सैल्मन मछली खाने के 12 फायदे व नुकसान | Salmon Fish in Hindi

salmon-fish-in-hindi

Salmon Fish in Hindi: इस लेख मे आपको सैल्मन मछली के बारे मे जानकारी मिलेगी, जो की एक प्रचलित खाद्य उत्पाद है। Salmon Fish से बहुत सी टेस्टी डिश बना सकते है और यह बहुत ज्यादा पोष्टिक होती है।

इस लेख मे आपको Salmon Fish के बारे मे निम्न बिन्दुओ पर जानकारी मिलेगी।

  • What is Salmon Fish in Hindi – सैल्मन मछली क्या है?
  • Salmon Fish types in Hindi – सैल्मन मछली के प्रकार
  • Salmon Fish Nutrition Facts in Hindi – सैल्मन मछ्ली मे पोषक तथ्य
  • Salmon Fish Benefits in Hindi – सैल्मन मछ्ली के फायदे
  • Salmon Fish Side Effects in Hindi – सैल्मन मछ्ली के नुकसान

What is Salmon Fish in Hindi – सैल्मन मछली क्या है?

Salmon Fish यानि सैल्मन मछली एक प्रकार की मछ्ली की प्रजाती है, जिसका इस्तेमाल विश्व के भिन्न देशो में भोजन के तौर पर होता है।

इन देशो में भारत, चीन, जापान, उत्तरी अमेरिका इत्यादि शामिल है। Salmon एक प्रकार की तैलीय मछली है, जिसमे भरपूर मात्रा मे प्रोटीन और Omega-3 फैटी एसिड होता है।

Salmon fish का मांस आमतौर पर लाल रंग या नारंगी होता है, हालांकि सफेद जंगली Salmon fish के कुछ उदाहरण हैं।

Salmon fish का रंग Carotenoid Pigments (Astaxanthin व Canthaxanthin) के कारण होता है। समुद्री सैल्मन मछली को क्रिल्लन और अन्य छोटे शेलफिश खाने से Carotenoid प्राप्त होते हैं।

पढ़िये:

Salmon Fish types in Hindi – सैल्मन मछली के प्रकार

स्त्रोत अनुसार

Salmon Fish को स्त्रोत अनुसार दो भागो मे बांटा गया है, Wild व Commerical।

1) जंगली सैल्मन (Wild) – इन सैल्मन को समुद्रों या किसी जलाशयो से पकड़ा जाता है, जिस तरह मछुआरे अन्य मछली को पकड़ते है।

2) खेती की हुई सैल्मन (Commercial) – इसमे सैल्मन के उत्पादन को किसी तालाब या पोखर में बढ़ाया जाता है। और समय आने पर उसे निकाल कर बेचा या खाया जाता है।

जंगली सैल्मन और खेती की सैल्मन में गुणवक्ता और गंदगी (Pollutants) को लेकर थोड़ा अंतर है। जंगली सैल्मन मे Omega-3 Fatty Acid बहुत ज्यादा होता है, लेकिन गंदगी हो सकती है। खेती की सैल्मन में omega-3 fatty acid का स्तर सामान्य होता है, लेकिन साफ होती है।

प्रजाति अनुसार

सैल्मन मछ्ली दुनिया भर मे पायी जाती है, जो अलग-अलग प्रजाति की होती है। सैल्मन मछ्ली की मुख्यत 6 प्रजाति है।

  • King/Chinook Salmon
  • Sockeye/Red Salmon
  • Coho/Silver Salmon
  • Pink/Humpback Salmon
  • Chum/Silverbrite/Keta/Dog Salmon
  • Atlantic/Salmo Salar Salmon

Salmon Fish Nutrition Facts in Hindi – सैल्मन मछ्ली मे पोषक तथ्य

सैल्मन मछ्ली को एक पोष्टिक आहार माना जाता है। 100 ग्राम सैल्मन मछ्ली मे निम्न पोषक तथ्य निम्न बताई मात्रा मे होते है।

तत्व मात्रा 
जल 68.5g
ऊर्जा 142kcal
प्रोटीन 19.84g
टोटल लिपिड 6.34g
ऐश 2.54g
कैल्शियम 12mg
आयरन 0.8mg
मैग्नीशियम 29mg
फास्फोरस 200mg
पोटैशियम 490mg
सोडियम 44mg
जिंक 0.64mg
कॉपर 0.25mg
मैग्नीशियम 0.016mg
सेलेनियम 36.5μg
थियामिन 0.226mg
राइबोफ्लेविन 0.38mg
नियासिन 7.86mg
विटामिन B6 0.818mg
फोलेट 25μg
विटामिन B12 3.18mg
विटामिन A 40IU

(g= ग्राम, mg= मिलीग्राम, μg= माइक्रोग्राम, IU= इंटरनेशनल यूनिट)

Salmon Fish की प्रजाति अनुसार इसके पोषक तत्वों व उनकी मात्रा मे बदलाव आता है।

कई बार प्रदूषण के कारण Salmon fish में PCBs, Metformin व Mercury जैसी गन्दगियाँ पायी जाती है।

Salmon Fish Benefits in Hindi – सैल्मन मछ्ली के फायदे

सैल्मन मछ्ली के रोज़ाना सेवन के निम्नलिखित फायदे है।

1) Salmon fish Omega-3 Fatty Acid

सैल्मन मछ्ली, लंबी श्रृंखला के ओमेगा-3 फैटी एसिड में समृद्ध है, जो सूजन को कम करने, रक्तचाप को कम करने और रोग के जोखिम कारकों को कम करने के लिए मदद करता है।

2) प्रोटीन का मुख्य स्रोत

हमारे शरीर को प्रोटीन की आवश्यकता घाव भरने, हड्डियों के स्वास्थ्य की रक्षा करने और मांसपेशियों के नुकसान को रोकने इत्यादि चीजों के लिए होती है। प्रत्येक 3.5-औंस salmon fish औसतः 22-25 ग्राम प्रोटीन प्रदान करता है।

3) विटामिन-बी की पूर्ती करता है

Salmon कई Vitamin B का एक उत्कृष्ट स्रोत है, जो ऊर्जा उत्पादन, सूजन को नियंत्रित करने और दिल और मस्तिष्क के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए आवश्यक हैं।

4) Potassium की ज़रूरतो को पूरा करता है।

100 ग्राम सामन पोटेशियम के RDI का 11–18% प्रदान करता है, जो रक्तचाप को नियंत्रित करने और अतिरिक्त द्रव प्रतिधारण को रोकने में मदद करता है।

5) Selenium से भरपूर होता है।

100 ग्राम Salmon fish मे सेलेनियम का 59-67% RDI प्रदान करता है, जो हड्डियों के स्वास्थ्य की रक्षा करने, थायराइड के कार्य में सुधार और कैंसर के जोखिम को कम करने में शामिल खनिज है।

6) मस्तिष्क के लिए असरदार

Astaxanthin, Salmon fish में पाया जाने वाला एक एंटीऑक्सिडेंट है, जो हृदय, मस्तिष्क, तंत्रिका तंत्र और त्वचा के स्वास्थ्य को लाभ पहुंचा सकता है।

7) हृदय के लिए लाभकारी

Salmon fish का सेवन ओमेगा -3 वसा के स्तर को बढ़ाकर, ओमेगा-6 वसा को घटाकर और Triglycerides को कम करके हृदय रोग से बचाने में मदद करता है।

8) वजन को नियंत्रित रखता है

Salmon Fish मे मौजूद तत्व मौटापे को नहीं बढाते है।

9) भिन्न स्वादिष्ट व्यंजनों के रूप में  मौजूद 

आप Salmon Fish का लुफ्त दुनिया के भिन्न हिस्सो में भिन्न व्यंजनों के तौर पर उठाया जा  सकता है।

10) त्वचा के लिए लाभकारी

Salmon fish सूजन को कम करने में मदद करती है। यह त्वचा को नमी प्रदान करती है।

Salmon Fish Side Effects in Hindi – सैल्मन मछ्ली के नुकसान

सैल्मन मछ्ली के सेवन के बहुत से फायदे है। लेकिन इसके अत्यंत व गलत सेवन से कुछ दुष्प्रभाव भी है।

प्रदूषण के चलते, अब Salmon fish में आर्सेनिक, मरकरी, पीसीबी, डीडीटी जैसे रसायन बहुत अधिक मात्रा में होते हैं और उनके मांस और वसा में लीड (Lead) होता है। और ये सभी रसायन हमारे शरीर के लिए बहुत हानिकारक होते है।

कच्चे Salmon fish को खाने से शरीर में कई जहरीले जोक और कीड़े आ सकते है। जो किसी के लिए भी जानलेवा साबित हो सकता है।

जिस स्तर पर Salmon FIsh का सेवन दुनिया भर में हो रहा है, जिससे इस प्रजाति के खत्म होने तथा पर्यावरण के संतुलन बिगड़ने की भी संभावना है।

पढ़िये:

Salmon Fish Precautions in Hindi – सैल्मन मछ्ली से जुड़ी सावधानिया।

Salmon fish से जुड़ी कुछ निम्नलिखित सावधानिया बरतनी चाहिए।

  • Salmon fish को कच्चा कभी न खाये। Salmon fish को कच्चा खाने से आपके शरीर में बहुत विशैले जोक अथवा कीड़े जा सकते है।
  • Salmon fish को पकाने से पहले अच्छे से साफ़ करे।
  • Salmon fish को अच्छे से पकाये। (कम से कम 145°C पर)
  • पकाने के बाद उसे रेफ्रीजिरेटर में ठंडा करने के लिए सकते है।
  • जिन लोगो को मांस से एलर्जी है, वे पहले विशेषज्ञ से सलाह ले।
  • Salmon Fish को अक्सर पानी से निकालने के बाद लंबे समय तक बर्फ मे रखा जाता है। ऐसी मछ्ली खाने पर पेट खराब व अन्य बीमारी होने का खतरा होता है।

Salmon Fish Price – सैल्मन मछ्ली की कीमत

सैल्मन मछ्ली की कीमत मछ्ली की क्वालिटी व प्रजाति पर निर्भर होती है। भारत में आपको सैल्मन मछ्ली 450-550 रुपए किलो के दर से मिल जाएगी।

बाकी अन्य देशो मे इसकी कीमत अलग-अलग होती है।

Salmon Fish FAQ in Hindi

निम्नलिखित कुछ प्रश्न और उनके जवाब जो आमतौर पर Salmon Fish के बारे में पूछे जाते है।

Q1) Indian Salmon Fish किसे कहते है ?

उत्तर- Rawas fish, जो मुख्यत पश्चिमी समुद्री तटो पर पायी जाती है।

Q2) क्या Salmon Fish में बहुत ज्यादा Mercury होती है?

उत्तर- नहीं, Salmon Fish में सामान्य मात्रा में Mercury पायी जाती है।

Q3) Salmon Fish की जीवन आयु कितनी होती है?

उत्तर- Salmon Fish की आयु 3 से लेकर 8 साल तक होती है।

Q4) Salmon Fish के मांस का रंग लाल क्यों होता है?

उत्तर- Salmon Fish का लाल रंग Carotenoid Pigment के कारण होता है। जो Salmon fish को उसके भोजन द्वारा मिलता है।

Q5) क्या Salmon तैलीय मछली है?

उत्तर-हाँ, Salmon तैलीय मछ्ली है।

Q6) क्या Rawas और Salmon मछ्ली एक है ?

उत्तर:- नहीं, दोनों अलग अलग है। Rawas, Salmon fish की तरह लगती है, इसलिए Rawas को Indian Salmon कहा जाता है।

Q7) Salmon fish खाना क्यों फायदेमंद है?

उत्तर: सैल्मन मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड व अन्य पोषक तत्व पाये जाते है। जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है।

पढ़िये:

Salmon Fish Dishes Name – सैल्मन मछली के व्यंजन

सैल्मन मछली का सेवन बहुत से देशो मे होता है और हर जगह इसकी अलग-अलग डिश प्रचलित है। नीचे आपको सैल्मन मछली के कुछ जाने माने डिश के नाम व किस जगह पर सबसे ज्यादा बनाई जाती है, उसकी जानकारी दी है।

डिश का नाम जगह
Garvlax व Lohikeitto Nordic Countries
Lomi Salmon Polynesia
Lox European Jewish (Ashkenazi)
Rui-be, Salmon shshimi Japan
Salmon sushi Norway
Kippred Salmon Hupa,Yurok

निष्कर्ष

हमे उम्मीद है, कि यह लेख “सैल्मन मछली खाने के 12 फायदे व नुकसान | Salmon Fish in Hindi” आपके लिए उपयोगी होगा।

इसके साथ आपको Salmon Fish in Hindi, सैल्मन मछली के फ़ायदे, उपयोग, प्रयोग, नुक्सान, Side Effects, ख़ुराक, पोषक तथ्य, प्रकार, कीमत की पूरी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है, तो कमेंट कर सकते है।

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी?
[Total: 0 Average: 0]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *