Himalaya Pilex Tablet: उपयोग, नुकसान, खुराक, साइड एफ़ेक्ट्स, फायदे, सावधानी | हिमालया पाइलेक्स टैबलेट

himalaya pilex
नाम (Name)Himalaya Pilex Tablet
संरचना (Composition)छुई-मुई + यशदभस्म
निर्माता (Manufacturer)Himalaya Drug Company
दवा-प्रकार (Type of Drug)आयुर्वेदिक दवा
उपयोग (Uses)बवासीर, कब्ज, मलमार्ग में सूजन, गुदा से रक्तस्राव या खुजली आदि
दुष्प्रभाव (Side Effects)उल्टी, पेट दर्द, जी मिचलाना, थकान आदि
ख़ुराक (Dosage)डॉक्टरी सलाह अनुसार
किसी अवस्था पर प्रभावअतिसंवेदनशीलता, गर्भावस्था
खाद्य पदार्थ से प्रतिक्रियाअज्ञात
अन्य दवाई से प्रतिक्रियाअज्ञात
कीमत (Price)135 रुपये (60 टैबलेट)
वेरिएंट (Variant)Himalaya Pilex Ointment

हिमालय पाइलेक्स क्या है? – What is Himalaya Pilex in Hindi

Himalaya Pilex के नाम से “हिमालय ड्रग कंपनी” दो प्रकार के उत्पाद निर्मित करता है, पहला है ‘Himalaya Pilex Tablet‘ और दूसरा है ‘Himalaya Pilex Ointment (मरहम)’

Advertisements

Himalaya Pilex का इस्तेमाल मुख्यतः बवासीर से जुड़ी असुविधाओं को ठीक करने हेतु किया जाता है। शौच के दौरान खून और दर्द होना, बवासीर होने के प्रमुख लक्षण है। पेट की गड़बड़ी और लंबे समय की कब्ज, बवासीर के प्रमुख कारण है।

Himalaya Pilex आंतरिक और बाहरी दोनों तरह के बवासीर की स्थितियों में लाभदायक साबित होती है।

यह दवा शत-प्रतिशत आयुर्वेदिक है, जो मल त्याग को आसान कर सुरक्षित तरीकों से गुदा की जटिलताओं को दूर करती है।

Himalaya Pilex का उपयोग खूनी बवासीर, वादी बवासीर, दर्द, खुजली, कब्ज, सूजन, घाव और संक्रमण जैसे अन्य कई संकेतों में किया जा सकता है।

हिमालय पाइलेक्स की संरचना – Himalaya Pilex Composition in Hindi

निम्न घटक Himalaya Pilex Tablet में होते है।

छुई-मुई + यशद भस्म

Himalaya Pilex कैसे काम करती है?

  • छुई-मुई को दवा के तौर पर, Himalaya Pilex में मुख्य सक्रिय घटक के रूप में शामिल किया गया है। छुई-मुई संक्रमण या चोट के कारण होने वाली सूजन से राहत देने का कार्य करती है। यह खून की हानि, मतलब खून को अनावश्यक बहने से रोकने हेतु हर संभव प्रयास करती है।
  • यशद भस्म इस दवा का दूसरा मुख्य घटक है, जो जीवाणुओं के विकास को अवरुद्ध कर संक्रमणों से छुटकारा दिलाने में कारगर है।
  • Himalaya Pilex गुदा से रक्तस्राव को रोकने के लिए हेमोरेराइड मास को सिकोड़ने का कार्य करती है।
  • यह दवा बवासीर के मस्सों को सुखाकर उनका आकार कम करती है और दर्द, खुजली तथा घावों से राहत देती है।
  • Himalaya Pilex पाचन शक्ति को बढ़ाकर भोजन के नियमित पाचन को सफल बनाती है। जिससे उत्सर्जन क्रिया में सुधार होता है और कब्ज की परेशानी से छुटकारा मिलता है।

पढ़िये: लबूब कबीर | Himalaya Lukol in Hindi 

हिमालय पाइलेक्स के उपयोग व फायदे – Himalaya Pilex Uses & Benefits in Hindi

Himalaya Pilex को निम्न अवस्था व विकार में सलाह किया जाता है। Himalaya Pilex Tablet का सेवन डॉक्टर से व्यक्तिगत सलाह बिना लिए ना करें।

  • खूनी बवासीर
  • वादी बवासीर
  • कब्ज
  • मलमार्ग में सूजन
  • गुदा से रक्तस्राव या खुजली
  • सूजन
  • मलाशय में घाव
  • शौच के दौरान दर्द
  • गैस
  • दुर्गन्धित मल
  • मलद्वार की तनावग्रस्त मांसपेशियां

हिमालय पाइलेक्स के दुष्प्रभाव – Himalaya Pilex Side Effects in Hindi

निम्न साइड एफ़ेक्ट्स Himalaya Pilex Tablet के कारण हो सकते है। आमतौर पर साइड एफ़ेक्ट्स Himalaya Pilex से शरीर की अलग प्रतिक्रिया व गलत खुराक से होते है और सबको एक जैसे साइड एफ़ेक्ट्स नहीं होते है। अत्यंत Himalaya Pilex से दुष्प्रभाव में डॉक्टर की सहायता लें।

  • उल्टी
  • पेट दर्द
  • जी मिचलाना
  • थकान

पढ़िये: पौरुष जीवन कैप्सूल | Kuberaksha Vati in Hindi

हिमालय पाइलेक्स की खुराक – Himalaya Pilex Dosage in Hindi

  • Himalaya Pilex का परिणाम सबके लिए समान नहीं होता है, इसलिए इस दवा की खुराक डॉक्टर की सहायता से शुरू करना ज्यादा उचित है।
  • Himalaya Pilex की एक सामान्य वयस्क के लिए दैनिक खुराक 1-2 टैबलेट दिन में दो बार, सुबह और शाम लेने के दिशा-निर्देश जारी किए जाते है।
  • इसकी खुराक को भोजन के बाद गुनगुने पानी के साथ लेना सबसे अच्छा माना जाता है।
  • Himalaya Pilex की खुराक बच्चों में कम दी जानी चाहिए। बच्चों के लिए इस दवा की एक टैबलेट का इस्तेमाल पूरे दिन के लिए काफी है। इस विषय में बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें।
  • Himalaya Pilex की खुराक से लाभ प्राप्त न होने पर खुराक को बढ़ाने हेतु डॉक्टर की व्यक्तिगत राय अवश्य लें।
  • Himalaya Pilex की गोलियों को तोड़ने, चबाने या कुचलने से बचना चाहिए। दरअसल, ऐसा करने से मुँह का स्वाद बिगड़ सकता है, इसलिए इन्हें पानी के साथ सीधा निगलना ही सबसे उपयुक्त माना जाता है
  • एक खुराक छूट जाये, तो निर्धारित Himalaya Pilex का सेवन जल्द करें। अगली खुराक Himalaya Pilex की निकट हो, तो छूटी खुराक ना लें।

सावधानियां – Himalaya Pilex Precautions in Hindi

निम्न सावधानियों के बारे में Himalaya Pilex के सेवन से पहले जानना जरूरी है।

किसी अवस्था से प्रतिक्रिया

निम्न अवस्था व विकार में Himalaya Pilex से दुष्प्रभाव की संभावना ज्यादा होती है। इसलिए जरूरत पर, डॉक्टर को अवस्था बताकर ही Himalaya Pilex की खुराक लें।

  • अतिसंवेदनशीलता
  • गर्भावस्था

भोजन के साथ प्रतिक्रिया

Himalaya Pilex की भोजन के साथ प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

पढ़िये: ब्राह्मी वटी | Lavangadi Vati in Hindi

Himalaya Pilex FAQ in Hindi

1) क्या Himalaya Pilex सर्जरी के बाद होने वाले मस्सों को ठीक करने में सहायक है?

उत्तर: यह आयुर्वेदिक दवा बवासीर में दर्द और सूजन से राहत दिलाने में सक्षम जरूर है, लेकिन यदि सर्जरी के बाद भी मस्सों से छुटकारा नहीं मिलता है और आप इस दवा से उम्मीद लगाए बैठे है, तो आपको इस विषय में चिकित्सक से व्यक्तिगत परामर्श करने की जरूरत है।

2) क्या Himalaya Pilex पाचन को सुधारने में सहायक है?

उत्तर: हाँ, यह दवा पाचन को सुधारने में सहायक है। खराब पाचन क्रियाओं की वजह से ही कब्ज का जन्म होता है और इसका सही इलाज न मिल पाने के कारण इससे बवासीर के मस्सें निकलने लगते है। यह दवा बवासीर के इलाज हेतु हर संभव प्रयास करती है।

3) क्या Himalaya Pilex गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: नहीं, गर्भवती महिलाओं के लिए यह दवा सुरक्षित नहीं है। इस दवा में मौजूद अन्य वनस्पतियां जैसे दारुहल्दी, गर्भावस्था के लिए हानिकारक हो सकती है। दारुहल्दी की ज्यादा मात्रा से विटामिन बी का मेटाबॉलिज्म प्रभावित हो सकता है। इस विषय में अपने चिकित्सक की राय लेना ज्यादा बेहतर उपाय है।

4) क्या Himalaya Pilex स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: हाँ, इस दवा को स्तनपान के दौरान ले सकते है। लेकिन इस दवा के साथ-साथ सही प्रकार के भोजन का चयन करना भी आवश्यक है। स्तनपान से जुड़ी अन्य कठिनाइयों के चलते इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

5) क्या Himalaya Pilex कठोर मल की समस्या को ठीक कर सकती है?

उत्तर: कठोर मल या जमा मल के कारण पेट में गैस और कब्ज हो सकती है। Himalaya Pilex मल को नरम कर उत्सर्जन प्रक्रिया को आसान बनाने में सहायक हो सकती है, जिससे कठोर मल की समस्या से छुटकारा मिल सकता है।

6) क्या Himalaya Pilex भूखे पेट सुरक्षित है?

उत्तर: Himalaya Pilex की गोलियों को भूखे पेट लंबे समय तक नहीं लेना चाहिए, इससे पेट में दर्द और उदासीनता पैदा हो सकती है। Himalaya Pilex को हमेशा भोजन के बाद लेने की सलाह दी जाती है।

7) क्या Himalaya Pilex की टैबलेट और मरहम को साथ में इस्तेमाल किया जा सकता है?

उत्तर: Himalaya Pilex की टैबलेट को आंतरिक और मरहम को बाहरी रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इन दोनों का साथ में इस्तेमाल करने पर दवाओं की क्षमता और असर दोगुना हो जाता है। लेकिन इस विषय में ओवरडोज़ से बचने हेतु सही खुराक के लिए चिकित्सक का हस्तक्षेप आवश्यक है।

8) Himalaya Pilex का असर कितने समय में दिखता है?

उत्तर: Himalaya Pilex की खुराक चिकित्सक द्वारा 1 से 3 महीने तक लेने की सलाह दी जाती है। लेकिन इस दवा की खुराक शुरू करने के बाद 2-4 हफ़्तों में दवा का असर दिखना शुरू हो सकता है।

9) क्या Himalaya Pilex से आदत लग सकती है?

उत्तर: नहीं, Himalaya Pilex के उत्पादों का इस्तेमाल करने से इनकी आदत नहीं लगती है। Himalaya Pilex में मौजूद घटकों में नशे की गुण नहीं होते है।

10) क्या Himalaya Pilex के साथ किसी भी प्रकार के भोजन से बचने की आवश्यकता है?

उत्तर: इस दवा को शुरू करने के बाद मसालेदार, तेलीय और खट्टे पदार्थो का सेवन से बचने की आवश्यकता है।

11) क्या Himalaya Pilex एल्कोहोल के साथ सुरक्षित है?

उत्तर: एल्कोहोल के साथ इस दवा के असर के बारें में कोई ठोस जानकारी नहीं है। Himalaya Pilex के साथ एल्कोहोल के सेवन हेतु डॉक्टर की राय ले सकते है।

12) क्या Himalaya Pilex भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, यह दवा भारत में पूर्णतया लीगल है और यह उत्पाद आयुर्वेदिक स्टोर पर आसानी से उपलब्ध है।

पढ़िये: रूप मंत्र क्रीम | Punarnavarishta in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *