Antiseptic in Hindi: उपयोग, नुकसान, खुराक, साइड एफ़ेक्ट्स, प्रकार, फायदे | एंटीसेप्टिक

Antiseptic, दवाओं का एक चिकित्सा वर्ग है। इस वर्ग की दवाओं का उपयोग बाहरी इस्तेमाल के लिए ज्यादा किया जाता है। ये दवाएं त्वचा पर कीटाणु या सूक्ष्म जीवों के विकास को धीमा या खत्म करने का प्रयास करती है।

Advertisements

कुछ हानिकारक संक्रमणों में सुधार का कार्य कर ये त्वचा की रक्षा करने में मददगार है। एंटीसेप्टिक का उपयोग गले के संक्रमण और सर्जरी के दौरान सर्जन के हाथों और मरीज की त्वचा को कीटाणुरहित करने हेतु भी किया जाता है।

ये दवाएं कुछ मामूली त्वचा की हानि जैसे खरोंच, घाव, कटना, फटना, जलना आदि को संक्रमित होने से भी बचाती है।

यह बात हमेशा ध्यान में रहें, कि एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल दवाएं एकसमान नहीं है। Antibiotic का उपयोग बुरे बैक्टीरिया को खत्म करने के लिए किया जाता है। जबकि Antiseptic भिन्न वर्ग के सूक्ष्मजीवों से बचाते है।

एंटीसेप्टिक दवाओं में शामिल मुख्य घटक निम्न हो सकते है, जिनमें Antiseptic गुण होते है।

  • Alcohol
  • Ammonium Compound
  • Chlorhexidine
  • Halogenated Phenol
  • Quinolone
  • Peroxide और Permanganate आदि।

पढ़िये: Contraceptive Pills in Hindi | Ibuprofen in Hindi

Antiseptic कैसे कार्य करती हैं?

त्वचा पर इस्तेमाल की जाने वाली एंटीसेप्टिक दवाएं विभिन्न तरीकों से कार्य करती है। उचित लक्षणों के लिए उचित एंटीसेप्टिक दवा का चयन डॉक्टर द्वारा किया जाना चाहिए।

ये दवाएं कीटाणुओं को मारकर त्वचा की देखरेख करने का कार्य करती है और साथ ही, बाहरी आवरण को संक्रमणों से बचाने का भी कार्य करती है।

कुछ एंटीसेप्टिक दवाएं फैटी एसिड के संश्लेषण को बाधित कर के कार्य करती हैं, ताकि जीवाणुओं का विकास रुक सकें और अंततः वे खत्म हो जाएं।

कुछ एंटीसेप्टिक दवाएं प्रभावित करने वाले जीवाणुओं में प्रोटीन बनने से रोकती है, जिसके फलस्वरूप जीवाणुओं की ग्रोथ में गिरावट आती हैं और संक्रमणों का प्रभाव खत्म होने लगता है।

ये दवाएं त्वचा के घावों को ढ़कने के लिए एक आवरण तैयार करके भी कार्य करती है। जिससे क्षतिग्रस्त त्वचा धूल, मिट्टी, मक्खियों आदि से अछूत रहें।

Antiseptic के प्रकार – Antiseptic Types in Hindi

Antiseptic के उपयोग व कार्य के अनुसार इन्हें मुख्यरूप से 4 भागों में विभाजित किया गया है।

  1. Chlorhexidine and Other biguanides: खुले घाव और मूत्राशय की सफाई में इन Antiseptic का प्रयोग होता है।
  2. Antibacterial dye: ये Antiseptic घाव और जलन को कम करते है।
  3. Peroxide and permanganate: ये माउथवॉश और खुले घावों में उपयोग किए जाते है।
  4. Halogenated phenol derivative: ये Antiseptic सफाई के लिए बने तरल और साबुन में उपयोग किए जाते है।

Antiseptic बहुत से रूप में उपलब्ध होते है, जैसे

  • Antiseptic Cream (एंटीसेप्टिक क्रीम)
  • Antiseptic Soap (एंटीसेप्टिक साबुन)
  • Antiseptic Powder(एंटीसेप्टिक पाउडर)
  • Antiseptic Liquid (एंटीसेप्टिक तरल)
  • Antiseptic Lotion (एंटीसेप्टिक लोशन)
  • Antiseptic Solution (एंटीसेप्टिक सोल्यूशन)

Antiseptic के उपयोग – Antiseptic Uses in Hindi

Antiseptic का उपयोग निम्न विकार या अवस्था में किया जाता है।

  • त्वचा पर संक्रमण के इलाज में
  • स्वास्थ्य कर्मचारी या रोगियों के हाथ साफ करने के लिए
  • त्वचा का कटना, चोट, घाव या मामूली जलन में
  • चिकित्सा प्रक्रिया जैसे सर्जरी से पहले त्वचा व हाथ को साफ करने के लिए
  • माउथवॉश या गले के संक्रमण के इलाज में
  • श्लेष्म झिल्ली (Mucous Membranes) की सफाई में

पढ़िये: Antacids in Hindi | Laxatives in Hindi

Antiseptic के दुष्प्रभाव – Antiseptic Side Effects in Hindi

निम्न साइड एफ़ेक्ट्स Antiseptic के लगातार उपयोग के बाद देखने को मिल सकते है। ये साइड एफ़ेक्ट्स कम मामलों में होते है और अत्यंत साइड एफ़ेक्ट्स होने पर डॉक्टर की सहायता लें। आमतौर पर अधिकतर साइड एफ़ेक्ट्स Antiseptic लागू किए स्थान पर दिखते है।

  • स्किन रैश
  • कम रक्त दबाव
  • त्वचा पर चुभने वाली सनसनी
  • फेफड़े की कार्यक्षमता में कमी
  • एक प्रकार का एलर्जी प्रतिक्रिया (एंजियोएडेमा)
  • सरदर्द
  • त्वचा पर लाली
  • पित्ती
  • उनींदापन
  • खुजली
  • त्वचा पर सूजन

Antiseptic की खुराक – Antiseptic Dosage in Hindi

  • एंटीसेप्टिक दवाओं की पैकिंग पर अंकित दिशानिर्देशों को पढ़कर, इनकी खुराक का इस्तेमाल त्वचा पर किया जाना चाहिए। गंभीर त्वचा हानि होने पर एंटीसेप्टिक दवाओं के लिए डॉक्टर का सहारा लें।
  • दवा का प्रभावित क्षेत्र पर इस्तेमाल के बाद हाथों को अच्छे से धो लें। दवा की निर्धारित मात्रा का उपयोग लगातार अंतराल में करते रहे।
  • बच्चों की स्किन कोमल और नाजुक होती है। इसलिए बच्चों में किसी भी एंटीसेप्टिक दवा का इस्तेमाल करने से पहले बाल रोग विशेषज्ञ की मंजूरी अवश्य लें।
  • त्वचा पर दवा की मौजूदगी का पूरा ख्याल रखें। जरूरत के हिसाब से दवा की मात्रा को कम या ज्यादा किया जा सकता है।
  • एंटीसेप्टिक दवाओं की मौखिक खुराक लेने से बचें। यदि मुँह या गले में इंफेक्शन है, तब कुछ एंटीसेप्टिक दवाओं को निगलने की बजाए, इनसे कुल्ला करने की सलाह दी जाती है।
  • यदि एक पैक खत्म होने के बाद दवा का असर नहीं मिलता है, तब डॉक्टर से चेक करवा के अन्य एंटीसेप्टिक दवाओं की त्वचा खुराक शुरू की जा सकती है।
  • खुराक छूट जाने पर छूटी खुराक का इस्तेमाल किया जाना उचित है। दो त्वचा खुराकों के बीच एक सख्त समय अंतराल के पालन करें।
  • इन दवाओं से ओवरडोज़ की संभावना बेहद कम रहती है। लेकिन फिर भी यदि आपको ओवरडोज़ होता है, तो अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें।

पढ़िये: Antihistamine in Hindi | प्रोबायोटिक क्या है?

Antiseptic FAQ in Hindi

1) क्या Antiseptic गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: हाँ, एंटीसेप्टिक दवाएं गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है, पर जननांग अंग में इंफेक्शन होने पर डॉक्टर की सलाह के बाद ही इन दवाओं का इस्तेमाल करें।

2) क्या Antiseptic दवाएं स्तनपान कराने वाली महिलाओं में सुरक्षित है?

उत्तर: हाँ, स्तनपान कराने वाली महिलाओं में एंटीसेप्टिक दवाएं सुरक्षित है। यदि स्तनों पर संक्रमण का खतरा है और इस क्षेत्र पर एंटीसेप्टिक दवाएं इस्तेमाल की जा चुकी है, तब दुग्धपान कराने से पहले इस अंग को पानी से साफ कर लें या धो लें। इस विषय में ज्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर का सहारा लें।

3) क्या Antiseptic दवाओं के साथ किसी खास खाद्य पदार्थ के सेवन से बचने की आवश्यकता है?

उत्तर: नहीं, इन दवाओं के साथ हर तरह का भोजन सुरक्षित और खाने योग्य है।

4) क्या Antiseptic दवाओं का उपयोग हैंड सेनिटाइजर (Sanitizer) की तरह किया जा सकता है?

उत्तर: एल्कोहोल आधारित एंटीसेप्टिक विलयन का इस्तेमाल हैंड सेनिटाइजर की तरह किया जा सकता है। ये भी हाथ के कीटाणुओं को मारने का कार्य करते है।

5) क्या Antiseptic दवाएं नशेदार है?

उत्तर: नहीं, इन दवाओं से इनकी आदत नहीं लगती है, क्योंकि ये दवाएं बाहरी इस्तेमाल के लिए है।

6) क्या Antiseptic दवाएं गंधयुक्त हो सकती है?

उत्तर: हाँ, एंटीसेप्टिक दवाएं गंधयुक्त हो सकती है। लेकिन इन्हें खुशबूदार भी बनाया जाता है।

7) क्या Antiseptic दवाएं मासिक धर्म चक्र में परिवर्तन कर सकती है?

उत्तर: नहीं, ये दवाएं मासिक धर्म चक्र को बिल्कुल प्रभावित नहीं करती है।

8) क्या Antiseptic दवाओं के इस्तेमाल के बाद ड्राइविंग करना सुरक्षित है?

उत्तर: यदि आप दवा के इस्तेमाल के बाद शारीरिक गति करने में सक्षम है, तो ड्राइविंग करना सुरक्षित है। समस्या ज्यादा होने पर, इन दवाओं को लागू करने के बाद आराम करें।

9) क्या Antiseptic दवाएं त्वचा में निखार लाती है?

उत्तर: यदि विशेष रूप से एंटीसेप्टिक दवाओं का इस्तेमाल त्वचा के निखार हेतु किया जायें, तो इससे ज्यादा लाभ मिलने वाला नहीं है। ये सिर्फ त्वचा पर कीटाणुओं का नाश करने में सहायक है।

10) क्या Antiseptic दवाएं त्वचा के बालों के झड़ने का कारण बनती है?

उत्तर: नहीं, एंटीसेप्टिक दवाएं त्वचा के बालों के झड़ने या उगाने का कारण नहीं बनती है। हालांकि इनके कुछ साइड इफ़ेक्ट से ऐसा हो सकता है, लेकिन ये दुर्लभ स्थितियों में ही होता है।

11) क्या Antiseptic दवाएं भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, ये दवाएं भारत में पूर्णतया लीगल है और इनके सभी रूप आसानी से हर मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध है।

पढ़िये:  

References

What to know about antiseptics https://www.medicalnewstoday.com/articles/antiseptic Accessed On 01/02/2021

Antiseptic And Anesthetic 2.5 %-0.13 % Topical Spray Side Effects by Likelihood and Severity https://www.webmd.com/drugs/2/drug-146044/antiseptic-and-anesthetic-topical/details/list-sideeffects Accessed On 01/02/2021

A Guide to Antiseptics https://www.healthline.com/health/what-is-antiseptic Accessed On 01/02/2021

Editorial Team: रवि कुमावत हेल्थ पर लेख लिखते है। शिक्षा अनुसार रवि फर्मासिस्ट है और इन्हें किताबे पढ़ने और क्रिकेट में रुचि है। पिछले कुछ सालों से रवि ने स्वास्थ्य और इससे जुड़े उत्पादों पर लिखकर अपनी अहम भूमिका दी है।
Recent Posts