Pregabalin

Pregabalin Uses in Hindi: फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | प्रेगाबेलिन

Pregabalin क्या है?

Pregabalin एलोपैथिक चिकित्सा में इस्तेमाल किया जाने वाला वह रासायनिक घटक है, जो मस्तिष्क और नर्वस सिस्टम से जुड़े बड़े विकारों की रोकथाम व इलाज कर सकता है।

इसे खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची आवश्यक होती है क्योंकि यह शेडूयल-एच वर्ग की श्रेणी से संबंधित होता है।

इसे खासकर मिर्गी, चिंता और नसों में दर्द के मामलों में चुना जाता है।

Pregabalin एंटीपाइलेप्टिक नामक दवाओं के समूह से जुड़ा है, जो न्यूरोट्रांसमीटर में तंत्रिकाओं द्वारा रिलीज किये जाने वाले कुछ खास पदार्थों के निकलने की प्रक्रिया को संशोधित करता है और तंत्रिकाओं के बीच दर्द संकेतों के स्थानांतरण को रोकने का कार्य करता है। इससे तंत्रिका क्षति के कारण पैदा होने वाले दर्द और दौरों से छुटकारा मिलता है तथा तंत्रिका तंत्र का उद्धार होता है।

मतलब साफ शब्दों में कहें तो यह घटक क्षतिग्रस्त तंत्रिकाओं द्वारा मस्तिष्क में भेजे जाने वाले दर्द के संकेतों को घटाने का कार्य करता है।

पढ़िये: त्रयोदशांग गुग्गुलु | Patanjali Divya Kesh Taila in Hindi

प्रेगाबेलिन के उपयोग व फायदे – Benefits & Uses in Hindi

निम्न अवस्था या विकार में Pregabalin को विशेषज्ञ द्वारा रोगी को सलाह किया जाता है। Pregabalin का उपयोग विशेषज्ञ से व्यक्तिगत सलाह बिना लिए ना करें।

  • न्यूरोपैथिक दर्द
  • मिर्गी
  • पैनिक अटैक
  • साइटिका
  • रीढ़ की हड्डी में चोंट या दर्द
  • फिब्रोमायल्जिया
  • घबराहट

प्रेगाबेलिन के दुष्प्रभाव – Pregabalin Side Effects in Hindi

निम्न साइड इफेक्ट्स Pregabalin के कारण हो सकते है। आमतौर पर साइड इफेक्ट्स Pregabalin से शरीर की अलग प्रतिक्रिया व गलत खुराक से होते है और सबको एक जैसे साइड इफेक्ट्स नहीं होते है। अत्यंत Pregabalin से दुष्प्रभाव में विशेषज्ञ की सहायता लें।

  • उल्टी
  • मतली
  • गला सूखना
  • स्तंभन दोष
  • पेट दर्द
  • धुंधली नजर
  • चक्कर
  • सांस लेने में तकलीफ
  • पाचन बिगड़ना
  • दस्त

इनके अलावा भी अन्य साइड इफेक्ट्स Pregabalin से हो सकते है।

पढ़िये: बेटनोवेट एन क्रीम | Himalaya Batisa Powder in Hindi

प्रेगाबेलिन की खुराक – Pregabalin Dosage in Hindi

Pregabalin एक शक्तिशाली रसायनिक घटक है, जिसे टैबलेट, कैप्सूल व सस्पेंशन रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसकी खुराक हर रूप में अलग-अलग हो सकती है, इसलिए लक्षण गंभीरता, लक्षण प्रकार और दवा प्रकार के अनुसार डॉक्टर द्वारा इस दवा की खुराक निर्धारित की जानी चाहिए।

आमतौर पर, इसकी दिन में 2 से 3 बार खुराक ली जा सकती है। इस दवा की हर खुराक के बाद एक उचित समय अंतराल देकर अगली खुराक लेनी चाहिए, जिससे दवा का असर बना रहता है और ओवरडोज़ का खतरा नहीं होता है।

Pregabalin आधारित दवा को शुरू करने व बंद करने के लिए सदैव डॉक्टर की सलाह लें। सुविधानुसार खुराक में बदलाव करने से बचें और कोर्स को बीच में लेना बंद न करें क्योंकि ऐसा करने पर मिर्गी का प्रभाव और बढ़ सकता है।

इस दवा को ज्यादातर मामलों में भोजन के बाद लेने की सलाह दी जाती है। इस विषय में जो आपके डॉक्टर कहें, उन बातों पर ज्यादा गौर करें।

पढ़िये: लॉन्ग लूक कैप्सूल | Rogan Badam Oil in Hindi

सावधानियां – Pregabalin Precautions in Hindi

निम्न सावधानियों के बारे में Pregabalin के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

किसी अवस्था से प्रतिक्रिया

निम्न अवस्था व विकार में Pregabalin से दुष्प्रभाव की संभावना ज्यादा होती है। इसलिए जरूरत पर, विशेषज्ञ को अवस्था बताकर ही Pregabalin की खुराक लें।

अन्य दवाई के साथ प्रतिक्रिया

निम्न दवाओं व घटको का उपयोग Pregabalin के साथ ना करें। क्योंकि ये और Pregabalin साथ में प्रतिक्रिया जल्दी करते है।

  • Amphetamine
  • Ketorolac
  • Lorazepam
  • Codeine
  • Benazepril

पढ़िये: रूमा ऑइल | Takzema Ointment in Hindi 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

अस्वीकरण

हम पूरी कोशिश करते है, कि इस साइट पर मौजूद जानकारी सही, पूरी व नवीनतम हो। लेकिन हम इसकी सटीकता की गारंटी नहीं लेते है। यह लेख सिर्फ जानकारी मात्र है और इसका उपयोग चिकित्सकीय परामर्श के विकल्प में उपयोग ना करें। किसी भी प्रकार की हानी होने पर, आप स्वयं जिम्मेदार होंगे।