निर्माता

Patanjali Ayurved Limited

कीमत

Rs 90 (50 gm)

Patanjali Kanti Lep की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन मंजिष्ठा + श्वेत चंदन + जायफल + मेहंदी बीज + हल्दी + इलायची + कत्था + कपूर + सुंगधबला + मोती पिष्टी + स्फटिक भस्म
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Patanjali Kanti Lep

पतंजलि कांति लेप के फायदे, नुकसान, प्रयोग विधि, सावधानी | Patanjali Kanti Lep in Hindi

परिचय

पतंजलि कांति लेप क्या है? – What is Patanjali Kanti Lep in Hindi

पतंजलि का यह उत्पाद आयुर्वेदिक घटकों के संगम से बना है, जो विशेषकर त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं से राहत प्रदान करने में सहायक है।

यह त्वचा कोशिकाओं को पोषण देने, खनिज पदार्थों की आपूर्ति करने, डेड स्किन को निकालने, दाग-धब्बों को दूर करने, खून को साफ करने, जीवाणु संक्रमण को मिटाने, मुंह के छाले ठीक करने, झुर्रियों को बनने से रोकने वाला एक चमत्कारी पाउडर है।

यह संयोजन त्वचा में नमी को बढ़ाकर सूखी त्वचा से राहत देता है।

यह त्वचा की सुस्ती व लाइन को मिटाकर शरीर की खूबसूरती और सौंदर्य को बढ़ाने में मददगार साबित होता है, इसके अलावा, यह लेप डार्क सर्कल को साफ करने में भी असरदार सिद्ध होता है।

यह पाउडर हमारी त्वचा में कांति लाने का कार्य करती है क्योंकि इसमें डिटॉक्सिफाइंग और मोइस्चराइजिंग गुण शामिल होते है।

हर आयुर्वेदिक स्टोर पर बिना डॉक्टरी पर्चे के आसानी से उपलब्ध हो जाता है।

पढ़िये: डाबर रत्नप्राश | Dabur Pudin Hara in Hindi

संयोजन

पतंजलि कांति लेप की संरचना – Patanjali Kanti Lep Composition in Hindi

निम्न घटक पतंजलि कांति लेप में बताई मात्रा में होते है।

मंजिष्ठा + श्वेत चंदन + जायफल + मेहंदी बीज + हल्दी + इलायची + कत्था + कपूर + सुंगधबला + मोती पिष्टी + स्फटिक भस्म

फायदे

पतंजलि कांति लेप के उपयोग व फायदे – Patanjali Kanti Lep Uses & Benefits in Hindi

इस लेप से प्राप्त होने वाले फायदें निम्नलिखित है-

सौंदर्य को बढ़ाने में मददगार

चेहरे पर इस लेप का आवरण नियमित करने से यह त्वचा के उन विकारों को समेट लेता है, जो हमारी सौन्दर्यता को बिगाड़ने के लिए जिम्मेदार होते है। यह लेप त्वचा को आम लक्षणों से मुक्त कर त्वचा को साफ और सुंदर बना सकता है, जिससे मुख पर प्राकृतिक सौंदर्य झलकने लगता है।

झुर्रियों की समस्या का निवारण

दैनिक जीवन में गलत तौर-तरीकों को अपनाने से कम उम्र में ही हमारी त्वचा ढीली और लटकने लगती है। इस पर झुर्रियां दिखने लगती है, जिससे वाकई हमारी उम्र ज्यादा दिखने लगती है। ऐसे में, इस लेप का उपचार लेने से कुछ ही समय में त्वचा जवां और झुर्रियों मुक्त होने लगती है।

त्वचा के दाग-धब्बों को मिटाने में सहायक

यह लेप त्वचा पर मौजूद कई दाग-धब्बे, डार्क सर्कल, खिंचाव, निशान आदि से छुटकारा दिलाकर चेहरे की सुस्ती मिटा सकता है। इससे हमारी स्किन में ग्लो और हल्का फेयरनेस आने लगता है।

त्वचा को पोषण प्रदान करने में असरदार

इस कांति लेप में शामिल घटकों में त्वचा को देने के लिए विटामिन और खनिज की भरपूर मात्रा होती है, यह त्वचा में रक्त प्रवाह को सुधार कर स्किन को पोषण देने का कार्य करता है। यह लेप हमारी स्किन टोन को सुधारने में भी काफी मददगार साबित हो सकता है।

एक्जिमा के उपचार में प्रभावी

त्वचा पर जलन, खुजली, लालिमा और सूजन जैसे लक्षणों में सकारात्मक प्रभाव देकर यह लेप एक्जिमा के खतरे को टाल सकता है। यदि आपकी स्किन ज्यादा ड्राई है तो इसे ताजे दूध के साथ मिलाकर चेहरे पर लेपित किया जा सकता है।

पढ़िये: टाइगर किंग क्रीम | Bleminor Cream in Hindi

दुष्प्रभाव

पतंजलि कांति लेप के दुष्प्रभाव – Patanjali Kanti Lep Side Effects in Hindi

इस उत्पाद के कुछ सामान्य दुष्प्रभाव देखने को मिल सकते है, जो कि हर किसी को नहीं होते है।

  • चक्कर
  • बेचैनी
  • मतली
  • मांसपेशियों में कमजोरी

प्रयोग विधि

पतंजलि कांति लेप की प्रयोग विधि – How to Use Patanjali Kanti Lep in Hindi

उत्पाद प्रयोग विधि
use in hindi
Patanjali Kanti Lep
  • लेने का तरीक़ा: त्वचा
  • कितना लें: आवश्यकतानुसार
  • कब लें: दिन में एक बार
  • उपचार अवधि: डॉक्टर की सलाह अनुसार

इसकी एक छोटी चम्मच मात्रा लेकर उसमें दूध या गुलाब जल को मिलाएं। मात्रा के अनुसार ही पाउडर का इस्तेमाल करें ताकि पेस्ट थोड़ा गाढ़ा बन सकें।

इस पेस्ट को साफ उंगलियों के द्वारा त्वचा पर लागू करें। इसे ज्यादा न रगड़ें अपितु लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें।

यदि चेहरे पर लगाया जाता है, तो 15 मिनट तक इस लेप को चेहरे पर लगे रहने दें।

इसके बाद प्रभावित क्षेत्र को पानी से धो लें। इसके लिए आप किसी हर्बल फेस वॉश का उपयोग कर सकते है।

छोटे बच्चों की स्किन कोमल होने के कारण इसे बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह से देना ज्यादा उचित रहता है।

पढ़िये: विको टरमरिक क्रीम | Herbalife Aloe Plus in Hindi 

सावधानी

निम्न सावधानियों के बारे में पतंजलि कांति लेप के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

भोजन

इसका प्रयोग शुरू करने पर कुछ समय तक आप हल्के भोजन का सेवन करें। भारी भोजन, तेल और खटाई को नजरअंदाज करें।।

जारी दवाई

Antidiabetes Drugs, Sevoflurane या Warfarin जैसे रासायनिक घटकों के साथ पतंजलि कांति लेप का इस्तेमाल न करें।

लत लगना

नहीं, पतंजलि कांति लेप के इस्तेमाल से आदत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब और पतंजलि कांति लेप की साथ में प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था एक संवेदनशील अवस्था है, इसलिए पतंजलि कांति लेप का इस्तेमाल शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर, पतंजलि कांति लेप के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है।

ड्राइविंग

पतंजलि कांति लेप के इस्तेमाल से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

अन्य बीमारी

आगामी सर्जरी, एलर्जी या अतिसंवेदनशीलता के मामलों में पतंजलि कांति लेप का उपयोग डॉक्टर की सलाह अनुसार करें।

कीमत

पतंजलि कांति लेप को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

पढ़िये: हिमालया आयूरस्लिम | Good Health Capsule in Hindi

सवाल-जवाब

क्या पतंजलि कांति लेप को घाव पर इस्तेमाल कर सकते है?

यह केवल बाहरी इस्तेमाल के लिए है। हल्के घावों पर इसका प्रयोग किया जा सकता है, लेकिन जटिल चोंट या गंभीर घावों पर इस लेप के इस्तेमाल से पूरी तरह बचा जाना चाहिए।

क्या पतंजलि कांति लेप को मुहांसो के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है?

हाँ, इस लेप को पिम्पल्स की समस्याओं के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके साथ डेली डाइट और एक्सरसाइज पर भी पूरा ध्यान दें।

क्या पतंजलि कांति लेप मधुमेह के मरीजों में सुरक्षित है?

मधुमेह से जुड़े लोग इस उत्पाद को अपने चिकित्सक की सलाह से इस्तेमाल करें क्योकि इस विषय में ज्यादा जानकारी प्राप्त नहीं है।

क्या पतंजलि कांति लेप महिलाओं के मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकता है?

नहीं, यह लेप महिलाओं के मासिक धर्म चक्र को प्रभावित नहीं करता है।

क्या पतंजलि कांति लेप भारत में लीगल है?

हाँ, यह आयुर्वेदिक उत्पाद भारत में पूर्णतया लीगल है।

पढ़िये: अश्वगंधारिष्ट Muktashukti Bhasma in Hindi 

Leave a Comment

Your email address will not be published.