Shri Gopal Taila

श्रीगोपाल तेल के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी, उपयोग | Shri Gopal Taila in Hindi

श्रीगोपाल तेल क्या है? – What is Shri Gopal Taila in Hindi

श्री गोपाल तेल बाहरी इस्तेमाल के लिए बना आयुर्वेद का शक्तिशाली सूत्रीकरण है, जो शिश्न (लिंग) की कमजोरी व तनाव की समस्या से छुटकारा दिलाने में सक्षम है। यह Dabur Stimulex Oil और Himcolin Gel का बेहतरीन विकल्प है।

इस तेल के उपयोग से पुरूष प्रजनन अंग में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है और बढ़ती उम्र में यौवन के जोश और उत्साह को कम होने से बचाता है।

इसमें मौजूद प्रभावशाली घटक शीघ्रपतन, नपुंसकता, स्वप्नदोष, बांझपन, स्तंभन दोष, नसों की कमजोरी और शिश्न अनिर्माण के लक्षणों का उपचार कर सकते है।

इस तेल की मालिश से सिर दर्द, कमरदर्द, पीठ दर्द, जोड़ों का दर्द और मांसपेशियों के दर्द से राहत मिल सकती है। यह तेल तंत्रिका संबंधी विकारों का समाधान कर मस्तिष्क को शांत रखने में मददगार हो सकता है।

श्री गोपाल तेल के कई ब्रांड में उत्पाद उपलब्ध होते है, जिसमें ये 2 प्रमुख है।

  • Dabur Shri Gopal Taila
  • Baidyanath Shri Gopal Taila

श्री गोपाल तेल की संरचना – Shri Gopal Taila Composition in Hindi

निम्न घटक Shri Gopal Taila में होते है।

शतावरी रस + आंवला रस + अश्वगंधा + पेठा रस + जटामांसी + जिंतिमुल + खरैती जड़ + खंभारी + बेल छाल + अरलू छाल + नागरमोथा + हरड़ + पढ़ल + अरणि + कटेली + मुर्वा मूल + केवड़ा + परिभंद्र + चोरपुष्पि पद्मक + अगर + केसर + शिला रस + सुगन्धि वरो + बहेड़ा + जीवक + काकोली + दालचीनी + क्षीरककोली + मेदा + महा मेदा + मुद्गापर्णी + माषपर्णी + जीवन्ति + मुलेठी + सुंठी + पिपर + खस + देवदार + अनार + धनिया + छोटी इलायची

पढ़िये: तुलसी के फायदे | Abhrak Bhasma in Hindi

श्री गोपाल तेल के उपयोग व फायदे – Shri Gopal Taila Uses & Benefits in Hindi

इस आयुर्वेदिक तेल से निम्नलिखित फायदें हो सकते है।

शीघ्रपतन से छुटकारा

इस तेल की कुछ बूंदों को 2-3 महीनों तक शिश्न पर लगाकर हल्की मालिश करने से शीघ्रपतन से छुटकारा पाया जा सकता है। यह तेल वीर्य को ज्यादा देर तक रोकने में मदद करता है, यानी वीर्य स्खलन को धीमा करता है।

स्तंभन दोष का इलाज

संभोग से आधे घंटे पहले इस तेल की मालिश शिश्न पर करने से पुरुष उद्धार बढ़ता है। यह तेल शिश्न की मांसपेशियों में रक्त का प्रवाह बढ़ाकर सख्त और कठोर कर देता है, जिससे लिंग सख्त हो जाता है और संभोग के पूरा आनंद प्राप्त हो सकता है।

नपुंसकता का उपचार

यह तेल नपुंसकता से शिकार लोगों के लिए काफी अच्छा साधन हो सकता है। यह तेल लिंग की नसों में सक्रियता पैदा कर वीर्य उत्पादन को बढ़ा सकता है। नपुंसकता और बांझपन के लिए श्री गोपाल तेल काफी फायदेमंद हो सकता है।

सिर दर्द और विभिन्न दर्दों को मिटाने में प्रभावशाली

यह तेल केवल बाहरी उपयोग के लिए है। फिर भी, यह सिरदर्द की समस्या का निपटारा बाहर से ही कर सकता है। इस तेल की मालिश ललाट या सिर पर करने से कुछ ही समय में सिर दर्द से राहत मिल सकती है। ऐसे ही, इस तेल की अन्य जगहों पर मालिश करने से भी दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। जैसे- पीठ दर्द, कमर दर्द, घुटनों का दर्द आदि।

कामेच्छा की कमी को दूर करने में सहायक

पुरुषों में लिंग के ढीलेपन, अनिर्माण, जल्दी थक जाना आदि समस्याओं से फिर संभोग के लिए मनोभावना बदलने लगती है। कोई भी संभोग के प्रति तब आकर्षित होता है, जब उसे कामोन्माद में मजा आने लगता है। यह तेल यौन से जुड़ी समस्याओं को दूर कर कामेच्छा को जगाने का कार्य कर सकता है।

पढ़िये: सफेद मूसली के फायदे | Kamsudha Yog in Hindi

श्री गोपाल तेल के दुष्प्रभाव – Shri Gopal Taila Side Effects in Hindi

इस तेल के कोई भी दुष्प्रभाव देखने को नहीं मिलते है। चिकित्सीय दिशा-निर्देशों में इस तेल का पालन करने पर यह उत्तम परिणामदायक हो सकता है।

लेकिन अतिसंवेदनशीलता के मामलें में इसके उपयोग से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

श्री गोपाल तेल की खुराक – Shri Gopal Taila Dosage in Hindi

  • इस तेल की खुराक को प्रयोग करने के साथ सही तरीकों का पालन करना भी आवश्यक है।
  • श्री गोपाल तेल से शिश्न की मालिश करने से पहले लिंग और हाथों को अच्छे स धो लें। इसकी 4-5 बूंदे शिश्न के निचले हिस्से पर लगाकर हल्के हाथों से कुछ देर मालिश करें। इस तेल के शिश्न मुंड यानी लिंग के ऊपरी हिस्से में न लगायें।
  • अन्य दर्द में इसकी 2-3 बूंदे प्रभावित क्षेत्र पर लगाने से दर्द में राहत पाई जा सकती है। इस तेल की अति या दुरुपयोग से बचें।
  • छोटे बच्चों में यह तेल अनुशंसित नहीं है। बच्चों को इससे दूर रखें।

पढ़िये: अतिसंवेदनशीलता क्या है? | Minerals in Hindi

Shri Gopal Taila FAQ in Hindi

1) क्या Shri Gopal Taila बालों पर लगाया जा सकता है?

उत्तर: नहीं, इस तेल को बालों पर लगाने से कोई फायदा नहीं होने वाला है। यह केवल दर्द और यौन समस्याओं के लिए फायदेमंद साबित होता है।

2) क्या Shri Gopal Taila को खुले अंगों पर इस्तेमाल किया जा सकता है?

उत्तर: खुले अंगों और कटी-फटी त्वचा पर इस तेल के उपयोग से बचना चाहिए। यह तेल घाव को फुला कर जलन को बढ़ा सकता है। इसलिए इस विषय में अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

3) Shri Gopal Taila को दिन में कितनी बार उपयोग कर सकते है?

उत्तर: इस तेल को दिन में एक या दो बार उपयोग कर सकते है। मरीज की मेडिकल स्थिति और बीमारी के प्रकार के आधार पर इसकी खुराक की सही जानकारी के लिए चिकित्सक की मदद लें।

4) क्या Shri Gopal Taila एल्कोहोल का सेवन करने वाले लोगों द्वारा प्रयोग किया जा सकता है?

उत्तर: हाँ, इस तेल की बाहरी मालिश एल्कोहोल का सेवन करने वाले लोगों के लिए सुरक्षित हो सकती है। हालांकि इस विषय में अभी और रिसर्च की आवश्यकता है। अपने चिकित्सक से राय से इसे इस्तेमाल में लें।

5) क्या Shri Gopal Taila गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: गर्भवती महिलाएं अपने चिकित्सक की सलाह के बिना इस तेल का उपयोग न करें।

6) क्या Shri Gopal Taila स्तनपान कराने वाली महिलाएं इस्तेमाल में ले सकती है?

उत्तर: स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर इस तेल के व्यवहार की जानकारी मौजूद नहीं है। अतः आप किसी अच्छे डॉक्टर की राय अवश्य लें सकते है।

7) क्या Shri Gopal Taila लिंग को बड़ा कर सकता है?

उत्तर: यह तेल शिश्न के स्वाभाविक आकार और मोटाई को प्राप्त करने में मदद कर सकता है, लेकिन शिश्न के आकार को लंबा करने के लिए यह कुछ खास प्रभावी औषधि नहीं है।

8) क्या Shri Gopal Taila के इस्तेमाल से इसकी आदत लग सकती है?

उत्तर: नहीं, इस तेल के इस्तेमाल से इसकी आदत नहीं लगती है। इसे 1 से 2 महीने तक निःसंकोच इस्तेमाल किया जा सकता है। यह उत्पाद आपकी पसंद जरूर बन सकता है।

9) क्या Shri Gopal Taila के आवेदन पश्चात ड्राइविंग करना सुरक्षित है?

उत्तर: हाँ, इस तेल के आवेदन के पश्चात ड्राइविंग करना सुरक्षित है क्योंकि यह दुष्प्रभावों रहित तेल केवल बाहरी इस्तेमाल के लिए है।

10) क्या Shri Gopal Taila भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, यह हर्बल उत्पाद भारत में पूर्णतया लीगल है।

11) क्या Shri Gopal Taila को भूखे पेट इस्तेमाल में लिया जा सकता है?

उत्तर: इस तेल को भूखे पेट या भोजन के बाद कैसे इस्तेमाल करना सही रहता है, इसकी जानकारी आप अपने चिकित्सक से प्राप्त करें।

पढ़िये: शहद के फायदे | Shankhpushpi in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *