शिलाजीत

शिलाजीत क्या है? – What is Shilajit in Hindi

शिलाजीत का नाम सुनकर हमें मार्केट में मौजूद शिलाजीत युक्त कई प्रसिद्ध दवाइयों का ध्यान आता है, जैसे Zandu Vigorex Gold, Himalaya Tentex Forte, राजवैध रसायन वटी आदि।

Advertisements

शिलाजीत युक्त दवाओं में इसका कच्चा या शुद्ध रूप इस्तेमाल किया जाता है, इसमें Fulvic acid मौजूद होता है। इसके कच्चा रूप किसी पंसारी की दुकान पर मिल सकता है, जो दिखने में गाढ़े भूरे रंग का एक चिपचिपा टुकड़ा होता है।

शिलाजीत हजारों वर्षों में चट्टान की परतों के बीच कार्बनिक प्रदार्थों के रासायनिक दबाव से बनता है। शिलाजीत हिमालया, रूस, मंगोलिया व उत्तरी चिली मे पाया जाता है।

शिलाजीत चार प्रकार का होता है:

  1. रजत
  2. स्वर्ण
  3. ताम्र
  4. लौह

शिलाजीत को खाने से शरीर में काफी सकारात्मक बदलाव देखने को मिलता है, यह स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याओं या रोगों का सफल इलाज कर सकता है।

शिलाजीत एक मूल्यवान पदार्थ है, जिसकी कीमत ज्यादा होती है। आयुर्वेदिक दवाओं में इसका कम-कम इस्तेमाल किया जाता है, क्योंकि यह काफी प्रभावशाली जड़ी-बूटी है।

शिलाजीत पुरुषों की मर्दानगी के लिए बेहद खास यौगिक है, जो यौन शक्ति तथा यौन क्षमता में चार चांद लगाने का काम कर सकता है। शिलाजीत स्वाद में कड़वा या कसैला तथा प्रवृत्ति में गर्म होता है, जो शक्तिवर्धक, धातुवर्धक और वीर्यवर्धक में सहायक हो सकता है।

पढ़िये: कुश्ता फौलाद के फायदे | Ashwgandha in Hindi

शिलाजीत पौषक तथ्य – Shilajit Nutrition Facts in Hindi

शिलाजीत के आधे चम्मच मे निम्न तत्व बताई मात्रा मे होते है।

तत्व मात्रा दैनिक जरूरत प्रतिशत
कैलोरी 3
आयरन5.4 mg 30% DV
कैल्सियम 40 mg4% DV
सेलेनियम2.8 mg 4% DV
ज़िंक 0.45 mg 3% DV
mg = मिलीग्राम, DV = Daily Value (दैनिक जरूरत)

शिलाजीत के फायदे – Shilajit Benefits in Hindi

शिलाजीत के प्रयोग से सेहत को मिलने वाले फायदों की सूची निम्नलिखित है।

शारीरिक कमजोरी को दूर करने में शिलाजीत का प्रयोग

शिलाजीत में मौजूद शक्तिवर्धक गुणों से शरीर की कमजोरी से निजात पाने में बेहद मदद मिलती है। यह शरीर को हष्टपुष्ट कर ऊर्जावान बनाने में मददगार होता है, जिससे दैनिक कार्यों को करना आसान हो सकता है।

यौन स्वास्थ्य के लिए अद्भुत लाभ

शिलाजीत एक गर्म जड़ी-बूटी है, यह शरीर की गर्मी को उत्तेजित कर यौन स्वास्थ्य को कई अद्भुत लाभ पहुँचाता है। शिलाजीत के अच्छे उपयोग से बुढ़ापे को दूर रखा जा सकता है, ज्यादा उम्र में बाहरी रूप-रेखा को कम किया जा है तथा जवानी के जोश को दीर्घकाल तक अपनाया जा सकता है।

यह यौन क्रियाओं को आनंदमय बनाने के लिए शीघ्रपतन, स्वप्नदोष, स्तंभन दोष, वीर्य दोष और कामेच्छा की कमी जैसी कई यौन दिक्कतों का सुलह कर सकता है। यह शरीर में ऊर्जा की आपूर्ति कर पुरुष प्रदर्शन को लंबा करने वाली एक पसंदीदा जड़ी-बूटी है।

वीर्य विकारों के लिए लाभदायक दवा

शिलाजीत पुरुषों के स्पर्म काउंट को बढ़ाने और शुक्राणुओं की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए एक बेहतरीन सुविधा है। यह वीर्य को गाढ़ा कर शुक्राणुओं की गतिशीलता को बढ़ा सकता है, जिससे पितृ-सुख पाने में आसानी होती है।

मूत्र से जुड़ी समस्याओं के लिए फायदेमंद

जिन पुरुषों या महिलाओं में मूत्र संस्थान से जुड़ी कोई भी परेशानी हो, वे चिकित्सकीय सलाह द्वारा शिलाजीत से लाभ प्राप्त कर सकते है।

मानसिक रूप से सशक्त बनाने में उपयोगी

शिलाजीत को नोट्रोपिक वर्ग में चयनित किया जाता है, जो नई चीजों को सीखने के लिए मानसिक क्षमता को बढ़ाता है। इसके प्रयोग से मानसिक कमजोरी, तनाव, अवसाद से छुटकारा मिल सकता है। इसमें पाया जाने वाला फुलविक एसिड याददाश्त को बढ़ाने में मददगार हो सकता है।

टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में सुधार

पुरुष हार्मोन टेस्टोस्टेरॉन वर्तमान मानसिक दशा का परिचय देता है। इसकी कमी से आप बीमार महसूस कर सकते है, शिलाजीत टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में सुधार कर मानसिक, शारीरिक और यौन स्वास्थ्य के प्रबंधनम में मददगार हो सकता है। यह मांसपेशियों से जुड़ी समस्याओं को दूर कर अतिरिक्त चर्बी को जला सकता है।

एनीमिया की दिक्कतों को निदान

शिलाजीत के उपयोग से खून की कमी को दूर किया जा सकता है। यह नए खून को बनने में मदद करता है और खून की कमी से होने वाले एनीमिया रोगों का निदान करता है। यह शरीर में लौह तत्वों का सुधार कर हृदय की गति को अनियमित होने से बचाता है, थकान और कमजोरी को भागता है तथा हाथ-पैरों को ठंडा होने नहीं देता है।

प्रतिरोधक क्षमता में सुधार करने हेतु लाभकारी

शिलाजीत एंटी ऑक्सीडेंट और एन्टी-इंफ्लेमेटरी गुणों से युक्त होता है। इसका फायदा हमें प्रतिरोधक क्षमता को अच्छा करने में मिलता है। यह मुक्त कणों को शरीर से हटाकर हमारी कोशिकाओं को नुकसान होने से बचाता है। यह हमारे शरीर को मामूली संक्रमणों से अछूता रखने में मददगार साबित हो सकता है।

महिलाओं में शिलाजीत फायदेमंद

यह महिलाओं में अनियंत्रित मासिक धर्म चक्र को नियंत्रण में लाने का कार्य कर सकता है। यह महिलाओं में कामेच्छा को तेज कर संभोग के प्रति आकर्षण को बढ़ाने और हार्मोन संतुलन को बनायें रखने में मददगार हो सकता है।

गढ़िया के इलाज में सहायक

गठिया यानी जोड़ों का दर्द और सूजन, जो उम्र ढलने के साथ ही बढ़ती जाती है। जोड़ों में जकड़न से असहनीय दर्द होता है, जिसे शिलाजीत द्वारा कुछ समय में कम किया जा सकता है। शिलाजीत जोड़ों में रक्त के प्रवाह बढ़ाने, सूजन को कम करने और जोड़ों के उत्तकों को मजबूत करने का कार्य करता है।

हृदय से जुड़े विकारों के लिए शिलाजीत का प्रयोग

एक स्वस्थ हृदय हमें कई मुसीबतों से तटस्थ रख सकता है। लेकिन खराब दिनचर्चा से हृदय से जुड़ी कई समस्याएं पैदा होती है, जैसे उच्च रक्तचाप, निम्न रक्तचाप, हार्ट अटैक आदि। शिलाजीत रक्तचाप पर नियंत्रण कर कम या ज्यादा होने से बचाता है और हृदय के जोखिमों को कम करने में मदद करता है।

मधुमेह के इलाज में शिलाजीत की प्रभावी भूमिका

मधुमेह की समस्या में शिलाजीत को खाने से आपको इसका बेहद अच्छा परिणाम देखने को मिल सकता है। यह रक्त में शर्करा के स्तर को कम कर मधुमेह को काबू में रख सकता है। यह ट्राइग्लिसराइड के स्तर पर प्रभावी होकर भी मधुमेह को नियंत्रित कर सकता है।

पढ़िये: जवारिश मस्तगी के फायदे | Shabab E Azam in Hindi 

शिलाजीत के उपयोग – Shilajit Uses in Hindi

शिलाजीत का उपयोग निम्न अवस्था व रोग से बचाव, रोकथाम, व इलाज के लिए किया जाता है।

  • पीलिया
  • थायराइड
  • शीघ्रपतन
  • अत्यंत थकान (Chronic Fatigue)
  • मिर्गी
  • मोटापा
  • बांझपन
  • अस्थमा 
  • बवासीर
  • अल्सर
  • डायबिटीज

शिलाजीत के दुष्प्रभाव – Shilajit Side Effects in Hindi

शिलाजीत को पूर्णतया सुरक्षित मानने वाले लोगों को इससे होने वाले नुकसानों के बारें में भी पता होना चाहिए, जो इसके ज्यादा दोहन या दुरूपयोग से हो सकते है।

शिलाजीत तासीर में गर्म होता है और इसे पचाना थोड़ी भारी होता है। इसे गर्मियों में ज्यादा लेने से अत्यधिक गर्मी का अनुभव, ज्यादा पसीना आना, मुँह में छाले, समय से पहले मासिक रक्तस्राव, जी घबराना आदि समस्याएं हो सकती है।

शिलाजीत को गर्भावस्था के लिए प्रतिकूल माना जाता है। इससे बनने वाले नकली उत्पादों को लेने से बचें। इसे ज्यादा लेने से यह एलर्जी का कारण बन सकता है।

इसके अतिरिक्त शिलाजीत से निम्न साइड इफ़ेक्ट्स हो सकते है।

  • स्वप्नदोष
  • हल्की खुजली
  • चहरे पर पिंपल
  • गले में सूखापन
  • पेट दर्द

पढ़िये: माजून सालब के फायदे | Allopathic Medicine in Hindi 

शिलाजीत की खुराक – Shilajit Dosage in Hindi

  • शिलाजीत आज के समय मे बहुत से प्रकार मे उपलब्ध है। जैसे कैप्सुल, टैबलेट, सिरप, पाउडर इत्यादि।
  • अपनी बीमारी के प्रकार के आधार पर, शिलाजीत के किस रूप का सेवन किस समय और कितना करना है, इसकी पूरी जानकारी किसी अच्छे आयुर्वेदिक चिकित्सक द्वारा प्राप्त करें।
  • शिलाजीत पाउडर की एक चुटकी को दिन में दो बार दूध के साथ ले सकते है। इससे सेक्स संबंधी विकारों में काफी फायदा मिलता है।
  • आमतौर पर शिलाजीत का प्रतिदिन 300mg से 500mg के बीच सेवन करना चाहिए। इसे खाने के 1 घंटे बाद दूध के साथ लेना चाहिए।
  • बच्चो के लिए शिलाजीत की ख़ुराक शुरू करने से पहले चिकत्सक से सुझाव लेना चाहिए।
  • शिलाजीत से जुड़े उत्पादों की खुराक को एक अवधि जारी रखने और इसमें फेरबदल की आवश्यकता होने पर डॉक्टर की राय अवश्य ले सकते है।

सावधानियां – Shilajit Precautions in Hindi

निम्न सावधानियों के बारे में शिलाजीत के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

किसी अवस्था से प्रतिक्रिया

निम्न अवस्था व विकार में शिलाजीत से दुष्प्रभाव की संभावना ज्यादा होती है। इसलिए जरूरत पर, विशेषज्ञ को अवस्था बताकर ही शिलाजीत की खुराक लें।

  • गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाए
  • सिकल सेल एनीमिया
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • हेमोक्रोमैटोसिस

भोजन के साथ प्रतिक्रिया

शिलाजीत की भोजन के साथ प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

अन्य दवाई के साथ प्रतिक्रिया

निम्न दवाओं व घटको का उपयोग शिलाजीत के साथ ना करें । क्योंकि ये और शिलाजीत साथ में प्रतिक्रिया जल्दी करते है।

  • Alcohol (शराब)
  • Antidiabetic Drugs (मधुमेह की दवाई)

शिलाजीत की कीमत – Shilajit Price in Hindi

शिलाजीत के बहुत से प्रॉडक्ट बहुत से अलग-अलग ब्रांड बनाती है। निम्न कुछ प्रसिद्ध शिलाजीत प्रॉडक्ट है, जिनकी मात्रा और कीमत नीचे बताई गयी है।

आप इन्हे ऑनलाइन या लोकल स्टोर से खरीद सकते है, लेकिन शिलाजीत के प्रॉडक्ट की शुद्धता की जांच जरूर करें।

प्रॉडक्ट नाम मात्रा कीमत
Dabur Shilajit Gold 20 कैप्सुल420 रुपये
Patanjali Liquid Shuddh Shilajeet 20 ग्राम 104 रुपये
Upakarma Natural Pure Resin Raw Shilajit 15 ग्राम 1450 रुपये
Veda Pure Veda Pure Naturals Raw Shilajit (Semi Liquid)25 ग्राम 1500 रुपये

पढ़िये: जवारिश कमूनी के फायदे | Bustfull Cream in Hindi

Shilajit FAQ in Hindi

1) क्या शिलाजीत गर्भावस्था के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: शिलाजीत को गर्भावस्था के लिए पूर्णतया सुरक्षित नहीं माना जाता है क्योंकि यह एक गर्म घटक होता है, जो महिलाओं अत्यधिक में गर्मी पैदा कर सकता है। इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह गर्भावस्था में शिलाजीत युक्त उत्पादों का सेवन न करें।

2) क्या शिलाजीत एक नशेदार जड़ी-बूटी है?

उत्तर: नहीं, शिलाजीत नशेदार यौगिक नहीं है। आयुर्वेद में शिलाजीत का वर्णन “कामसूत्र” में देखने को मिलता है। इसको यौन स्वास्थ्य के लिए एक पेशेवर यौगिक माना जाता है, जो शरीर पर आदत बने बिना अपने प्रभाव को बरकरार रखता है। यह शरीर को इसके प्रति विवश नहीं करता है।

3) क्या शिलाजीत युक्त उत्पाद एल्कोहोल के साथ सुरक्षित है?

उत्तर: एल्कोहोल के साथ शिलाजीत को नहीं लेना चाहिए। इन दोनों की प्रतिक्रिया से सेहत जल्दी खराब हो सकती है। हालांकि इस बारें में ज्यादा रिसर्च न हो पाने के कारण शिलाजीत युक्त उत्पादों को एल्कोहोल के साथ लेने से पहले अच्छे आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें।

4) क्या शिलाजीत मानसिक एकाग्रता को प्रभावित कर सकता है?

उत्तर: इस हर्बल घटक द्वारा मानसिक, शारीरिक और यौन स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलता है, इससे सभी चीजों में संतुलन पैदा होता है। यह दैनिक कार्यों को संतुलित करने के लिए मानसिक एकाग्रता को प्रभावित नहीं करता है।

5) क्या शिलाजीत भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, यह हर्बल भारत में पूर्णतया लीगल है। इसे आयुर्वेद चिकित्सा में मुख्य सक्रिय घटक के नजरिये से देखा जाता है।

6) क्या शिलाजीत पाचन तंत्र को ठीक करने में सहायक हैं?

उत्तर: चूँकि यह एक आयुर्वेदिक दवा है, जो की भोजन को अच्छे से हजम कर ऊर्जा वर्धक (Energy Booster) का काम करती हैं। इसलिए यह अपच क्रिया को बढ़ा कर पाचन तंत्र को ठीक करती हैं।

7) क्या शिलाजीत को लैब में रासायनिक क्रियाओं द्वारा बनाया जा सकता हैं?

उत्तर: यह कुछ हद तक मुमकिन हैं, पर कृत्रिम रूप से बने शिलाजीत में वो गुण नहीं होते है, जो प्राकृतिक शिलाजीत में होते हैं।

8) शिलाजीत को दूध के साथ लेना उचित हैं या पानी के साथ?

उत्तर: शिलाजीत को दोनों के साथ लेना सुरक्षित हैं। दूध के साथ इसका सेवन ज्यादा असरदार हैं, लेकिन दूध से एलर्जी के मामले में इसका सेवन पानी से ही करना चाहिए।

9) किसी विशेष खाद्य पदार्थ के सेवन से बचा जाना चाहिए?

उत्तर: शिलाजीत का सेवन करते समय एल्कोहोल (Alcohol) से बचना चाहिए, क्योंकि दोनों की रासायनिक क्रिया से विषाक्ता का खतरा बना रहता हैं।

10) क्या शिलाजीत का उपयोग संभोग के लिए किया जा सकता हैं? ‌

उत्तर: चूँकि शिलाजीत, Testosterone (टेस्टोस्टेरोन) हार्मोन को बढ़ाता हैं और शुक्राणुओं की मात्रा के साथ-साथ स्टेमिना भी बढ़ाता है। इसलिए संभोग के लिए शिलाजीत का उपयोग किया जा सकता हैं।

पढ़िये: माजून फ्लास्फा की जानकारी | Kala Ghoda Cream in Hindi 

संदर्भ

Clinical evaluation of spermatogenic activity of processed Shilajit in oligospermia https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20078516/ Accessed On 15/07/2021

Chemistry of shilajit, an immunomodulatory Ayurvedic rasayan https://www.degruyter.com/document/doi/10.1351/pac199062071285/html Accessed On 15/07/2021

Shilajit: A Natural Phytocomplex with Potential Procognitive Activity https://www.hindawi.com/journals/ijad/2012/674142/ Accessed On 15/07/2021

Antiulcerogenic and antiinflammatory studies with shilajit https://www.sciencedirect.com/science/article/abs/pii/037887419090102Y Accessed On 15/07/2021

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *