Himplasia Tablet in Hindi: फायदे, नुकसान, खुराक, कीमत, सावधानी, उपयोग, साइड इफ़ेक्ट्स | हिमालय हिम्प्लासिया टैबलेट

नाम (Name)Himalaya Himplasia Tablet
संरचना (Composition)शतावरी + अकीक पिष्टी + बबूल + पुट्टीकरनजा + गोक्षुरा + वरुणा + पुंगा + कुलथी + एलोवेरा
निर्माता (Manufacturer)Himalaya Drug Company
दवा-प्रकार (Type of Drug)आयुर्वेदिक दवा
उपयोग (Uses)यूरोलिथिएसिस, BHP, बार-बार पेशाब आना, प्रोस्टेट बढ़ना आदि
दुष्प्रभाव (Side Effects)सामान्य दस्त, मुँह में छाले, चयापचय में गड़बड़ी आदि
ख़ुराक (Dosage)डॉक्टरी सलाह अनुसार
किसी अवस्था पर प्रभावअतिसंवेदनशीलता, एस्ट्रोजन प्रेरित विकार
खाद्य पदार्थ से प्रतिक्रियाअज्ञात
अन्य दवाई से प्रतिक्रियाअज्ञात
कीमत (Price)160 रूपये (30 टैबलेट)

हिम्प्लासिया टैबलेट क्या है? – What is Himplasia Tablet in Hindi

हिम्प्लासिया टैबलेट का सही तरीकों से पालन करने पर मुख्यतः प्रोस्टेट ग्रंथि के बढ़ने की समस्या में लाभ पाया जा सकता है।

Advertisements

प्रोस्टेट ग्रन्थि ठीक मूत्राशय के नीचे स्थित होती है, जो उम्र के साथ बड़ी होती जाती है।

यह ग्रंथि पुरूष प्रजनन प्रणाली का एक अहम हिस्सा मानी जाती है, जिसमें से मूत्र नलिकाओं का मार्ग होता है। कुछ स्थितियों में, यह ग्रंथि कुछ ज्यादा बड़ी हो जाने के कारण मूत्र नलिकाओं पर दबाव पड़ता है, जिसके कारण वे सिकुड़ जाती है। ऐसा होने पर, मूत्र संबंधी कई विकारों की शिकायतें बढ़ने लगती है।

यह दवा प्रोस्टेट ग्रंथि की सूजन को कम कर मूत्राशय में एकत्रित मूत्र को पूरा बाहर निकालने में मदद करती है, जो यूरिन इंफेक्शन को ठीक करने में भी फायदेमंद साबित होती है।

हिम्प्लासिया टैबलेट Benign Prostatic Hyperplasia (BHP) के लिए एक नैदानिक अनुसंधान है, जो मूत्र प्रभावी लक्षणों के लिए लंबे समय तक चलने वाला इलाज है।

हिमालय कंपनी की यह दवा OTC वर्ग से है, जिसे खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची जरूरी नहीं है।

हिम्प्लासिया टैबलेट को एस्ट्रोजन प्रेरित समस्याओं और अतिसंवेदनशीलता के मामलों में पूरी तरह नजरअंदाज किया जाना चाहिए।

हिम्प्लासिया टैबलेट की संरचना – Himplasia Tablet Composition in Hindi

निम्न घटक Himplasia Tablet में मौजूद होते है।

शतावरी + अकीक पिष्टी + बबूल + पुट्टीकरनजा + गोक्षुरा + वरुणा + पुंगा + कुलथी + एलोवेरा

पढ़िये: हमदर्द कुर्स जिरयान | Sudol Gel in Hindi 

Himplasia Tablet कैसे काम करती है?

  • शतावरी प्रजनन अंगों को सुरक्षित रखने के लिए मूत्र संस्थान को मजबूत बनाने का प्रयास कर सकती है। पथरी के दौरान पेशाब न निकलने में हो रही कठिनाई को शतवारी द्वारा दूर किया जा सकता है क्योंकि यह पथरी को गलाने में सहायक हो सकती है।
  • गोक्षुरा मूत्र के जमाव को खत्म करने का कार्य करता है। यह शरीर के अतिरिक्त पानी को बाहर निकालने के लिए निरंतर मूत्र का कारण बनता है। गोक्षुरा हीमैच्युरिया (Hemichorea), BPH, जेनिटोयूरीनरी संक्रमण और पेशाब में दर्द जैसी गंभीर स्थितियों के रोकथाम और उपचार में सहायक हो सकता है।
  • वरुणा में प्रभावशाली सूजनरोधी गुण शामिल होते है, जो सूजन के साथ ही दर्द को दूर करने का कार्य कर सकती है। यह मूत्र प्रणाली के समस्त कार्यों को बेहतर ढंग से सुचारू बनाएं रखने में मददगार हो सकती है।
  • पुंगा 5α-Reductase एंजाइम को बाधित करने का कार्य करता है, जिसके कारण यह टेस्टोस्टेरोन को डाइहाइड्रोटेस्टोस्टेरोन में बदलने से रोकता है। यह डाइहाइड्रोटेस्टोस्टेरोन हार्मोन बीपीएच के लिए जिम्मेदार हो सकता है।

हिम्प्लासिया टैबलेट के उपयोग व फायदे – Himplasia Tablet Uses & Benefits in Hindi

Himplasia Tablet को निम्न अवस्था व विकार में सलाह किया जाता है।

  • यूरोलिथिएसिस
  • Benign Prostatic Hyperplasia (BHP)
  • बार-बार पेशाब आना
  • कमजोर मूत्र प्रवाह
  • मूत्र उत्सर्जन में घबराहट
  • एंड्रोजेनिक एलोपेसिया
  • यूरिन इंफेक्शन
  • प्रोस्टेट बढ़ना

हिम्प्लासिया टैबलेट के दुष्प्रभाव – Himplasia Tablet Side Effects in Hindi

निम्न साइड इफेक्ट्स Himplasia Tablet के कारण हो सकते है। आमतौर पर साइड इफेक्ट्स Himplasia Tablet से शरीर की अलग प्रतिक्रिया व गलत खुराक से होते है और सबको एक जैसे साइड इफेक्ट्स नहीं होते है। अत्यंत Himplasia Tablet से दुष्प्रभाव में डॉक्टर की सहायता लें।

  • सामान्य दस्त
  • मुँह में छाले
  • चयापचय में गड़बड़ी

पढ़िये: चंदनासव | Arvindasava in Hindi

हिम्प्लासिया टैबलेट की खुराक – Himplasia Tablet Dosage in Hindi

  • किसी भी अवस्था में Himplasia Tablet की खुराक हमेशा डॉक्टर या विशेषज्ञ से निजी परामर्श के बाद लेनी चाहिए।
  • Himplasia Tablet बच्चों में वर्जित है। इस दवा को बिना डॉक्टर की मंजूरी के बच्चों में नहीं दिया जाना चाहिए।
  • Himplasia Tablet की खुराक को अधिक आयु के बुजुर्गों के लिए निर्देशित किया जा सकता है। इस विषय में दवा को बुजुर्गों की एलर्जिक स्थितियों की पूरी जांच के बाद ही शुरू करें।
  • Himplasia Tablet की खुराक के लिए रोजाना एक निश्चित समय का पालन करें। इस दवा की खुराक में हर तरह के बदलाव हेतु डॉक्टरी सहायता अवश्य लें।
  • Himplasia Tablet को मौखिक रूप से गुनगुने पानी के साथ ग्रहण करें। इस टैबलेट को तोड़ने, चबाने और कुचलने की बजाय एक बार में पूरा निगलना ज्यादा बेहतर है।
  • एक खुराक छूट जाये, तो निर्धारित Himplasia Tablet का सेवन जल्द करें। अगली खुराक Himplasia Tablet की निकट हो, तो छूटी खुराक ना लें।

सावधानियां – Himplasia Tablet Precautions in Hindi

निम्न सावधानियों के बारे में Himplasia Tablet के सेवन से पहले जानना जरूरी है।

किसी अवस्था से प्रतिक्रिया

निम्न अवस्था व विकार में Himplasia Tablet से दुष्प्रभाव की संभावना ज्यादा होती है। इसलिए जरूरत पर, डॉक्टर को अवस्था बताकर ही Himplasia Tablet की खुराक लें।

  • अतिसंवेदनशीलता
  • एस्ट्रोजन प्रेरित विकार

भोजन के साथ प्रतिक्रिया

Himalaya Himplasia Tablet की भोजन के साथ प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

पढ़िये: टंकण भस्म | Himalaya Septilin Tablet in Hindi

Himplasia Tablet FAQ in Hindi

1) क्या Himplasia Tablet कामेच्छा की कमी में सुधार कर सकती है?

उत्तर: यह दवा मूत्र संस्थान और प्रोस्टेट ग्रंथि पर कार्य करती है, जो प्रजनन प्रणाली के हिस्से है। पेशाब की कमी से अक्सर नर जनन अंग में उत्तेजना कम हो सकती है, जिसका बुरा असर सीधा कामेच्छा पर पड़ता है। यह दवा प्रोस्टेट ग्रंथि की समस्याओं को हल कर कामेच्छा के सुधार में सक्षम हो सकती है, लेकिन इस विषय में अपने चिकित्सक की राय अवश्य ली जानी चाहिए।

2) क्या Himplasia Tablet हाइड्रोसील के इलाज में सहायक हो सकती है?

उत्तर: नहीं, यह दवा हाइड्रोसिल के इलाज में सहायक नहीं है। हाइड्रोसील एक अंडकोष की समस्या है, जिसमें उनका आकार सामान्य से कई गुना बढ़ जाता है। इस समस्या के उपचार हेतु एक सख्त चिकित्सा निगरानी आवश्यक है।

3) क्या Himplasia Tablet गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: नहीं, यह दवा गर्भवती महिलाओं में सुरक्षित नहीं है। इस दवा के घटक गर्भाशय पर बुरा असर डाल सकते है और साथ ही, इस दवा की उपचार अवधि भी लंबी होती है। इस विषय में अपने चिकित्सक से व्यक्तिगत परामर्श अवश्य लें।

4) Himplasia Tablet की दो लगातार खुराकों के बीच कितना समय अंतराल रखें?

उत्तर: इस दवा की एक गोली सुबह लेने के बाद अगली खुराक रात को सोने से पहले लें। इस बीच कम से कम 8-10 घंटों का समय अंतराल अवश्य रखें।

5) क्या Himplasia Tablet को भूखे पेट लिया जा सकता है?

उत्तर: Himplasia Tablet को भोजन के बाद लेना सर्वोत्तम माना जाता है। भूखे पेट इस दवा को लेने से दवा का परिणाम कुछ कम या बदल सकता है।

6) क्या Himplasia Tablet मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकती है?

उत्तर: इस विषय में कोई शोध न हो पाने के कारण अपने मासिक धर्म चक्र से जुड़े चिकित्सक की मदद ले सकते है।

7) क्या Himplasia Tablet एक नशेदार उत्पाद है?

उत्तर: नहीं, इस हर्बल गुणों से युक्त दवा को लंबे समय के लिए प्रधानता इसलिए दी जाती है, क्योंकि इससे सेहत नशामुक्त रहती है। इस दवा को लेने से इसकी आदत नहीं लगती है, जो की इसमें नशेदार उत्पाद न होने का एक प्रमाण है।

8) क्या Himplasia Tablet की खुराक के बाद ड्राइविंग कर सकते है?

उत्तर: Himplasia Tablet की मस्तिष्क की एकाग्रता और शारीरिक क्षमता को प्रभावित नहीं करती है। इस विषय में ड्राइविंग करना निजी निर्णय हो सकता है, लेकिन खराब वर्तमान स्थिति के चलते ड्राइविंग से परहेज किया जाना ज्यादा उचित है।

9) क्या Himplasia Tablet स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: नहीं, यह दवा स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है। इस संबंध में ज्यादा जानकारी के लिए एक अच्छे चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

10) क्या Himplasia Tablet एल्कोहोल के साथ सुरक्षित है?

उत्तर: इस विषय में पूरा शोध न हो पाने के कारण बेहतर यही होगा कि आप अपने चिकित्सक की सलाह को पहली प्राथमिकता दें।

11) क्या Himplasia Tablet मूत्र नलिकाओं की कमजोरी को दूर कर सकती है?

उत्तर: हाँ, यह दवा मूत्र नलिकाओं की कमजोरी को दूर कर सकती है। यह दवा पूरे मूत्र संस्थान को ठीक करने में सहायक हो सकती है और इसके अलावा, यह मूत्र नलिकाओं की सूजन को कम कर मूत्र के प्रवाह को बढ़ाने में मददगार हो सकती है।

12) क्या Himplasia Tablet भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, यह दवा भारत में पूर्णतया लीगल है।

पढ़िये: अजमोदादि चूर्ण | Erotican Capsule in Hindi

References

Clinical evaluation of Himplasia in the management of benign prostate hyperplasia. https://researchpapers.himalayawellness.in/pdf_files/himplasia012.pdf Accessed On 29/05/2021

Evaluation of the efficacy and safety of Himplasia in BPH: A randomised, double-blind, placebo-controlled, phase III clinical trial https://researchpapers.himalayawellness.in/pdf_files/himplasia010.pdf Accessed On 29/05/2021

Clinical evaluation of Himplasia in benign prostatic hyperplasia: An open clinical trial https://researchpapers.himalayawellness.in/pdf_files/himplasia008.pdf Accessed On 29/05/2021

Efficacy and safety of ‘Prostane’ in the management of symptomatic benign prostatic hyperplasia: A clinical evaluation https://researchpapers.himalayawellness.in/pdf_files/himplasia002.pdf Accessed On 29/05/2021

Editorial Team: रवि कुमावत हेल्थ पर लेख लिखते है। शिक्षा अनुसार रवि फर्मासिस्ट है और इन्हें किताबे पढ़ने और क्रिकेट में रुचि है। पिछले कुछ सालों से रवि ने स्वास्थ्य और इससे जुड़े उत्पादों पर लिखकर अपनी अहम भूमिका दी है।
Recent Posts