rasayan-vati-in-hindi

रसायन वटी के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी, उपयोग | Rasayan Vati in Hindi

राजवैध रसायन वटी: इस लेख मे Rasayan Vati के बारे मे जानकारी है, जो राजवैध नामक कंपनी के प्रचलित है। रसायन वटी मे शिलाजीत, मूसली दालचीनी जैसे अन्य तत्व है, जो पुरुषो के लिए रामबाण जोशवर्धक (Stamina booster) है।

इस लेख मे आपको राजवैध रसायन वटी के बारे मे निम्न बिन्दुओ पर जानकारी मिलेगी।

  • राजवैध रसायन वटी क्या है? What is Rasayan Vati in Hindi
  • Rasayan Vati Benefits in Hindi – राजवैध रसायन वटी के फायदे
  • Rasayan Vati Uses in Hindi – राजवैध रसायन वटी के उपयोग
  • Rasayan Vati Side Effects in Hindi – रसायन वटी के दुष्प्रभाव
  • Rasayan Vati Dosage in Hindi – रसायन वटी की खुराक

राजवैध रसायन वटी क्या है? What is Rasayan Vati in Hindi

राजवैध रसायन वटी एक आयुर्वेदिक ऊर्जावर्धक दवा हैं, जिसका निरन्तर उपयोग करने से शरीर की पुरानी से पुरानी थकान या कमजोरी को दूर किया जा सकता हैं।

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में इंसान जरूरी पोषक तत्वों से वंचित रह जाता हैं, जिसकी वजह से तनाव, नई-नई प्रकार की बीमारियां, थकावट, दर्द, चिड़चिड़ापन आदि लक्षणों का शिकार होना पडता हैं। इनका समाधान रसायन वटी से कर सकते है।

राजवैध रसायन वटी पुरूषों के गुप्त रोगों के लिए उपयुक्त दवा हैं, जो सम्पूर्ण शारीरिक और मानसिक स्थिति को निरोगी बनाती हैं। 

रसायन वटी OTC वर्ग का उत्पाद है, जिसे डॉक्टर की सलाह बिना भी उपयोग किया जा सकता है। इसे ऑनलाइन या लोकल मेडिकल स्टोर से भी खरीद सकते है। अमेज़न से खरीदने पर आपको इस प्रॉडक्ट पर कुछ प्रतिशत छूट जरूर मिलेगी।

डिस्काउंट पाये
RAJBAIDH Rasayan Vati (200 Tablets)
292 Reviews

पढ़िये: नुट्रीगेन की फायदे | Musli Pak in Hindi

रसायन वटी के घटक – Rasayan Vati Ingredient in Hindi

रसायन वटी मे निम्न सामग्री (Ingredient) नीचे बताई मात्रा मे होते है। जो जिसे प्रभावी बनाते है।

  • असगंद – 70 मिलीग्राम
  • त्रिफला चूर्ण – 60 मिलीग्राम
  • लोह भस्म – 50 मिलीग्राम
  • शुद्ध शिलाजीत – 50 मिलीग्राम
  • यशद भस्म – 40 मिलीग्राम
  • गोखरू – 35 मिलीग्राम
  • मूसली – 25 मिलीग्राम
  • जायफल – 20 मिलीग्राम
  • केसर – 20 मिलीग्राम
  • दालचीनी – 20 मिलीग्राम
  • सौठ, मिर्च, पिपली – 10 मिलीग्राम
  • अभ्रक भस्म – 10 मिलीग्राम
  • स्वर्ण मक्षिक भस्म – 10 मिलीग्राम
  • मुक्ता पिसती – 10 मिलीग्राम
  • जावित्री – 10 मिलीग्राम
  • मंजीत – 10 मिलीग्राम
  • अनंत मूल – 10 मिलीग्राम
  • ब्राह्मी – 10 मिलीग्राम
  • बुंग भस्म – 10 मिलीग्राम
  • स्वर्ण भस्म – 10 मिलीग्राम
  • भूमि आमला – 10 मिलीग्राम

ध्याने रखे, अलग-अलग कंपनिया अलग-अलग तरीके से रसायन वटी बनाती है। इसलिए घटक व उनकी मात्रा मे थोड़ा परिवर्तन हो सकता है।

रसायन वटी कैसे काम करता है?

  • रसायन वटी अपनी Anti-Anemic क्रिया से तनाव, इंसोमिया को कम करती है और मानसिक स्वास्थ्य मे सुधार होता है।
  • रसायन वटी अपने Diuretic गुण से मूत्र नलिका को साफ व स्वस्थ रखती है।
  • इसमे मौजूद शिलाजीत जैसे अन्य तत्व पुरुषो मे जोशवर्धक का काम करती है। जिससे यौन स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलता है।
  • रसायन वटी मे मौजूद घटक शुक्राणुओं की संख्या मे इजाफा करते है।

राजवैध रसायन वटी के फायदे – Vati Benefits in Hindi

प्राकृतिक गुणों से लदालद होने के कारण रसायन वटी के बहुत से फायदे हैं। जिसमे से प्रमुख फायदे निम्नलिखित है।

  • अश्वगन्धा और शिलाजीत इसके मुख्य घटक होने के कारण यह बहुत सी पुरानी शारीरिक एवं मानसिक थकान या कमजोरी को मिटाने में सहायक हैं।
  • परंपरागत गुणों को सहजने में फायदेमंद है।
  • पुरुषों के खोये हुए जोश और ऊर्जा को वापस लाने में मददगार है।
  • रसायन वटी शरीर मे जॉइंट दर्द में राहत देती हैं।
  • अपचयन क्रिया (Redox) को बढ़ा कर, रसायन वटी पाचन तंत्र को मजबूत करती हैं।
  • भूख लगाने में सहायक है।
  • रसायन वटी का आसानी से उपलब्ध होना भी इसका एक फायदा हैं।
  • रसायन वटी त्वचा को कोमल और मस्सल वृद्धि करने में कारगर है।
  • अनियमित रक्त के संचरण को ठीक कर दिल की धड़कन को नियमित करने में मददगार है।
  • हीमोग्लोबिन का स्तर बनाये रखने में महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करती हैं।
  • बालों को झड़ने से रोकने में सहायक है।
  • रसायन वटी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है।
  • शुक्राणुओं की संख्या और गतिशीलता को बढ़ा कर यौन स्वास्थ्य को बढ़ावा देती हैं।
  • नर हार्मोन (Testosterone: टेस्टोस्टेरोन) के स्तर में सुधार करती हैं।
  • पेट दर्द और कब्ज के लक्षणों को दूर करने में सहायक हैं।
  • शुक्र वाहिनियों को दृढ़ करने में मददगार है।

पढ़िये: दिव्य मेदोहर वटी के फायदेDabur Pudin Hara in Hindi 

राजवैध रसायन वटी के उपयोग – Rasayan Vati Uses in Hindi

निम्न अवस्थाओ मे रसायन वटी उपयोग की जाती है। लेकिन ध्यान रखे, आप इसका इस्तेमाल किसी बीमारी के इलाज मे विशेषज्ञ व डॉक्टर की सलाह के बाद ही करे।

  • ज्यादा तनाव में
  • निद्रा में
  • जोड़ो के दर्द में
  • पेट दर्द एवं कब्ज में
  • यौन रोगों में
  • शारीरिक एवं मानसिक थकान में
  • पोषक तत्वों की कमी में
  • हर्दय रोगों में
  • नपुंसकता में
  • शीघ्रपतन में

रसायन वटी के दुष्प्रभाव – Rasayan Vati Side Effects in Hindi

Rasayan Vati में सभी घटक पूर्ण रुप से प्राकृतिक हैं और इसका निर्माण खाशकर पुरुषों की वैवाहिक जीवन को ध्यान में रखकर किया गया हैं।

रसायन वटी के सेवन के इतने साइड एफ़ेक्ट्स दर्जित नहीं है, लेकिन एलर्जी जैसी आम समस्या हो सकती है।

अगर किसी व्यक्ति को मधुमेह और ब्लड-प्रैशर से जुड़ी समस्या हैं, तो बिना डॉक्टर की सलाह इसका सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसी स्थिति में सावधानी बरतनी चाहिए अन्यथा भारी दुष्प्रभाव का सामना करना पड़ सकता हैं।

रसायन वटी की खुराक – Rasayan Vati Dosage in Hindi

इसका सेवन बच्चों से लेकर बुजुर्गों में पूरी तरह से सुरक्षित और लाभकारी हैं।

इसकी खुराक पूरी तरह से व्यक्ति की उम्र, अवस्था व जरूरत पर आधारित है। इसलिए खुराक विशेषज्ञ से सलाह लेने के बाद ही शुरू करे।

आमतौर पर रसायन वटी की एक-एक टैबलेट का सेवन सुबह-शाम खाना खाने के बाद 1 घण्टे के अन्तराल में करना चाहिए। इसका सेवन दूध या पानी किसी के साथ भी किया जा सकता हैं।

एक महीने तक लगतार इसके सेवन से पुरुषों की अधिकतर कमजोरियों से निजात पाया जा सकता हैं।

बच्चों को एक दिन में एक गोली का सेवन ही कराना चाहिए। क्योंकि बच्चे अपरिपक्व होते है, इसलिए ज्यादा खुराक के कारण बाद में दिक्कतें आ सकती हैं।

पढ़िये: प्रोटीनेक्स पाउडर की खुराक | Chericof Syrup in Hindi

Rasayan Vati FAQ in Hindi

1) क्या Rasyan Vati Antioxident होती हैं?

उत्तर :Rasyan Vati में शक्तिशाली और ऊर्जावर्धक तत्व होते हैं, जो पूरी तरह से प्राकृतिक होते हैं। इनके सेवन से ऑक्सीकरण प्रक्रिया तो होती हैं, परंतु किसी भी हानिकारक बैक्टेरिया का उत्पादन नहीं होता हैं। यह Antioxident नहीं हैं।

2) क्या Rasyan Vati से पुरुषों की हर तरह की कमजोरियों को दूर किया जा सकता हैं?

उत्तर: Rasyan Vati के लंबे इस्तेमाल करते रहने से अधिकतर कमजोरी या थकान को दूर किया जा सकता हैं, बिना किसी Side Effect के। यह पुरुषों के लिए रामबाण औषधि हैं, जो बहुत उपयोगी हैं।

3) क्या Rasyan Vati के लंबे इस्तेमाल से इसकी आदत लग जाती हैं?

उत्तर: Rasyan Vati को दैनिक जीवन से जोड़ने के शरीर को कई फायदे है और इसमें उन प्राकृतिक घटकों का समन्वय हैं। जिनके सेवन से शरीर को लत नहीं लगती।

4) क्या Rasyan Vati ठंड से राहत प्रदान करने में सहायक हैं?

उत्तर: चूँकि इसमें शिलाजीत और सफेद मूसली होता हैं, जो शरीर के तापमान को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं। इसलिए Rasyan Vati ठंड से राहत प्रदान करने में सहायक हैं।

5) क्या Rasyan Vati का उपयोग सम्भोग के लिए किया जा सकता हैं?

उत्तर: यह दवा वैवाहिक संबंध को ध्यान में रख कर ही बनाई गई हैं। चूँकि Rasyan Vati टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्तर को बढ़ाता हैं और शुक्राणुओं की मात्रा के साथ-साथ Stamina भी बढ़ाता है। इसलिए संभोग के लिए Rasyan Vati का उपयोग किया जा सकता हैं।

6) क्या Rasyan Vati भारत में Legal (संवैधानिक) हैं?

उत्तर: हाँ, Rasyan Vati भारत में पूर्ण रुप से Legal हैं।

7) रसायन वटी के साथ किसी विशेष खाद्य पदार्थ के सेवन से बचा जाना चाहिए?

उत्तर: Rasyan Vati का सेवन करते समय शराब (Alcohol) से बचना चाहिए।

8) क्या Rasyan Vati का सेवन भोजन से पहले किया जा सकता हैं?

उत्तर: Rasyan Vati में भारी घटक होते हैं, जो खाली पेट पाचित नहीं हो सकते। इसलिए इसका पूरा लाभ उठाने के लिए, इसे भोजन करने के बाद ही लेना चाहिए।

पढ़िये: मैकटोटल कैप्सूल की जानकारी | Zevit Capsule in Hindi

2 thoughts on “रसायन वटी के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी, उपयोग | Rasayan Vati in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अस्वीकरण

हम पूरी कोशिश करते है, कि इस साइट पर मौजूद जानकारी सही, पूरी व नवीनतम हो। लेकिन हम इसकी सटीकता की गारंटी नहीं लेते है। यह लेख सिर्फ जानकारी मात्र है और इसका उपयोग चिकित्सकीय परामर्श के विकल्प में उपयोग ना करें। किसी भी प्रकार की हानी होने पर, आप स्वयं जिम्मेदार होंगे।