कपूर में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाये जाते है, इसलिए यह मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने में मददगार हो सकता है।
    यह रक्त के प्रवाह को बढ़ाकर घुटनों के दर्द से राहत प्रदान कर सकता है।
  • प्रसारिणी रूमेटाइड आर्थराइटिस की समस्या को बढ़ने से रोकता है।
  • धतूरापंचांग गठिया रोग के लिए बेहद असरदार जड़ी-बूटी है, जो इस दवा के प्रभाव को ओर शक्तिशाली बनाता है।

रूमा ऑइल के उपयोग व फायदे – Rhuma Oil Benefits & Uses in Hindi

निम्न अवस्था या विकार में Rhuma Oil को विशेषज्ञ द्वारा रोगी को सलाह किया जाता है। Rhuma Oil का उपयोग विशेषज्ञ से व्यक्तिगत सलाह बिना लिए ना करें।

  • रूमेटाइड आर्थराइटिस
  • गाउट
  • मांसपेशियों में दर्द व सूजन
  • कमर दर्द
  • ऑस्टियोपोरोसिस
  • जॉइंट पैन

रूमा ऑइल के दुष्प्रभाव – Rhuma Oil Side Effects in Hindi

इस हर्बल तेल के इस्तेमाल से किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिलता है क्योंकि यह केवल बाहरी इस्तेमाल के लिए है। लेकिन इसे खुले अंगों या घावों पर इस्तेमाल करने से जलन का अनुभव हो सकता है।

पढ़िये: लिव अमृत सिरप | Indulekha Hair Oil in Hindi

रूमा ऑइल की खुराक – Rhuma Oil Dosage in Hindi

  • खुराक विशेषज्ञ द्वारा Rhuma Oil की रोगी की अवस्था अनुसार दी जाती है। इसलिए Rhuma Oil का उपयोग विशेषज्ञ से सलाह लेने के बाद शुरू करें।
  • एक सामान्य व्यक्ति इस तेल को दिन में दो बार इस्तेमाल कर सकता है।
  • इस तेल की थोड़ी-सी मात्रा हथेली पर लेकर प्रभावित क्षेत्र पर हल्के हाथों से 5 से 10 मिनट मालिश करें।
  • इसकी सही उपचार अवधि जानने के लिए फिजिशियन से कंसल्ट लें।

सावधानियां – Rhuma Oil Precautions in Hindi

निम्न सावधानियों के बारे में Rhuma Oil के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

किसी अवस्था से प्रतिक्रिया

निम्न अवस्था व विकार में Rhuma Oil से दुष्प्रभाव की संभावना ज्यादा होती है। इसलिए जरूरत पर, विशेषज्ञ को अवस्था बताकर ही Rhuma Oil की खुराक लें।

  • आगामी सर्जरी
  • एलर्जी

पढ़िये: टेंडोकेयर टैबलेट | VG-3 Tablet in Hindi

Rhuma Oil FAQ in Hindi

1) क्या Rhuma Oil गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: हाँ, यह तेल गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है।

2) क्या Rhuma Oil के इस्तेमाल से इसकी आदत लग सकती है?

उत्तर: नहीं, इस हर्बल तेल के इस्तेमाल से इसकी आदत नहीं लगती है क्योंकि यह हमारे मस्तिष्क को विवश नहीं करता है।

3) Rhuma Oil से कितने समय में असर दिखना शुरू हो सकता है?

उत्तर: इस तेल की मालिश शुरू करने के पश्चात 1 से 2 सप्ताह के भीतर इसका असर दिखना शुरू हो सकता है।

4) क्या Rhuma Oil स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: हाँ, स्तनपान कराने वाली महिलाओं में तेल की मालिश सुरक्षित है।

मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकता है?">5) क्या Rhuma Oil मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकता है?

उत्तर: नहीं, यह तेल महिलाओं के मासिक धर्म चक्र को प्रभावित नहीं करता है।

6) क्या Rhuma Oil बच्चों के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: छोटे बच्चों में इस तेल का इस्तेमाल बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह पर करें।

7) क्या Rhuma Oil हड्डियों को जोड़ने में मददगार हो सकता है?

उत्तर: नहीं। इस तेल से केवल हड्डियों व मांसपेशियों के दर्द व सूजन को ठीक किया जाता है।

8) क्या Rhuma Oil भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, यह हर्बल ऑयल भारत में पूर्णतया लीगल है।

पढ़िये: सन्यासी सेहत टैबलेट | Adivasi Neelambari Hair Oil in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.