Himalaya Diabecon DS Tablet

Himalaya Diabecon DS Tablet के फायदे, नुकसान, खुराक, सावधानी | हिमालया डायबकॉन टैबलेट

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट क्या है? – What is Himalaya Diabecon DS Tablet in Hindi

Diabecon DS Tablet को मधुमेह के मामलों में इस्तेमाल किया जाता है।

इसे मधुमेह के शुरुआती चरणों में लेने से मधुमेह को नियंत्रित कर इसे खत्म किया जा सकता है। यह लिपिड और चयापचय में सुधार करने वाली एक आयुर्वेदिक दवा है।

इसमें पाया जाने वाला इंसुलिनोट्रोपिक गुण, इंसुलिन उत्पादन करने वाली बीटा कोशिकाओं को उत्तेजित करने का कार्य करता है।

यह दवा शुगर, उच्च इंसुलिन प्रतिरोध, टाइप-1 और टाइप-2 डायबिटीज, कमजोर याददाश्त, मोटापा आदि के इलाज में मददगार हो सकती है।

इसे Himalaya Drug Company द्वारा बनाया जाता है। इसकी एक बोतल की कीमत 175 रुपये है, जिसमें 60 टैबलेट होती है।

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट की संरचना – Himalaya Diabecon DS Tablet Composition in Hindi

निम्न घटक Himalaya Diabecon DS Tablet में होते है।

मेशाश्रृंगी + गुग्गुल + मुलेठी + शतावरी + पुनर्नवा + गुडुची + घृतकुमारी + दारुहल्दी + जामुन + पिटासरा + शिलाजीत + विजयसार + गुड़मार

पढ़िये: लिव 52 डीएस टैबलेट |  IME 9 Tablet in Hindi

Himalaya Diabecon DS Tablet कैसे काम करती है?

  • यह दवा रक्त में ग्लूकोज को बढ़ी मात्रा को कम कर उसे नियंत्रित करने का कार्य करती है। इस वजह से यह डायबिटीज में उपयोगी साबित होती है।
  • यह दवा कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय के जोखिमों को कम करने में सहायक है। अत्यधिक कोलेस्ट्रोल से मोटापे की समस्या हो सकती है, जिसे इस दवा द्वारा काबू में किया जा सकता है।
  • इस दवा के प्रयोग से इंसुलिन निकलने में आ रही कठिनाई को दूर किया जा सकता है। मधुमेह के लक्षणों को कम करने के लिए इंसुलिन के प्रतिरोध को कम कर इंसुलिन के स्राव को बढ़ाया जाना आवश्यक होता है।
  • इसमें हाइपोग्लाइसिमिक और प्रतिरक्षा को मजबूत करने वाले गुण भी शामिल होते है।

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट के उपयोग व फायदे – Himalaya Diabecon DS Tablet Uses & Benefits in Hindi

Himalaya Diabecon DS Tablet को निम्न अवस्था या विकार में सलाह किया जाता है।

  • टाइप-1 और टाइप-2 डायबिटीज
  • शुगर
  • उच्च इंसुलिन प्रतिरोध
  • मोटापा
  • बार-बार भूलने की बीमारी
  • वजन बढ़ना
  • मोटापा

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट के दुष्प्रभाव – Himalaya Diabecon DS Tablet Side Effects in Hindi

निम्न साइड इफेक्ट्स Himalaya Diabecon DS Tablet के कारण हो सकते है। आमतौर पर साइड इफेक्ट्स Himalaya Diabecon DS Tablet से शरीर की अलग प्रतिक्रिया व गलत खुराक से होते है और सबको एक जैसे साइड इफेक्ट्स नहीं होते है।

  • दस्त
  • दुर्बलता
  • ज्यादा पसीना निकलना

पढ़िये: कायम टैबलेट | Volini Spray in Hindi

हिमालया डायबकॉन डीएस टैबलेट की खुराक – Himalaya Diabecon DS Tablet Dosage in Hindi

  • Himalaya Diabecon DS की खुराक सामान्य वयस्कों के लिए दिन में दो टैबलेट दो बार लेने की सलाह दी जाती है।
  • इस दवा को बच्चों में डॉक्टर की सलाह से ही दें। बुजुर्गों द्वारा दिन में दो बार दो टैबलेट की खुराक लेना उचित माना जाता है।
  • इसे लेने से पहले पैक की एक्सपायरी चैक कर लें तथा इसकी अति या दुरुपयोग से बचें।
  • इस टैबलेट को बिना तोड़ें, चबाएं या कुचले गुनगुने पानी के साथ निगल लेना चाहिए।
  • एक खुराक छूट जाये, तो निर्धारित Himalaya Diabecon DS Tablet का उपयोग जल्द करें। अगली खुराक Himalaya Diabecon DS Tablet की निकट हो, तो छूटी खुराक ना लें।
  • ओवरडोज़ से Himalaya Diabecon DS Tablet से दुष्प्रभाव ज्यादा हो सकते है। भारी साइड इफेक्ट Himalaya Diabecon DS Tablet से हो, तो डॉक्टर से मदद लें।

सावधानियां – Himalaya Diabecon DS Tablet Precautions in Hindi

निम्न सावधानियों के बारे में Himalaya Diabecon DS Tablet के उपयोग से पहले जानना जरूरी है।

किसी अवस्था से प्रतिक्रिया

निम्न अवस्था व विकार में Himalaya Diabecon DS Tablet से दुष्प्रभाव की संभावना ज्यादा होती है। इसलिए जरूरत पर, डॉक्टर को अवस्था बताकर ही Himalaya Diabecon DS Tablet की खुराक लें।

  • अतिसंवेदनशीलता
  • गर्भावस्था
  • लीवर या किडनी दुर्बलता

भोजन के साथ प्रतिक्रिया

Diabecon DS Tablet की भोजन के साथ प्रतिक्रिया की जानकारी अज्ञात है।

पढ़िये: इटोन आई ड्रॉप | Zandu Striveda Powder in Hindi

Himalaya Diabecon DS Tablet FAQ in Hindi

1) क्या Himalaya Diabecon DS को खरीदने के लिए डॉक्टरी पर्चे की आवश्यकता होती है?

उत्तर: नहीं, इस दवा के पैक को खरीदने के लिए डॉक्टरी पर्चे की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि सही खुराक और समयावधि के लिए आप अपने डॉक्टर की सलाह ले सकते है।

2) Himalaya Diabecon DS से उपचार की अवधि कितनी हो सकती है?

उत्तर: इस दवा से उपचार की लंबी चल सकती है क्योंकि यह मधुमेह जैसी दीर्घकालिक बीमारी के लिए चुनी जाती है। इस विषय में डॉक्टर के दिशा-निर्देशों का पालन अवश्य करें।

3) क्या Himalaya Diabecon DS शराब पीने वाले लोगों के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: एल्कोहोल का सेवन करने वाले लोगों के लिए यह दवा कितनी असरदार या हानिकारक हो सकती है, इसकी जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से बातचीत करें।

4) क्या Himalaya Diabecon DS गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: गर्भवती महिलाओं के लिए इस दवा के व्यवहार की जानकारी उपलब्ध नहीं है। इस विषय में अभी ज्यादा शोध की आवश्यकता है, इसलिए अपने चिकित्सक की सलाह से ही गर्भवती महिलाएं इस दवा कक अनुसरण करें।

5) क्या Himalaya Diabecon DS एक नशेदार दवा है?

उत्तर: नहीं, यह एक नशेदार दवा नहीं है। यह दवा स्वास्थ्य के लिए पूरी तरह नशामुक्त है और इससे शरीर को आदत नहीं लगती है। इस विषय में कोई आपत्ति होने पर आप किसी अच्छे सलाहकार से सलाह ले सकते है।

6) क्या Himalaya Diabecon DS स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

उत्तर: स्तनपान कराने वाली महिलाएं इसको लेने से पहले डॉक्टर से इस दवा के प्रभावों के बारें में जरूर पूछें।

7) क्या Himalaya Diabecon DS भूखे पेट सुरक्षित है?

उत्तर: भूखे पेट यह दवा बिल्कुल सुरक्षित है। इसे भूखे पेट लेने से दवा का अच्छा असर देखने को मिलता है।

8) क्या Himalaya Diabecon DS मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करती है?

उत्तर: नहीं, यह दवा प्राकृतिक चक्र को प्रभावित नहीं करती है। मासिक धर्म चक्र पर इस दवा का बुरा असर नहीं होता है।

9) Himalaya Diabecon DS की दो लगातार खुराकों के बीच कितना समय अंतराल रखें?

उत्तर: इस दवा की दो लगातार खुराकों के बीच कम से कम 5 से 6 घंटों का समय अंतराल देना चाहिए, ताकि दवा का ओवरडोज़ की वजह से कोई दुष्प्रभाव न हो।

10) क्या Himalaya Diabecon DS की खुराक के बाद ड्राइविंग करना सुरक्षित है?

उत्तर: इस विषय में ड्राइविंग करना आपका निजी निर्णय हो सकता है। हालात की गंभीरता और लक्षण अधिकता के मामलों में ड्राइविंग न करें।

11) क्या Himalaya Diabecon DS भारत में लीगल है?

उत्तर: हाँ, यह दवा भारत में पूर्णतया लीगल है।

पढ़िये: एमिल बीजीआर-34 टैबलेट | Peedanil Gold Tablet in Hindi

References

Diabecon Research and Clinical Studies https://www.favorfinesse.com/diabecon-research.shtml Accessed On 28/06/2021

A CRITICAL REVIEW ON GUGGULU [COMMIPHORA WIGHTII (ARN.) BHAND.] & ITS MIRACULOUS MEDICINAL USES https://www.ijapr.in/index.php/ijapr/article/view/168 Accessed On 28/06/2021

SYNONYMS AND THERAPEUTIC REVIEW OF MULETHI (GLYCYRRHIZA GLABRA LINN) COMMONLY KNOWN AS LICORICE : FROM KOSHA AND NIGHANTUS https://www.researchgate.net/publication/332012497_SYNONYMS_AND_THERAPEUTIC_REVIEW_OF_MULETHI_GLYCYRRHIZA_GLABRA_LINN_COMMONLY_KNOWN_AS_LICORICE_FROM_KOSHA_AND_NIGHANTUS Accessed On 28/06/2021

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *