31 पेट से जुड़े मजेदार तथ्य | Stomach facts in Hindi

stomach facts in hindi

Scientific Stomach Facts in Hindi: अंतिम लेख में हमने हृदय, गुर्दे और दिमाग के रोचक तथ्य जाने थे। इस लेख में हम हमारे शरीर के एक और जरूरी अंग पेट के रोचक तथ्य जानेंगे। पेट (Tummy) को हम आमाशय (Stomach) भी कहते है, जो हमारे शरीर में खाने को पचाने वह और भी महत्वपूर्ण कार्य करने में मदद करता है।

पेट के रोचक तथ्य इस लेख के माध्यम से आपको इसके वजन, आकार, कार्य, पाचन तंत्र और हमारे पेट के बारे में आपको जरूर कुछ नया जानने को मिलेंगा।

31 पेट (Stomach)से जुड़े रोचक तथ्य | Stomach fact in Hindi

1. हमारे पेट का आकार आमतौर पर एक ही रहता है, जो लगभग 12 इंच लंबा और लगभग 6 इंच का होता है।

2. गैस्ट्रेक्टोमी (Gastrectomy) एक तरह की सर्जरी है, जिसमें रोगी के पेट को पूरी तरह से हटा दिया जाता है, और ग्रासनली (ग्रासनली एक खोखली नली होती है, जो गले से पेट तक जाती है) को सीधे छोटी आंत से जोड़ दिया जाता है।

3. ज्यादा पाद रोकने से अपच, पेट फूलना और अन्य गंभीर समस्या हो सकती है।

4. एक सामान्य भोजन को पचाने मे आपके पेट को करीबन 5 से 7 घंटे या उससे अधिक समय लग सकता है। आपके पेट को फाइबर खाद पदार्थों की तुलना में प्रोटीन युक्त और वसायुक्त खाद्य पदार्थों को पचाने में अधिक समय लगता है।

5. कुछ जानवर जैसे कार्प, लंगफिश, समुद्री घोड़े और प्लैटिपस इनके पेट नहीं होते हैं। इनका भोजन सीधे आंत में जाता है।

6. पेट पाचन के अलावा हारमोंस (Hormones) को भी संश्लेषित करता है, जो भूख को उत्तेजित करने में मदद करते है।

7. पेट में मौजूदा हाइड्रोक्लोरिक एसिड (HCL) में धातुओं को भंग करने की क्षमता होती है।

8. आपके शरीर में भोजन और पेय के साथ प्रवेश करने वाले हानिकारक सूक्ष्म जीवों को नष्ट करने के लिए हाइड्रोक्लोरिक एसिड (HCL) पाचन तरल पदार्थ एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

9. आप के वजन और पेट के आकार के बीच कोई संबंध नहीं होता है। पतले और मोटे दोनों व्यक्ति के पेट का आकार समान होता है।

10. पेट मानव जठरांत्र संबंधी मार्ग (जठरांत्र प्रणाली के घटकों में मुंह, घेघा, पेट, छोटी आंत और बड़ी आंत शामिल होती हैं) का हिस्सा है।

11. छोटी आंतों में जाने से पहले रसायनों और एंजाइमों के उपयोग से पेट हमारे भोजन को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ देता है।

stomach-in-hindi
source: organsofthebody.com

12. पेट के मुख्य चार भाग होते हैं।

  • कार्डिया -कार्डिया वह बिंदु है। जहां अन्नप्रणाली पेट से जुड़ती है, और जिसके माध्यम से भोजन पेट में गुजरता है।
  • फंडस – फंडस पेट का ऊपरी हिस्सा होता है। फंडस बिना पचे हुए भोजन और गैसों को इकट्ठा करता है।
  • शरीर– शरीर पेट का मध्य भाग है, जहां भोजन को तैयार और पचाया जाता है।
  • पाइलोरस – पाइलोरस वह जगह है, जहाँ पचा हुआ भोजन छोटी आंतों (ग्रहणी) के पहले भाग में खाली हो जाता है।

13. पेट को छोड़कर पचा हुआ भोजन छोटी आंत में जाता है। इसे चाइम (Chyme) कहा जाता है।

14. हमारे शरीर में पचने वाला भोजन और गैस्ट्रिक रस चाइम में मौजूद होता है, जो कि एक लुगदी होती है।

15. पेट के अल्सर को गैस्ट्रिक अल्सर के रूप में भी जाना जाता है। आपके पेट के अंदरूनी स्तर के टूटने के कारण यह उत्पन्न होता है, और इससे सुस्त दर्द या जलन पैदा होती है।

पढ़िये:

16. यह एक ग़लतफ़हमी है, कि हमारा कुल भोजन पेट के द्वारा पचता है। जबकि ऐसा नहीं है, पेट में केवल थोड़ा भोजन ही पचता है, बाकी भोजन हमारी छोटी आंत द्वारा पचाया जाता है।

17. हमारे शरीर में प्रतिदिन 3 लीटर हाइड्रोक्लोरिक एसिड का उत्पादन होता है। हाइड्रोक्लोरिक एसिड भोजन के साथ प्रवेश करने वाले बैक्टीरिया और वायरस को खत्म करने में मदद करता है।

18. पेट की गड़गड़ाहट को वैज्ञानिक शब्द में बोरबोरिग्मी (Borborygmi) कहा जाता है।

19. आपके पेट में 1.5 लीटर से अधिक भोजन या पेय रह सकता है।

20. बड़ी आंत लगभग 5 फीट लंबी और लगभग 3 इंच व्यास (Diameter) की होती है। बड़ी आंत का कार्य बचे हुए भोजन, बैक्टीरिया और अन्य कचरे से छुटकारा दिलाना है। इस प्रक्रिया को पेरिस्टलसिस कहा जाता है।

21. फाइबर भोजन पाचन के लिए महत्वपूर्ण है। फाइबर भोजन को स्थानांतरित करने में मदद करता है। घुलनशील फाइबर स्वस्थ आंत बैक्टीरिया को पोषक तत्व प्रदान करते हैं।

22. पाद आना एक प्रकार्तिक क्रिया है, औसतन अधिकतर लोग दिन में 5 से 23 बार तक पादते है।

23. यदि आप सर के बल खड़े हो, तो भी आपका शरीर आपके भोजन को पचा सकता है, क्योंकि यह गुरुत्वाकर्षण से जुड़ा नहीं होता है। इसमें भोजन पाचन तंत्र के माध्यम से स्थानांतरित होता है।

24. हमारे पाद (Fart) से बुरी गंद आने का मुख्य कारण यह है, की हमारे पाचन तंत्र मे किसी तरह से छोटी मात्रा में हाइड्रोजन, कार्बन डाइऑक्साइड और मीथेन हाइड्रोजन सल्फाइड और अमोनिया जैसी गैसें बच जाती है। यह गैसें मिलकर एक गंध पैदा करती है।

25. प्लैटिपस (Platypus) एक जानवर है। जिसका पेट नहीं होता है। इसका गला सीधे उसकी आंतों से जुड़ा होता है, और यह केवल ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है।

platypus
source: forbes.com

26. जब हम पैदा होते हैं, तो हमारे पास कोई भी स्वस्थ बैक्टीरिया नहीं होते हैं। स्वस्थ बैक्टीरिया हमारे भोजन को पचाने में सहायता करते हैं।

27. स्टारफिश के दो पेट होते हैं और यह अपने पेट को अंदर बाहर कर सकती है।

28. भोजन पेट में लगभग दो से पांच घंटे तक रहता है।

29. एक बार भोजन निगलने के बाद घुटकी के माध्यम से पेट तक जाने में भोजन को लगभग 7 सेकंड लगते हैं।

30. जब हम कुछ खाते हैं, या पीते हैं तब कुछ हवा हमारे पेट में चली जाती है। बर्पिंग (Burping पेट से मुंह के माध्यम से हवा को बाहर निकालने की क्रिया है ) इस हवा से छुटकारा पाने का सबसे आसान तरीका है।

31. पाचन रोग केंद्र संस्था (Digestive Disease Center) के अनुसार, हमारा पेट हमारे द्वारा खाए गए भोजन से विटामिन B12 जैसे मुख्य पोषक तत्व को अवशोषित करने के लिए जिम्मेदार होता है। अधिकतर तत्व छोटी आंत अवशोषित करती है।

पढ़िये:

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी?
[Total: 0 Average: 0]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *