Antihistamine in Hindi: क्या है? प्रकार, उपयोग, दुष्प्रभाव, खुराक

antihistamine in hindi

Antihistamine in Hindi: Antihistamine के बारे में जानने से पहले हिस्टामाइन क्या है? यह समझना बेहद जरूरी है।

हिस्टामाइन क्या है?

हिस्टामाइन एक कार्बनिक नाइट्रोजन यौगिक हैं, जो एक रसायन के रूप में हमारे शरीर में उत्पादित होता हैं और एलर्जी के लक्षणों का कारण बनता हैं। यह प्रतिक्रियाओं से पैदा एलर्जिक संकेतों के लिए विभिन्न अंगों में एक न्यूरोट्रांसमीटर के रूप में कार्य करता हैं। हिस्टामाइन खुजली का एक मुख्य केंद्र हो सकता हैं।

Antihistamine क्या है?

Antihistamine दवाओं का एक वर्ग हैं, जिसमें हिस्टामाइन से संबंधित रोगों के निदान का विवरण होता हैं। इस वर्ग के तहत उपयोग होने वाली दवाओं का अनुसरण कम अवधि के लिए किया जाता हैं।

ज्यादा समय के लिए किसी भी Antihistamine का उपयोग करने से पहले मरीजों को चिकित्सक का परामर्श लेना आवश्यक होता है।

एंटीहिस्टामाइन दवाएं आमतौर पर सस्ती, जेनेरिक और OTC रूप में उपलब्ध होती हैं। दवाओं की शुद्धता उत्पाद के आधार पर निर्भर करती है।

एंटीहिस्टामाइन गुणों से परिपूर्ण दवाओं का उपयोग Rhinitis Allergy (बहती नाक, त्वचा पर खुजली, आंखों में पानी, छींके, लाल चकत्ते, सूजन आदि) और अन्य एलर्जी (पालतू जानवरों, धूल, पराग कण आदि) के रोकथाम में किया जाता है।

पुरानी (Chronic) या जन्मजात एलर्जी से होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज में एंटीहिस्टामाइन दवाएं कारगर नहीं होती हैं, क्योंकि ये सिर्फ एलर्जी को बढ़ने से रोकने तथा इससे पैदा हुए लक्षणों से राहत प्रदान करने का कार्य करती है, लेकिन इस बात पर ध्यान दिया जाना आवश्यक है, कि यह जिम्मेदार कारणों का इलाज नहीं करती है।

पढ़िये: Antibiotic in Hindi | एक्यूप्रेशर क्या है?

प्रकार – Antihistamine Types

Antihistamine को मुख्य रूप से चार भागों में बंटा हुआ है,

H1 antihistamine

H1-antihistamine का उपयोग एलर्जी के लक्षणों के इलाज के लिए किया जाता हैं। H1-antihistamine, H1-रिसेप्टर विरोधी होता हैं जो नाक में एलर्जी प्रतिक्रियाओं (खुजली, बहती नाक और छींके आदि) के प्रति प्रभावी होता है।

H1-एंटीहिस्टामाइन सूजन को भी कम करने में भी सहायक है।

H1 के विरोध में कार्य करने वाले H1-antihistamine यौगिक निम्नलिखित है,

  • Loratadine
  • Desloratadine
  • Cetirizine
  • Levocetirizine
  • Azelastine
  • Fexofenadine

H2 antihistamine

इस वर्ग की दवाएं पेप्टिक अल्सर और Gastroesophageal Reflux रोगों सहित जठरांत्र संबंधी स्थितियों के इलाज हेतु कार्यरत हैं। आमतौर पर, इस वर्ग की दवाओं को H2 ब्लॉकर कहा जाता है। उदाहरण:

  • Ranitidine
  • Cimetidine
  • Famotidine
  • Nizatidine

H3 antihistamine

H3-antihistamine दवाओं का एक वर्गीकरण है, जो मस्तिष्क में मौजूद H3 रिसेप्टर में हिस्टामाइन की कार्रवाई को बाधित करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

H3-antihistamine श्रेणी में चुने गए यौगिक निम्नलिखित है:

  • Clobenpropit
  • ABT-239
  • Ciproxifan
  • Conessine
  • Thioperamide

H4 antihistamine

एच 4-एंटीहिस्टामाइन H4 रिसेप्टर की गतिविधि को बाधित करने का कार्य करता है। उदाहरण:

  • Thioperamide
  • VUF-6002

Antihistamine कैसे कार्य करती है?

Antihistamine का सूजन और एलर्जी की सक्रियता को कम करने हेतु उपयोग में लिया जाता है।

  • Allergen प्रतिक्रियाओं को पैदा करने के लिए एक संवेदनशील पदार्थ हैं। जब एक एलर्जेन किसी व्यक्ति के शरीर में प्रवेश करता हैं या बाहरी त्वचा को छूता हैं, तो प्रतिरक्षा प्रणाली में मौजूद कोशिकाएं हिस्टामाइन छोड़ती हैं और ये हिस्टामाइन विशिष्ट रिसेप्टर्स से जुड़ जाता है, जिसके कारण एलर्जी प्रतिक्रियाओं को बढ़ावा मिलता है।
  • Antihistamine इन सारी गतिविधियों पर विराम लगाने के लिए सीधा हिस्टामाइन पर प्रभाव डालकर इसके उत्पादन को बाधित करता हैं और शरीर को एलर्जी से शांति प्रदान करता है।

उपयोग – Antihistamine Uses

एन्टीहिस्टामाइन का उपयोग निम्नलिखित कारणों के चलते किया जाता हैं,

  • मौसमी एलर्जी में गुणकारी
  • नाक और आंखों की सूजन को दूर करने में सहायक
  • लगातार छींको को रोकने
  • आंखों, नाक और गले की खुजली का निवारण
  • बहती नाक को रोकने
  • पित्ती के स्तर को सामान्य बनायें रखने
  • कीड़ो के डंक या काटने के बाद होने वाले दाने या खुजली को मिटाना
  • मोशन सिकनेस को दूर करने में गुणकारी
  • बीमार महसूस करने पर संभावित मतली के इलाज में सहायक
  • गंभीर एलर्जी प्रतिक्रियाओं के आपातकालीन उपचार में मददगार
  • Rhinitis Allergy के प्रति प्रभावी
  • जी घबराना या मिचलाने से निवारण

दुष्प्रभाव – Antihistamine Side Effects

निम्न दुष्प्रभाव Antihistamine के कारण हो सकते है। लेकिन यह दुष्प्रभाव व्यक्ति की अवस्था व खुराक पर निर्भर करते हैं और यह सबको एक-जैसे नहीं होते है।

  • उनींदापन
  • सिरदर्द
  • चक्कर
  • पेट में गड़बड़ी
  • गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल असुविधा
  • थकान
  • अरुचि
  • व्याकुलता
  • शुष्क मुँह
  • आंखों में धुंधलापन
  • मूत्र उत्सर्जन में कठिनाई
  • असामान्य हार्टबीट
  • सांस लेने में तकलीफ

पढ़िये: व्हे प्रोटीन क्या है? | पीरियड्स क्या है?

खुराक – Antihistamine Dosage

  • एन्टीहिस्टामाइन दवाओं को डॉक्टर की सलाह के अनुरूप उपयोग में लिया जाना चाहिए। इसकी खुराक से संबंधित मामलों में झिझक महसूस करने पर अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।
  • अगर खुराक डॉक्टर द्वारा निर्देशित हो चुकी है, तो इसका सीधा नियमित खुराक अनुसार इस्तेमाल करें।
  • इसकी खुराक व्यक्ति की आयु, स्वास्थ्य स्थिति, लिंग, वजन, दवा की क्रियाविधि, एलर्जी के इतिहास आदि सभी कारणों पर भी निर्भर करती हैं।
  • इसका सीधा उपयोग करने के लिए इसके विभिन्न रूपों का सहारा लिया जाता हैं। जैसे: टैबलेट, कैप्सूल और लिक्विड आदि। इन दवाओं को मौखिक रूप से भोजन के साथ या बिना भी लिया जा सकता हैं।
  • इसकी टैबलेट को तोड़ने, चबाने या कुचलने की जरूरत नहीं हैं। इसे पानी के साथ एक बार में पूरा ग्रहण किया जाना चाहिए।
  • बच्चों और बुजुर्गों में एन्टीहिस्टामाइन की मात्रा विशेषज्ञ द्वारा निर्देशित की जानी चाहिए। एलर्जी से बचाव के लिए एन्टीहिस्टामाइन की मौजूदगी शरीर में बनी रहनी चाहिए।
  • खुराक में सुविधानुसार बदलाव करने की बजाय डॉक्टर द्वारा आवश्यकतानुसार खुराक को कम या ज्यादा किया जा सकता हैं।
  • एन्टीहिस्टामाइन प्रोडक्ट्स का उपयोग लंबे समय तक करने की दिशा में डॉक्टरी हस्तक्षेप आवश्यक हैं। इन दवाओं की खुराक को सामान्यतः दिन में दो या तीन बार लक्षण गंभीरता के आधार पर लेने की सलाह दी जाती हैं।

FAQ

1) क्या Antihistamine दवाएं गर्भवती महिलाओं के लिए योग्य हैं?

उत्तर: नहीं, यह गर्भावस्था में सुरक्षित नहीं होती हैं। इस वर्ग की कुछ दवाएं गर्भ पर प्रभाव कर सकती है, इसलिए एंटीहिस्टामाइन गुण रखने वाले किसी भी प्रॉडक्ट का इस्तेमाल गर्भवती महिलाओं में करने से पहले डॉक्टर से व्यक्तिगत संपर्क करने की आवश्यकता होती है।

2) क्या Antihistamine दवाएं मासिक धर्म को प्रभावित करती हैं?

उत्तर: मासिक धर्म में होने वाली प्राकृतिक गतिविधियों में एंटीहिस्टामाइन बाधा नहीं बनता है। यह मासिक धर्म को बिना प्रभावित किये अपना पूरा असर दिखाती है। इस विषय में अधिक जानकारी के लिए अपने निजी मासिक धर्म चक्र से जुड़े चिकित्सक की सलाह अवश्य ली जानी चाहिए।

3) Antihistamine दवा की एक खुराक का असर कितनी देर में दिखना शुरू होता हैं?

उत्तर: एक मौखिक खुराक लेने के बाद लगभग 30 मिनट के भीतर एंटीहिस्टामाइन दवा का असर महसूस होने लग जाता हैं। दवा की प्रभावशीलता लगभग 1-2 घंटों के अंदर अपने शिखर पर होती है।

4) क्या Antihistamine वर्ग के अंर्तगत आने वाली दवाएं नशीली होती है?

उत्तर: नहीं, इस वर्ग की दवाएं नशीली नहीं होती है, क्योंकि हिस्टामाइन के विरुद्ध कार्य करने वाले सभी एन्टीहिस्टामाइन यौगिक पूर्णतया नशामुक्त होते है और इनसे शरीर को दवा की आदत नहीं लगती है। हालांकि कुछ दवाओं से थोड़ी ज्यादा नींद आने की शिकायत हो सकती हैं।

5) क्या Antihistamine दवाओं के साथ एल्कोहोल का सेवन सुरक्षित हैं?

उत्तर: एल्कोहोल इन वर्ग की दवाओं के साथ जल्दी क्रिया कर सकता है और प्रतिक्रिया भी शीघ्र दिखा सकता हैं। इन दवाओं के गहन अध्ययन से पता चलता है, कि इनके साथ एल्कोहोल को पूरी तरह नजरअंदाज किया जाना उचित हैं।

6) क्या Antihistamine दवाएं भारत में लीगल हैं?

उत्तर: हाँ, ये भारत में पूर्णतया लीगल है। निम्न से लेकर उच्च वर्ग की एन्टीहिस्टामाइन आसानी से हर मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध है। लेकिन कुछ शैड्यूल और कुछ OTC में आती है।

पढ़िये: NSAID क्या है? | विटामिन के प्रकार

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *