Indulekha Hair Oil in Hindi

Indulekha Hair Oil के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | इंडुलेखा तेल

Indulekha Oil क्या है?

इंदुलेखा तेल बालों की समग्र समस्याओं का एक आयुर्वेदिक उपचार है। यह तेल बेहद सकारात्मक प्रभावों के साथ बालों पर कार्य करता है। इसके 3 से 4 महीनों के उपयोग से यकीनन शानदार परिणाम देखने को मिलते है, लेकिन बालों के झड़ने की समस्या कई कारणों से होती है, जो इस तेल के प्रभावों की गारंटी का कम कर सकते है।

यह तेल बालों की जड़ों को मजबूत कर बालों को पोषण प्रदान करता है, जिससे बालों के विकास में मदद मिलती है और बालों का झड़ना कम होता है।

इंदुलेखा तेल बिना किसी दुष्प्रभाव वाला एक चमत्कारी तेल है, पर इसकी गंध थोड़ी तेज होती है और यह बालों में चिपचिपा हो सकता है।
इस हर्बल तेल के उपयोग से नये बाल उगते है और बालों में घनापन और कालापन नजर आने लगता है। इसकी मालिश से तनाव दूर होता है तथा बालों की चमक बढ़ती है।

रात को सोने से पहले इस तेल से अच्छे से मालिश कर अगले दिन सुबह किसी हर्बल शेम्पू से बालों को वॉश करें, ऐसा सप्ताह में दो या तीन बार करने से बालों का टूटना कम हो जाएगा।

यह प्रभावी तेल लोगों में काफी पसंदीदा बन चुका है और इसे खरीदने के लिए किसी डॉक्टरी पर्चे की आवश्यकता भी नहीं होती है।

नामIndulekha Hair Oil
निर्माता (Manufacturer)Hindustan Unilever Limited
संरचना (Composition)आँवला + एलोवेरा + नीम + मुलेठी + बादाम + करी पत्ता + नारियल का तेल + ब्राह्मी + भृंगराज + अमृता
डॉक्टरी पर्ची (Prescription)ज़रूरी नहीं
कीमत (Price)४३० रुपए (१००ml)

पढ़िए: टेंडोकेयर टैबलेट | VG-3 Tablet in Hindi

इंदुलेखा तेल के उपयोग व फायदे Benefits & Uses

इस तेल से होने वाले फायदों की सूची निम्नलिखित है:

बालों को झड़ने से रोकने में मददगार

यह तेल बालों की जड़ों में जाकर खोपड़ी से बालों की पकड़ को मजबूत करता है। इसमें मौजूद फैटी एसिड बालों की जड़ों को ताकत देता है तथा उन्हें टूटने से बचाता है। यह तेल बालों की ग्रोथ को बूस्ट कर सकता है।

डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा

हमारी खोपड़ी की त्वचा पर जब गंदगी जमा होने लगती है, तब डैंड्रफ की समस्या सबसे ज्यादा होने लगती है। हम जितनी मर्जी चाहे बालों को धो लें पर डैंड्रफ पुनः लौट करा ही जाता है। इस तेल की मदद से बाल मॉइस्चराइज होते है और डैंड्रफ खत्म होनर लगता है।

बालों को सफेद होने से बचायें

इंदुलेखा तेल बालों के लिए आवश्यक विटामिन और अन्य पोषक तत्वों की कमी को दूर कर बालों को सफेद होने से बचाता है। यह तेल खोपड़ी में रक्त के प्रवाह को बढ़ाकर तनाव को दूर करता है।

नये बाल उगाने में सहायक

यह तेल खोपड़ी में कॉलेजन प्रोटीन का स्तर बढ़ाकर बालों मृत कोशिकाओं को हटा देता है। इससे बालों के रोम खुलने लगते है और नये बालों का उगना शुरू हो जाता है।

बालों में रूसी की समस्या का इलाज

जब हमारे बाल पतले पड़ने लगते है और उनमें से चमक गायब होने लगती है, तब बालों का रूखी होना शुरू हो जाता है। यह तेल बालों को मोटा करने तथा बालों में बाउंस लाने में मददगार हो सकता है, इससे बालों में रूखी की समस्या नियंत्रण में रहती है।

संक्रमणों से बचाव

इसमें एंटी बैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण शामिल होते है, जो हानिकारक बैक्टीरियाओं को खत्म कर खोपड़ी और बालों को संक्रमणों से बचाने में प्रभावी हो सकता है।

पढ़िये: सन्यासी सेहत टैबलेट | Adivasi Neelambari Hair Oil in Hindi

इंदुलेखा तेल के दुष्प्रभाव – Side Effects

इस आयुर्वेदिक तेल से किसी भी प्रकार के दुष्प्रभावों की संभावना नहीं होती है। यदि इसमें मौजूद किसी घटक से एलर्जी है, तो इस तेल को त्वचा विशेषज्ञ से जांच करवाने के बाद ही इस्तेमाल करें। यह तेल सबके लिए उपयोगी साबित नहीं होता है।

इंदुलेखा तेल की प्रयोग विधि

इंदुलेखा तेल को इस्तेमाल करने से पहले सुनिश्चित कर लें कि क्या सच में आपको इस तेल की जरूरत है क्योंकि यह तेल कीमत में महंगा होता है और इससे असर की कोई गारंटी नहीं होती है।

इस तेल को रोजाना भी इस्तेमाल कर सकते है। लेकिन इसे सप्ताह में दो से चार बार इस्तेमाल करना उचित है, इससे बालों की समस्याओं को ठीक होने के लिए समय मिल जाता है।

अपने बालों की मालिश के लिए जितने तेल की आवश्यकता होती है, उतने तेल का ही इस्तेमाल करें। जरूरत से ज्यादा तेल प्रयोग में लेने से इससे कोई अतिरिक्त फायदा नहीं होगा।

कम उम्र के बच्चों में इस तेल के प्रयोग से पहले किसी अच्छे सलाहकर से सलाह लें।

इस तेल की बोतल पर एक कंघी सटी हुई होती है। इस कंघी के दांतो में छेद करें फिर तेल की बोतल के साथ ही कंघी को पूरे सिर में धीरे-धीरे खोपड़ी से सटाकर घुमाएं, इससे तेल सीधा बालों की जड़ो में जाता है। इसके बाद अपने हाथों की उंगलियों से पूरे सिर की कुछ समय तक मालिश करते रहें। ततोपरांत इसे 3 से 4 घंटों तक खुला छोड़ दें। उसके बाद, इंदुलेखा शेम्पू या किसी भी हर्बल शेम्पू से बालों को धो लें।

पढ़िये: महात्रिफला घृत | Keraglo Eva Tablet in Hindi

Indulekha Oil FAQ in Hindi

1) क्या Indulekha Oil को खुले अंगों पर इस्तेमाल किया जा सकता है?

उत्तर: नहीं, यह तेल केवल बाहरी प्रयोग के लिए है। इस तेल को बालों की समस्याओं के लिए ही इस्तेमाल करें।

2) Indulekha Oil को कितने समय तक इस्तेमाल करने की आवश्यकता होती है?

उत्तर: इस तेल का उपयोग कम से कम 3 से 4 महीनों तक करना होता है। हालांकि आमतौर पर, इससे दो सप्ताहों में असर दिखना शुरू हो जाता है।

3) क्या Indulekha Oil गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: इस विषय में ज्यादा जानकारी मौजूद नहीं है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को यह तेल किसी चिकित्सक की सलाह से इस्तेमाल करना चाहिए। 

4) क्या Indulekha Oil से आदत लग सकती है?

उत्तर: नहीं, इस तेल के उपयोग से इसकी आदत नहीं लगती है। यह तेल पूर्णतया शुद्ध हर्बल घटकों से मिलकर बना है, जो शरीर को आदत लगाने का काम नहीं करते है।

5) क्या Indulekha Oil को लगाने के बाद ड्राइविंग करना सुरक्षित है?

उत्तर: यह तेल मानसिक एकाग्रता या ड्राइविंग क्षमता को प्रभावित नहीं करता है। इस तेल को लगाने के बाद ड्राइविंग करना आपका निजी निर्णय हो सकता है। 

6) क्या Indulekha Oil मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकता है?

उत्तर: नहीं, यह तेल महिलाओं के मासिक धर्म चक्र को प्रभावित नहीं करता है। इस तेल का उपयोग महिलाएं जब चाहे शुरू कर सकती है।

7) क्या Indulekha Oil स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: इस तेल का सामान्य अवस्था में हर पुरुष या हर महिला निःसंकोच इस्तेमाल कर सकती है, पर स्तनपान कराने वाली महिलाओं को एक बार अपने चिकित्सक से बातचीत के बाद ही इस तेल का प्रयोग शुरू करना चाहिए।

8) क्या Indulekha Oil भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, यह आयुर्वेदिक तेल भारत में पूर्णतया लीगल है। इस तेल की खपत पूरे भारत में हो रही है।

पढ़िये: लेक्सिरिड सिरप | Hamdard Dynamol Cream in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.