निर्माता

Dabur India Ltd

कीमत

Rs 190 (100 gm)

Dhatupaushtik Churna की जानकारी
उत्पाद प्रकार Ayurvedic
संयोजन अश्वगंधा + गोखरू + शतावरी + सफेद मूसली + विधारा + काली मिर्च + सालम मिश्री
डॉक्टर की पर्ची जरुरी नहीं
Dhatupaushtik Churna

धातुपौष्टिक चूर्ण के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | Dhatupaushtik Churna in Hindi

परिचय

धातुपौष्टिक चूर्ण क्या है? – What is Dhatupaushtik Churna in Hindi

धातुपौष्टिक चूर्ण यौन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने हेतु चमत्कारी प्राकृतिक जड़ी-बूटियों युक्त एक आयुर्वेदिक चूर्ण है।

इसे खरीदने के लिए डॉक्टरी पर्चे की आवश्यकता नहीं होती है, क्योंकि यह OTC रूप में उपलब्ध है।

वैवाहिक जीवन में अपनी पीढ़ी को आगे बढ़ाने में असक्षम होने वाले पुरुषों के लिए यह चूर्ण बेहद फायदेमंद हो सकती है क्योंकि यह वीर्य से जुड़ी समस्त शिकायतों का समाधान कर सकती है।

यह यौन धातुओं की पुष्टि कर शुक्राणुओं की कमी, नपुंसकता, शीघ्रपतन, यौन शक्ति में कमी, खराब स्पर्म काउंट या खराब स्पर्म क्वालिटी आदि सभी स्थितियों के लिए एक अच्छी वैकल्पिक चूर्ण साबित हो सकती है।

इस चूर्ण का इस्तेमाल पुरुषों के लिए सुरक्षित होता है लेकिन महिलाओं में इसे चिकित्सक की मंजूरी से ही इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

पढ़िये: क्यूट बी क्रीम | Farbah Oil in Hindi 

संयोजन

धातुपौष्टिक चूर्ण की संरचना – Dhatupaushtik Churna Composition in Hindi

इसमें शामिल मुख्य घटक कुछ इस प्रकार है-

अश्वगंधा + गोखरू + शतावरी + सफेद मूसली + विधारा + काली मिर्च + सालम मिश्री

फायदे

धातुपौष्टिक चूर्ण के उपयोग व फायदे – Dhatupaushtik Churna Benefits & Uses in Hindi

इस चूर्ण से निम्नलिखित फायदें हो सकते है।

कामेच्छा में सुधार

यौन दुर्बलता से पीड़ित वयस्क कामेच्छा में कमी का शिकार जल्दी होता है। कामशक्ति को तंदुरुस्त बनायें रखने वाले विशेष गर्म घटक इस उत्पाद में शामिल है, जो कामेच्छा में सुधार कर यौन इच्छा को प्रबल बना सकती है।

नपुंसकता से छुटकारा

पुरुष गुप्तांग की आंतरिक व बाहरी उत्तेजना का प्रभावित होना नपुंसकता का कारण बन सकता है। नशीले उत्पादों के लगातार सेवन से भी यौन इच्छा पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए इस चूर्ण को लेने के साथ एक्सरसाइज और नशीले पदार्थों से दूर रहने पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए।

यह शिश्न में उत्तेजना पैदा कर नपुंसकता से छुटकारा दिलाने में सहायक हो सकती है।

शीघ्रपतन का इलाज

संभोग के दौरान सामान्य अवधि से जल्दी वीर्य स्खलन हो जाना शीघ्रपतन कहलाता है, जिससे ग्रसित पुरुष कुछ ही समय में डिस्चार्ज हो जाता है। यह चूर्ण नसों अथवा मांसपेशियों को मजबूत कर वीर्य को जल्दी निकलने से रोक सकती है और पुरुष प्रदर्शन में सुधार कर सकती है।

शुक्राणुओं से जुड़ी समस्या का निपटारा

अत्यधिक हस्तमैथुन या अन्य किसी कारणवश शुक्राणुओं से जुड़ी समस्याओं में यह चूर्ण बेहतर इलाज कर सकती है।
अल्प शुक्राणु, खराब स्पर्म काउंट या क्वालिटी जैसे मामलों में गर्भधारण करना कठिन हो सकता है, क्योंकि कमजोर शुक्राणु अंड निषेचन प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं कर पाते है।

पढ़िये: डाबर हाजमोला Navratna Tel in Hindi 

दुष्प्रभाव

धातुपौष्टिक चूर्ण के दुष्प्रभाव – Dhatupaushtik Churna Side Effects in Hindi

इस चूर्ण से होने वाले दुष्प्रभाव हर किसी के लिए संभव नहीं है।

पाचन तंत्र की खराबी के समय यह चूर्ण पेट में कब्ज तथा भूख में कमी का कारण बन सकती है।

यदि इससे कोई समय तक कोई दुष्प्रभाव रहता है तो अपने चिकित्सक की सलाह पर ही दुबारा शुरू करें।

खुराक

धातुपौष्टिक चूर्ण की खुराक – Dhatupaushtik Churna Dosage in Hindi

खुराक विशेषज्ञ द्वारा धातुपौष्टिक चूर्ण की रोगी की अवस्था अनुसार दी जाती है।

इसलिए धातुपौष्टिक चूर्ण का उपयोग विशेषज्ञ से सलाह लेने के बाद शुरू करें।

आमतौर पर, धातुपौष्टिक चूर्ण की ज्यादातर मामलों में सुझाव की जाने वाली खुराक कुछ इस प्रकार है-

उत्पाद खुराक
use in hindi
Dhatupaushtik Churna
  • लेने का तरीक़ा: मौखिक खुराक
  • कितना लें: 1 छोटी चम्मच
  • कब लें: सुबह और शाम
  • खाने से पहले या बाद: खाने के बाद
  • लेने का माध्यम: दूध के साथ
  • उपचार अवधि: 3 महीने

इसकी अधिकतम दैनिक खुराक 12gm तक सुरक्षित है।

यह चूर्ण बच्चों में अनुशंसित नहीं है।

इसकी एक खुराक छूट जाने पर अगली खुराक का समय होने से पहले छुटी हुई खुराक को लिया जा सकता है।

इसके गलत इस्तेमाल या ओवरडोज से बचने का प्रयास करें।

पढ़िये: आरसीएम गामा ओरिजनोल | Nutricharge Veg Omega in Hindi 

सावधानी

निम्न सावधानियों के बारे में धातुपौष्टिक चूर्ण के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

भोजन

भिन्न खाद्य सामग्री के साथ धातुपौष्टिक चूर्ण की प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

जारी दवाई

अन्य जारी दवाई और घटक के साथ धातुपौष्टिक चूर्ण की प्रतिक्रिया की उपयुक्त जानकारी नहीं है।

लत लगना

नहीं, धातुपौष्टिक चूर्ण की लत नहीं लगती है।

ऐल्कोहॉल

शराब के साथ धातुपौष्टिक चूर्ण के सेवन से परहेज़ रखें।

गर्भावस्था

इस विषय में ज्यादा जानकारी हेतु अपने चिकित्सक की सलाह ले सकते है।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर, धातुपौष्टिक चूर्ण के प्रभाव की जानकारी अज्ञात है।

ड्राइविंग

धातुपौष्टिक चूर्ण के सेवन से ड्राइविंग क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

अन्य बीमारी

एलर्जी या अतिसंवेदनशीलता के मामलों में धातुपौष्टिक चूर्ण का उपयोग डॉक्टर की सलाह अनुसार करें।

कीमत

धातुपौष्टिक चूर्ण को आप अमेजन से कुछ प्रतिशत छूट पर ऑनलाइन खरीद सकते है-

पढ़िये: हिमालया हड़जोड़ | Himalaya Hairzone Solution in Hindi 

सवाल-जवाब

धातुपौष्टिक चूर्ण की लगातार दो खुराकों के बीच कितना समय अंतराल उचित है?

इसकी दो लगातार खुराकों के बीच 4 से 6 घंटों का समय अंतराल उचित है।

क्या धातुपौष्टिक चूर्ण मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकती है?

इसे महिलाओं द्वारा इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। अतः यह मासिक धर्म चक्र के लिए मुसीबत का कारण बन सकती है।

क्या धातुपौष्टिक चूर्ण को अन्य एलोपैथिक दवाओं के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है?

इस उत्पाद को किसी अन्य एलोपैथिक दवाओं के साथ इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक की राय अवश्य लें।

क्या धातुपौष्टिक चूर्ण शिश्न के आकार को बढ़ा सकती है?

यह चूर्ण पेनिस के इरेक्शन में सुधार अवश्य कर सकती है, परंतु उसके आकार को बढ़ा करने में असक्षम है।

क्या धातुपौष्टिक चूर्ण भारत में लीगल उत्पाद है?

हाँ, यह उत्पाद भारत में पूर्णतया लीगल है।

पढ़िये: हर्बोलेक्स टैबलेट Sanjivani Vati in Hindi 

Leave a Comment

Your email address will not be published.