Zandu Striveda Powder

स्त्रीवेदा पाउडर के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी, उपयोग | Zandu Striveda Powder in Hindi

झंडू स्त्रीवेदा पाउडर क्या है? – What is Zandu Striveda Powder in Hindi

स्त्रीवेदा पाउडर दूध के उत्पादन को बढ़ाकर स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए एक सुगम आयुर्वेदिक फॉर्मूला है।

माता के ऊपर नवजात की आहार पूर्ति का पूरा भार होता है। प्रसव के बाद, स्तनों में दूध की कमी से प्रभावित स्त्रियों के द्वारा उनके शिशुओं का अच्छे से भरण-पोषण न हो पाने के कारण कुपोषण की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में, झंडू द्वारा निर्मित इस पाउडर को चिकित्सक से सलाह से इस्तेमाल किया जाना लाभदायक साबित हो सकता है।

स्तनपान के शुरुआती 6 माह काल को सुखदायी बनाने के लिए संतुलित आहार, ज्यादा से ज्यादा आराम और घरेलू नुस्खों पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है।

शतवारी युक्त इस पाउडर को दूध के साथ लेने से महिलाएं शारीरिक और मानसिक रूप से बेहतर महसूस कर सकती है।

Striveda Powder एक लैक्टेशन सप्लीमेंट है, जो पूर्णतया शाकाहारी है। इसके 210 ग्राम पाउडर पैक की कीमत 250 रुपये तक होती है।

पढ़िये: एमिल बीजीआर-34 टैबलेट | Peedanil Gold Tablet in Hindi

Zandu Striveda Powder कैसे काम करती है?

  • शतावरी स्तनों में दूध बढ़ाने वाली एक सहायक औषधि है, जो दूध के स्तर को बढ़ाकर नवजात के पोषक युक्त आहार का प्रबंध करने का कार्य करती है। यह दूध की कमी की शिकायत को दूर कर दूध से विषैले कण हटाने में भी मददगार हो सकती है। दूध वृद्धि का कार्य इसमें मौजूद स्टेरायडल सैपोनिन तत्व द्वारा किया जाता है।
  • शतावरी में एंटीऑक्सीडेंट ग्लूटाथियोन होता है, जो मुँहासों और झुर्रियों से बचाव कर त्वचा की सौंदर्यता का पूरा ख्याल रखती है। शतावरी में त्वचा की खूबसूरती का राज छुपा हुआ है।
  • शतावरी में मौजूद कैल्शियम और फोलेट, शिशु की हड्डियों में मजबूती पैदा करने और शारीरिक ढाँचे की रूपरेखा में सुधार करने का कार्य कर सकते है।
  • शतावरी में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर मौजूद होते है, जो अतिरिक्त चर्बी को तोड़कर वजन कम करने का कार्य बखूबी पूरा करते है।
  • शतावरी मानसिक हमलों को कम कर मस्तिष्क की असामान्य गतिविधियों को शांत करने और एक अच्छी नींद प्रदान करने का कार्य करती है।
  • शतावरी में पाया जाने वाला विटामिन K, महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द से राहत देने का कार्य करता है।
  • शतावरी की सुखदायी विशेषता के कारण, यह अन्य कई शारीरिक लक्षणों का आयुर्वेदिक तौर-तरीकों से इलाज करने में सहायक बनती है।

झंडू स्त्रीवेदा पाउडर के उपयोग व फायदे – Zandu Striveda Powder Uses & Benefits in Hindi

Zandu Striveda Powder को निम्न अवस्था या विकार में सलाह किया जाता है।

  • स्तनों में दूध की कमी
  • वक्षस्थल में दर्द और सूजन
  • पोषण की कमी
  • हार्मोनल परिवर्तन की समस्या

झंडू स्त्रीवेदा पाउडर के दुष्प्रभाव – Zandu Striveda Powder Side Effects in Hindi

निम्न साइड इफेक्ट्स Zandu Striveda Powder के कारण हो सकते है। आमतौर पर साइड इफेक्ट्स Zandu Striveda Powder से शरीर की अलग प्रतिक्रिया व गलत खुराक से होते है और सबको एक जैसे साइड इफेक्ट्स नहीं होते है।

पढ़िये: बोरोलिन क्रीम | Isabgol Powder in Hindi

झंडू स्त्रीवेदा पाउडर की खुराक – Zandu Striveda Powder Dosage in Hindi

  • Striveda Powder की खुराक दिन में 1 से 2 चम्मच दूध में मिलाकर लेने की सलाह दी जाती है। इस दवा से उपचार की अवधि लंबी हो सकती है, इसलिए इसे नियमित खुराक में लेते रहें।
  • कुँवारी महिलाओं में इस दवा का कोई महत्व नहीं है। ऐसी महिलाओं में इस दवा की खुराक को अनुशंसित न करें।
  • Striveda Powder को मौखिक रूप से इस्तेमाल करने की जरूरत है। इसे लेप बनाकर बाहरी उपयोग में लेने से कुछ फायदा नहीं होने वाला है।
  • Striveda Powder की अति या दुरुपयोग से बचें। इस दवा की खुराक में सुविधानुसार बदलवा करने से बचें।
  • एक खुराक छूट जाये, तो निर्धारित Zandu Striveda Powder का सेवन जल्द करें। अगली खुराक Zandu Striveda Powder की निकट हो, तो छूटी खुराक ना लें।

पढ़िये: हनीटस सिरप | Neeri Tablet in Hindi

Zandu Striveda Powder FAQ in Hindi

1) क्या Striveda Powder हार्मोन असंतुलन को ठीक करने में सहायक है?

उत्तर: Premenstrual Syndrome (PMS) जैसे लक्षण हार्मोन परिवर्तन के कारण पैदा होते है, जिससे महिलाओं के व्यवहार, शारीरिक स्वास्थ्य और भावनाओं पर असर पड़ सकता है। इसमें मौजूद शतावरी PMS के प्रबंधन और इलाज में सहायता कर हार्मोन असंतुलन को ठीक करने में मददगार हो सकती है।

2) क्या Striveda Powder गर्भवती महिलाओं में सुरक्षित है?

उत्तर: इस दवा से जुड़े अच्छे और बुरे तथ्यों को जानने के लिए गर्भवती महिलाएं अपने चिकित्सक की मदद अवश्य लें।

3) क्या Striveda Powder स्तनपान कराने वाली महिलाओं में सुरक्षित है?

उत्तर: हाँ, यह आयुर्वेदिक दवा स्तनपान कराने वाली महिलाओं में सुरक्षित हो सकती है। यह दवा दूध के स्तर में सुधार कर शिशु के अच्छे पालन-पोषण में मददगार हो सकती है।

4) क्या Striveda Powder मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकती है?

उत्तर: इस विषय में पूरी जानकारी के लिए आप अपने मासिक धर्म चक्र से जुड़े चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

5) क्या Striveda Powder टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में सुधार कर सकती है?

उत्तर: यह दवा पुरुषों के लिए नहीं है। शतावरी युक्त इस पाउडर को पुरुषों में लागू करने से पहले चिकित्सक की मंजूरी आवश्यक है।

6) क्या Striveda Powder एल्कोहोल के साथ सुरक्षित है?

उत्तर: इस विषय में जानकारी अज्ञात होने के कारण ठोस प्रमाण के साथ कुछ भी कहा नहीं जा सकता है। इस विषय में डॉक्टर से बातचीत जरूरी है।

7) क्या Striveda Powder पाचन तंत्र को प्रभावित कर सकती है?

उत्तर: पाचन को सुधारने में शतावरी का अहम योगदान हो सकता है। यह दवा स्वस्थ पाचन को बिना प्रभावित किये अपने प्रभाव को व्यक्त कर सकती है।

8) क्या Striveda Powder बालों के विकास में सहायक है?

उत्तर: इस दवा में पोषक तत्वों की उपस्थिति मौजूद होती है, जो वालों के लिए फायदेमंद हो सकते है। लेकिन इस विषय में एक अच्छे सलाहकार की सलाह लेना ज्यादा उचित है।

9) क्या Striveda Powder के सेवन से आदत लग सकती है?

उत्तर: नहीं, इस दवा के सेवन से इसकी आदत नहीं लगती है। यह एक स्वास्थ्य सुधारक टॉनिक है, जो पूर्णतया प्राकृतिक है और इसे लंबे समय तक उपयोग करने की जरूरत होती है।

10) क्या Striveda Powder सफेद पानी की समस्या के उपचार में सहायक है?

उत्तर: इस दवा में शतावरी की खास मौजूदगी से ल्यूकोरिया (सफेद पानी की समस्या) का इलाज संभव हो सकता है। लेकिन इस संबंध में डॉक्टर से बातचीत की आवश्यकता है।

11) क्या Striveda Powder की खुराक के बाद ड्राइविंग करना सुरक्षित है?

उत्तर: हाँ, इस दवा खुराक के बाद ड्राइविंग करना सुरक्षित है, क्योंकि यह झपकी या चक्कर का कारण नहीं बनती है। इसे लेते रहने से महिलाएं मानसिक ताजगी महसूस कर सकती है।

12) क्या Striveda Powder भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, Striveda Powder भारत में पूर्णतया लीगल है और यह उत्पाद आसानी से हर मेडिकल स्टोर या ऑनलाइन वेबसाइट पर उपलब्ध है।

पढ़िये: हिमालया आमलकी टैबलेट | Baidyanath Shankhpushpi Syrup in Hindi

References

Asparagus racemosus (Shatavari): A Versatile Female Tonic https://www.researchgate.net/publication/258448671_Asparagus_racemosus_Shatavari_A_Versatile_Female_Tonic Accessed On 18/06/2021

Shatavari – A boon for Women https://www.researchgate.net/publication/237836655_Shatavari_-_A_boon_for_Women Accessed On 18/06/2021

Plant profile, phytochemistry and pharmacology of Asparagus racemosus (Shatavari): A review https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4027291/ Accessed On 18/06/2021

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अस्वीकरण

हम पूरी कोशिश करते है, कि इस साइट पर मौजूद जानकारी सही, पूरी व नवीनतम हो। लेकिन हम इसकी सटीकता की गारंटी नहीं लेते है। यह लेख सिर्फ जानकारी मात्र है और इसका उपयोग चिकित्सकीय परामर्श के विकल्प में उपयोग ना करें। किसी भी प्रकार की हानी होने पर, आप स्वयं जिम्मेदार होंगे।