Cranberry in Hindi | करौंदा के फ़ायदे, नुक्सान, ख़ुराक

KORANDA CRANBEERY IN HINDI

Cranberry जिसे हिन्दी मे करौंदा कहा जाता है, एक काफी पौष्टिक फल है। इस लेख हम करौंदा के बारे मे जानेंगे। जिसमे हम करौंदा के फायदे, उपयोग, दुष्प्रभाव, खुराक, व प्रयोग विधि देखेंगेCranberry Benefits, Uses, Side Effects, Dosage, & Use Method in hindi.

What is Cranberry in Hindi – करोंदा क्या है?

Cranberry जिसे हिन्दी भाषा मे करोंदा और वैज्ञानिक भाषा में वैक्सीनियम मैक्रोकारन (Vaccinium Macrocarpon) कहा जाता है। कोरंदा बहुत ही गुणकारी और पोषक तत्वों से भरपूर एक प्रकार का फल है ।

आपने बहुत सारे त्वचा से संबंधित विज्ञापनों में क्रैनबेरी के गुणों के बारे में सुना होगा। त्वचा के उपचार के साथ-साथ कैंसर, ब्लडप्रेसर और मूत्र पथ संक्रमण जैसे रोगों से रोकथाम में भी ये सहायक है ।

Cranberry (करौंदा) जो कि बैंगनी रंग का छोटे आकार का फल है। यह खाने में थोड़ा खट्टा व मीठा होता है। बाजार में यह ड्रिंक्स, सॉस, ड्राई पाउडर व ड्राई क्रैनबेरी के रूप में उपलब्ध होता है।

Cranberry Nutrition Facts in Hindi – करौंदा पौषक तत्व

100 ग्राम Raw Cranberry (करौंदे) मे निम्न तत्व बताई मात्रा मे होते है।

(g = ग्राम, mg = मिली ग्राम)

पौषक तत्व मात्रा
कैलोरी 46 g
कुल फैट 0.1 g
सोडियम 2 mg
कुल कार्बोहाइड्रेट 12 g
डाइटरी फाइबर 3.6 g
शुगर 4.3 g
प्रोटीन 0.5 g
कैल्सियम 8 mg
आइरन 0.23 mg
पौटेशियम 80 mg

पढ़िये:

Cranberry Uses & Benefits in Hindi – करौंदा के उपयोग व फायदे

क्रैनबेरी बहुत सारे गुणों से भरपूर है। यह विटामिन-सी, विटामिन-ई, व विटामिन-के का अच्छा स्त्रोत है। इसमें फ्लेवोनॉयड, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, ऑर्गेनिक एसिड, पॉलिफेनॉलिक और डायटरी फायबर होते हैं।

इसके अलावा इसमे पौटेशियम, मैग्नीशियम, सोडियम और कैल्शियम जैसे खनिज पदार्थ होते है। इतने सारे पोषक तत्वों की उपस्थिति के कारण, इसे “Superfood” भी कहा जा सकता है।

निम्न Cranberry के प्रमुख फायदे है।

त्वचा को बेहतर रखने के लिए

Cranberry में उपस्थित एन्टी-ऑक्सीडेंट्स त्वचा व बालो की अच्छी सेहत के लिए बहुत लाभदायक है। इसमे उपस्थित घटक व पानी की अधिक मात्रा त्वचा से मुंहाशे व धब्बे हटाकर, त्वचा को ग्लोइंग व जवान रखते है।

प्रतिदिन क्रैनबेरी रस को हल्का-हल्का रुई से चेहरे पर लगाए व थोड़ी देर में इसे धो ले। ऐसा करने से थोड़े दिनों में आपको फ़र्क़ नजर आने लगेगा।

अगर धूप में आपके चेहरे का रंग गहरा हो जाता है, तो क्रैनबेरी के जूस में बेसन मिलाकर चेहरे पर लगाए। यह आपके चेहरे पर चमक लाने मे मदद करेगा।

प्रतिदिन 100 ग्राम इसका सेवन भी करना चाहिये।

Weightloss में सहायक क्रेनबेरी का जूस

क्रेनबेरी का जूस मोटापा घटाने के लिए शरीर को डिटॉक्स करता है। क्रेनबेरी जूस में अम्लीय तत्व पाए जाते है, जो कि शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालते है ।

क्रेनबेरी के जूस से पाचन तंत्र में सुधार होता है, जो कि वजन घटाने के लिए बेहद महत्वपूर्ण है । 

कैंसर के इलाज में सहायक

कैंसर के इलाज के लिए क्रैनबेरी एक महत्वपूर्ण औषधि है। क्रैनबेरी (करौंदा) ट्यूमर के बढ़ने की गति को धीमा करता है।

क्रैनबेरी का उपयोग लिवर कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, स्तन कैंसर, व ओवेरियन कैंसर के उपचार में सहायक है। और कैंसर के चिकित्सक भी करौंदा का उपयोग नियमित रूप से करने के सलाह देते है ।

दांतो की देखभाल में

क्रैनबेरी दांतो व मसूड़ो के लिए भी बहुत लाभदायक है। क्रैनबेरी में मौजूद एन्टी-इंफ्लेमेंट्री गुण दांतो व मसूड़ो में जीवाणुओ को लगने से बचाता है। क्रैनबेरी में प्रोएंथोसायनिडीन (Proanthocyanidins) नामक तत्व पाया जाता है, जो कि दांतो से जीवाणुओं को दूर रखने में सहायक है ।

हृदय संबंधित विकारो को दूर करता है

क्रैनबेरी का रोज़ाना सेवन हृदय संबंधित विकारों को दूर करता है। क्रैनबेरी का जूस पीने से शरीर मे एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है, जो कि शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है ।

क्रैनबेरी में एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व पाए जाते है, जो कि ब्लड प्रेसर को नियंत्रित करते है ।

मूत्र पथ के संक्रमण (Urin Infection) को रोकता है

बहुत सारे चिकित्सक यूरिन इन्फेक्शन से निपटने के लिए क्रेनबेरी (करौंदे) के सेवन की सलाह देते है ।

क्रेनबेरी में प्रोएथोकेनिडिन नामक तत्व पाया जाता है, जो मूत्र मार्ग की दीवारों में उपस्थित बैक्टीरिया को हटाता है।

इसमे फ्लेवोनॉयड (Flavonoid) नामक तत्व भी पाया जाता है, जो बैक्टीरिया को यूरिनल टैक्ट में पैदा होने से रोकता है।

बालों को घना व खुबसूरत रखें

क्रैनबेरी के जूस में अंडे को मिलाकर, बालों में लगाये और 10 मिनट बाद ठंडे पानी से धो ले। आपके बाल घने, चमकदार व बालों का विकास तेज होगा।

पढ़िये:

Cranberry Side Effects in Hindi – करौंदा के दुष्प्रभाव

क्रैनबेरी वैसे तो लाभदायक है और एक औषधि के रूप में काम करती है। लेकिन इसका अत्यंत उपयोग बिना किसी सही खुराक व विशेषज्ञ की सलाह के बिना भारी पड़ सकता है। इसके आलवा एलर्जी या शरीर की अलग प्रतिक्रिया से भी दुष्प्रभाव हो सकते है। लेकिन ऐसा बहुत कम होता है।

क्रैनबेरी से हो सकने वाले दुष्प्रभाव (Side Effects) निम्न है।

  • ज्यादा सेवन पर गुर्दे की पथरी
  • दस्त 
  • कैंसर रोगियों में कैंसर ऑक्सालेट यूरोलिथ्स का खतरा बढ़ जाता है।
  • पेट ख़राब होना
  • उल्टी

Cranberry Use Method in Hindi – करौंदा प्रयोग विधि

  • क्रैनबेरी की प्रतिदिन लगातार ख़ुराक शुरू करने से पहले विशेषज्ञ की सलाह ले। क्योकि अवस्था अनुसार इसकी जरूरत बदलती है।
  • बाजार में क्रैनबेरी ड्राई , क्रैनबेरी जूस व टैबलेट के रूप में उपलब्ध है। जिसे आप मौखिक रूप से आसानी से ले सकते है।
  • आप प्रतिदिन ड्राई क्रैनबेरी या क्रैनबेरी के जूस का सेवन भी कर सकते है।
  • त्वचा के लिए आप क्रैनबेरी जूस में बेसन मिलाकर लेप बनाकर अपने चेहरे पर लगा सकते है।
  • बालो के लिए आप अंडे में क्रैनबेरी जूस को मिलाकर बालों में मालिश कर सकते है।

निष्कर्ष

हमे उम्मीद करते है, कि यह लेख “Cranberry in Hindi | करौंदा के फ़ायदे, नुक्सान, ख़ुराक” आपके लिए उपयोगी होगा।

इसके साथ आपको  Cranberry in Hindi, करौंदा उपयोग, प्रयोग, फ़ायदे, नुक्सान, Side Effects, ख़ुराक, कब ले, कैसे ले, कितना ले की पूरी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है, तो कमेंट कर सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *